Girls4Tech कार्यक्रम: जम्मू में 10,000 छात्राओं को मिलेगा इस शिक्षा कार्यक्रम का लाभ 

विज्ञान, प्रौद्योगिकी, अभियांत्रिकी एवं गणित के क्षेत्र में भविष्य बनाने का रास्ता .(File Photo)
विज्ञान, प्रौद्योगिकी, अभियांत्रिकी एवं गणित के क्षेत्र में भविष्य बनाने का रास्ता .(File Photo)

विद्यालयी शिक्षा निदेशालय, जम्मू (डीएसईजे) अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन के साथ मिलकर जम्मू, कठुआ और सांबा जिलों में यह कार्यक्रम लागू करने जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2020, 2:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू क्षेत्र के तीन जिलों के लगभग 100 सरकारी स्कूलों में लागू किए जा रहे 'गर्ल्स फोर टेक' कार्यक्रम के माध्यम से करीब 10,000 लड़कियां लाभान्वित होंगी. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी.

जम्मू, कठुआ और सांबा जिलों में यह कार्यक्रम लागू 
उन्होंने कहा कि विद्यालयी शिक्षा निदेशालय, जम्मू (डीएसईजे) अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन के साथ मिलकर जम्मू, कठुआ और सांबा जिलों में यह कार्यक्रम लागू करने जा रहा है.

विज्ञान, प्रौद्योगिकी, अभियांत्रिकी एवं गणित के क्षेत्र में भविष्य बनाने का रास्ता
प्रवक्ता ने कहा कि इस शिक्षा कार्यक्रम का उद्देश्य प्रौद्योगिकी के 'समस्या समाधान' क्षेत्र के लिए छात्रों को तैयार करने के साथ ही उनके लिए विज्ञान, प्रौद्योगिकी, अभियांत्रिकी एवं गणित के क्षेत्र में भविष्य बनाने का रास्ता उपलब्ध कराना है.



21 सितंबर से बड़ी कक्षाओं के लिए खुले स्कूल
इसके अलावा जम्मू कश्मीर में स्कूलों को फिर से खोले जाने की बात करें तो  कोविड-19 महामारी (COVID-19) के चलते जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के स्कूल करीब छह महीने से अधिक समय तक बंद रहने के बाद 21 सितंबर से बड़ी कक्षाओं (Higher Classes) के छात्रों (Students) के लिए दोबारा खोल दिए गए.

ये भी पढ़ें-
DU Admission 2020:चौथी कटऑफ से दाखिला लेने का आज आखिरी दिन,एडमिशन 62000 के पार
BSSC Results: भर्ती परीक्षा का रिजल्ट, देखें सफल अभ्यर्थियों की पूरी लिस्ट

कोविड-19 बचाव संबंधी सभी सावधानियां बरतनी होंगी
केंद्र शासित प्रदेश (Union Territory) के प्रशासन ने यह जानकारी दी. प्रधान सचिव (विद्यालयी शिक्षा एवं कौशल विकास) असगर हसन समून ने कहा कि स्कूलों (Schools) को दोबारा खोले जाने का आशय नियमित कक्षाएं (Regular Classes) शुरू करने से नहीं है. नियमित कक्षाओं (Regular Classes) के लिए स्कूल नहीं खोले हैं. छात्रों की विषय संबंधी शंकाओं को दूर करने के लिए आंशिक तौर पर (partially) स्कूल दोबारा खोले गए हैं. स्कूल में उपस्थित रहने के दौरान छात्रों और शिक्षकों को कोविड-19 (COVID-19) बचाव संबंधी सभी सावधानियां बरतनी होंगी.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज