फिल्में छोड़ सकते हैं लेकिन पगड़ी नहीं छोड़ सकते दिलजीत दोसांझ

अभिनेता दिलजीत दोसांझ

अभिनेता दिलजीत दोसांझ

सिख गायक-अभिनेता दिलजीत दोसांझ को बॉलीवुड में पहचान फिल्म 'उड़ता पंजाब' से मिली थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2018, 1:51 PM IST
  • Share this:

बॉलीवुड में एक मुकाम हासिल कर पंजाबी स्टार दिलजीत दोसांझ अपनी पहचान को सबसे ऊपर मानते हैं. हाल ही में एक इंटरव्यू में दिलजीत ने सिख समाज का प्रतिनिधित्व करने और अपने लुक को लेकर दिल खोलकर बातें कीं. दिलजीत ने बताया कि वह हिंदी सिनेमा में सिख समुदाय का प्रतिनिधित्व करने के लिए सम्मानित महसूस करते हैं. उन्होंने कहा, "असल में बहुत से लोगों ने मुझे बताया है कि मुझे अभिनेता नहीं होना चाहिए. क्योंकि मैं पगड़ी पहनता हूं और अगर मुझे फिल्मों में काम करना है तो मुझे अपनी पगड़ी छोड़नी होगी. उसके बाद मुझे लगा कि मैं फिल्में छोड़ दूंगा लेकिन अपनी पगड़ी नहीं छोड़ सकता.


दिलीज ने बताया कि वो बॉलीवुड में आने से पहले सोचते थे कि पगड़ी वाले सरदार या सिख अभिनेता हिंदी सिनेमा में सफल नहीं हो सकते हैं. लेकिन अब उनके स्टारडम को देखकर यह कहना गलत होगा. बॉलीवुड फिल्मों में उनको सफलता मिली और इसके लिए उनका धर्म कभी आड़े नहीं आया. बता दें कि सिख गायक-अभिनेता दिलजीत दोसांझ को बॉलीवुड में पहचान फिल्म 'उड़ता पंजाब' से मिली थी. इसके बाद 'फिल्लौरी' और 'सूरमा' जैसी फिल्मों में बेहतरीन अभिनय से उन्होंने काफी लो​कप्रियता बटोरी.



फिल्मों के साथ ही दिलजीत अपने पंजाबी सॉन्ग के लिए भी जाने जाते हैं. दिलजीत आईएएनएस से बातचीत के दौरान दिलजीत दोसांझ ने बताया कि एक अभिनेता अपने जाति और धर्म से परे होता है. एक फिल्म निर्माता या निर्देशक को इस बात ​से आश्वस्त होना चाहिए कि किरदार उसपर फिट बैठता है या नहीं. उसके सिख या गैरसिख होने से फर्क नहीं पड़ता. जल्द दिलजीत दोसांझ रैपर बादशाह के साथ करन जौहर के शो 'कॉफी विद करन' में नजर आने वाले हैं.

ये भी पढ़े: BIGG BOSS: घर से बाहर होते ही जसलीन ने अनूप जलोटा से झाड़ा पल्ला

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज