बुधवार को करें भगवान गणेश की आराधना, पूजा में जरूर चढ़ाएं ये चार चीजें

गणपति बप्पा की पूजा में कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है.
गणपति बप्पा की पूजा में कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है.

गणपति बप्पा (Ganapati Bappa) सभी देवों में सर्वप्रथम पूजनीय हैं. हर एक पूजा से पहले उनकी पूजा होती है तभी वह पूजा मान्य होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 8:24 AM IST
  • Share this:
हिंदू शास्त्रों में बुधवार (Wednesday) का दिन गणपति बप्पा (Ganapati Bappa) का बताया गया है. इसलिए बुधवार के दिन भगवान गणेश (Lord Ganesha) को खुश करने के लिए उनकी आराधना की जाती है. इस दिन उनकी पूजा करने से जातकों के सारे संकट दूर हो जाते हैं. गणपति बप्पा सभी देवों में सर्वप्रथम पूजनीय हैं. हर एक पूजा से पहले उनकी पूजा होती है तभी वह पूजा मान्य होती है. लेकिन गणपति बप्पा की पूजा में कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है. आइए जानते हैं बुधवार के दिन भगवान गणेश पूजा में किन बातों का रखना चाहिए.

पूजा में गणेश जी को जरूर चढ़ाएं दुर्वा
गणपति बप्पा को दूर्वा अति प्रिय है. बुधवार के दिन गणेश जी की पूजा में उन्हें दूर्वा जरूर चढ़ानी चाहिए. ऐसा करने से गणेश भगवान का आशीर्वाद भक्तों को प्राप्त होता है.

मोदक का लगाएं भोग
गणेश भगवान को मोदक का भोग जरूर लगाना चाहिए. मोदक गणेश भगवान को अति प्रिय है. ऐसे में बुधवार के दिन गणेश भगवान की पूजा में उन्हें मोदक जरूर चढ़ाना चाहिए.



इसे भी पढ़ेंः बुधवार को ऐसे करें श्रीगणेश की पूजा, गणेश चालीसा का पाठ करना न भूलें

भगवान गणेश को लाल फूल चढ़ाएं 
भगवान गणेश को लाल फूल चढ़ाने चाहिए. अगर लाल फूल चढ़ाना संभव नहीं है तो आप कोई और फूल भी चढ़ा सकते हैं. बस इस बात का ध्यान रखें भगवान गणेश की पूजा में तुलसी का इस्तेमाल नहीं किया जाता है.

गणपति को प्रिय है लाल सिंदूर
गणपति बप्पा को लाल सिंदूर बहुत पसंद होता है. भगवान गणेश को स्नान कराने के बाद उन्हें लाल सिंदूर लगाना चाहिए. उसके बाद अपने माथे में भी लाल सिंदूर का तिलक लगाएं. ऐसा आप हर रोज भी कर सकते हैं. भगवान गणेश के आशीर्वाद से आपको हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी.

इस मंत्र का करें जाप
गणेश भगवान आर्थिक क्षेत्र में आने वाली परेशानी और विघ्न से रक्षा करते हैं. गणेश जी को सिंदूर चढ़ाते समय यह मंत्र बोलें- 'सिन्दूरं शोभनं रक्तं सौभाग्यं सुखवर्धनम. शुभदं कामदं चैव सिन्दूरं प्रतिगृह्यताम॥ ऊँ गं गणपतये नम:.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज