सूखे की मार : यहां पानी की कमी की वजह से 400 लोगों ने किया पलायन

फाइल फोटो

फाइल फोटो

हर साल सूखे की मार झेलने वाले बुंदेलखंड के इस इलाके के लोगों ने अपना गांव छोड़कर जबलपुर का रूख कर लिया है.

  • Share this:

बुंदेलखंड क्षेत्र में पानी की कमी की वजह से करीब 400 लोगों ने अपना गांव छोड़ दिया है. हर साल सूखे की मार झेलने वाले बुंदेलखंड के इस इलाके के लोगों ने अपना गांव छोड़कर जबलपुर का रूख कर लिया है. मामला मध्य प्रदेश के दमोह जिले का है. यहां पंजहीरी नाम के गांव के करीब 400 लोग गांव को छोड़कर जबलपुर जिले में विस्थापित हो चुके हैं. गांव से पलायन की वजह सूखे की मार है. यहां के लोगों को पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है.

लोगों का कहना है कि पंजहीरी गांव में अप्रैल महीने की शुरुआत से ही सूखे के हालात बनने लगे थे. गांव के आसपास के तमाम जलाशयों में भी पानी का स्तर घटने लगा था. मई आते- आते गांव में पानी का स्तर बेहद कम हो गया और यहां पर लगे तीन ट्यूबवेल भी सूख गए. स्थानीय आंकड़ों के मुताबिक पंजहीरी गांव में केवल तीन हैंडपंप हैं. इन सभी से पानी नहीं आ रहा है और गांव में सूखे के हालात बन गए. जिसके कारण गांव के तमाम लोगों ने अपने घरों के छोड़कर जबलपुर का रुख कर लिया. ग्रामीणों के मुताबिक, गांव में अब सिर्फ वही लोग रह रहे हैं जो कि किसी और जगह पर नहीं जा सकते.

8 किमी दूर मिलता है पानी-



स्थानीय लोगों का कहना है कि गांव के लोगों को पानी के लिए 8 किलोमीटर दूर जाना पड़ता है. जिसकी वजह से यहां जीवन काफी मुश्किल हो गया है. महिलाओं का कहना है कि भीषण गर्मी में इतनी दूर जाकर पानी लाना बेहद मुश्किल है. मटके को चिलचिलाती धूप में गांव तक लेकर आने के अलावा उनके पास कोई और रास्ता नहीं है.
सूखे की चपेट में 100 गांव-

सूखे की यह स्थिति सिर्फ पंजहीरी गांव में ही नहीं बल्कि इस पूरे इलाके में है. दमोह के तेंदूखेड़ा ब्लॉक में कुल 181 गांव हैं. इस ब्लॉक में ही पंजहीरी के अलावा करीब 100 से अधिक गांव पानी की समस्या से जूझ रहे हैं. इस इलाके में लोगों को 2-3 किमी दूर जाकर एक बाल्टी पानी मिल पाता है. जबलपुर की पाटन तहसील के पास स्थित पंजहीरी में मुख्य रूप से दलित और पिछड़ी जातियों के लोग रहते हैं.

ये भी पढ़ें- लड़कियों को नहाते देखने गर्ल्स हॉस्टल के डक्ट में आधी रात को जाकर छिपा युवक, फिर...

ये भी पढ़ें-मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा- सिंधिया पीसीसी चीफ के लिए डिज़रविंग केंडिडेट, लेकिन...

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज