Lockdown 3.0: DM का बड़ा आदेश, नोएडा में बिल्डर के मेंटेनेंस चार्ज बढ़ाने पर लगाई रोक

 डीएम ने मेंटेनेंस चार्ज बढ़ाने पर रोक लगाने का फरमान जारी किया. (सांकेतिक फोटो)

डीएम ने मेंटेनेंस चार्ज बढ़ाने पर रोक लगाने का फरमान जारी किया. (सांकेतिक फोटो)

गौतम बुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar) के जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने नोएडा में बिल्‍डर के मेंटेनेंस चार्ज बढ़ाने पर रोक लगाने का आदेश जारी कर दिया है.

  • Share this:

नोएडा. देशभर में कोरोना महामारी की वजह से लॉकडाउन (Lockdown) चल रहा है. इस समय ना सिर्फ नौकरीपेशा लोग परेशान हैं बल्कि सभी उद्योग धंधे चौपट नजर आ रहे हैं. ऐसे में नोएडा में कुछ बिल्डरों ने मनमानी शुरू कर दी और मेंटेनेंस चार्ज बढ़ा दिया. हालांकि अपार्टमेंट में रह रहे लोगों के विरोध के बाद काफी बिल्डर पीछे हट गए, लेकिन ग्रेटर नोएडा वेस्ट के इरोस संपूर्णम सोसायटी (Eros Sampoornam Society) का बिल्डर अपनी बात पर कायम रहा. यही नहीं,  सोसायटी में रहने वाले लोगों ने बालकनी में काले कपड़े बांधकर अपना गुस्‍सा जाहिर किया, फिर भी बिल्डर ने बात नहीं मानी. लेकिन जब मामला क्षेत्रीय विधायक तक पहुंचा तो उन्‍होंने गौतम बुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar)के जिलाधिकारी सुहास एल वाई को इस बाबत जानकारी दी. इसके बाद डीएम ने मेंटेनेंस चार्ज बढ़ाने पर रोक लगाने का फरमान जारी कर दिया है.

विधायक के फोन के बाद डीएम ने उठाया कदम

जब बिल्‍डर ने बात नहीं मानी तो इरोस संपूर्णम सोसायटी के लोगों ने ग्रेटर नोएडा के जेवर विधानसभा से विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह से शिकायत की. इसके बाद विधायक ने गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एल वाई को सारी स्थिति से अवगत कराया. इसके बाद डीएम ने नोएडा में पहली बार मेंटेनेंस चार्ज बढ़ाने पर सरकारी रोक लगाने का फरमान जारी कर दिया.

डीएम ने दी ये चेतावनी
गौतम बुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar)के जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने एक आदेश जारी करते हुए चेतावनी दी है कि यदि लॉकडाउन के दौरान मेंटेनेंस चार्ज बढ़ाया तो आपदा प्रबंधन कानून के तहत बिल्डर के खिलाफ एफआईआर और गिरफ्तारी भी हो सकती है.



सोसायटी के रेजिडेंट ने कही ये बात

इरोस संपूर्णम सोसायटी (Eros Sampoornam Society) के एक रेजिडेंट ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान बिल्डर ने मेंटेनेंस चार्ज ₹ 1.95 प्रति स्क्वायर फिट से बढ़ाकर ₹ 2.50 प्रति स्क्वायर फिट कर दिया. यही नहीं, लोगों के विरोध के बाद भी बिल्डर नहीं माना तो सभी ने ग्रेटर नोएडा के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर अपनी समस्या बताई.

आपको बता दें कि नोएडा में इस तरह का ये पहला शासनादेश है, जिमसें बिल्डर को मेंटेनेंस चार्ज बढ़ाने से रोका गया है. जबकि विधायक की डीएम से बात करने के बाद 24 घंटे के अंदर शासनादेश आ गया.

ये भी पढ़े

प्रियंका गांधी ने CM योगी को लिखा पत्र, किसान-गरीब की मदद के लिए दिए सुझाव

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज