• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • WORSHIP SURYA DEV WITH THIS METHOD ON SUNDAY ALL WISH WILL BE FULFILLED PUR

रविवार के दिन इस विधि से करें सूर्य देव की पूजा, पूरी होगी मनोकामना

सूर्य के मंत्रों का जाप श्रद्धापूर्वक करें.

प्रतिदिन सुबह तांबे के लोटे में जल लेकर और उसमें लाल फूल, चावल डालकर प्रसन्न मन से सूर्य मंत्र का जाप करते हुए भगवान सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए.

  • Share this:
    रविवार (Sunday) का दिन सूर्य देव (Surya Dev) की पूजा को समर्पित है. अगर आपके मन में कई सारी इच्छाएं और मनोकामनाएं है तो आप रविवार का व्रत कर सकते हैं. सूर्य देव का व्रत सबसे श्रेष्ठ माना जाता है, क्योंकि यह व्रत सुख और शांति देता है. पौराणिक धार्मिक ग्रंथों में भगवान सूर्य के अर्घ्यदान का विशेष महत्व बताया गया है. प्रतिदिन सुबह तांबे के लोटे में जल लेकर और उसमें लाल फूल, चावल डालकर प्रसन्न मन से सूर्य मंत्र का जाप करते हुए भगवान सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए. इस अर्घ्यदान से भगवान सूर्य प्रसन्न होकर आयु, आरोग्य, धन, धान्य, पुत्र, मित्र, तेज, यश, विद्या, वैभव और सौभाग्य को प्रदान करते हैं.

    सूर्य पूजा में करें इन नियमों का पालन

    - प्रतिदिन सूर्योदय से पहले ही शुद्ध होकर और स्नान कर लेना चाहिए.

    - नहाने के बाद सूर्यनारायण को तीन बार अर्घ्य देकर प्रणाम करें.

    - संध्या के समय फिर से सूर्य को अर्घ्य देकर प्रणाम करें.

    इसे भी पढ़ेंः क्यों भगवान विष्णु को करने पड़े थे ये 8 छल, जानें इसके पीछे की कहानी

    - सूर्य के मंत्रों का जाप श्रद्धापूर्वक करें.

    - आदित्य हृदय का नियमित पाठ करें.

    - स्वास्थ्य लाभ की कामना, नेत्र रोग से बचने और अंधेपन से रक्षा के लिए 'नेत्रोपनिषद्' का प्रतिदिन पाठ करना चाहिए.

    - रविवार को तेल, नमक नहीं खाना चाहिए तथा एक समय ही भोजन करना चाहिए.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
    Published by:Purnima Acharya
    First published: