Home /News /education /

amendment in school books of karnataka congress leader b ramnath rai called it political motive

कर्नाटक के स्कूली सिलेबस में किया गया ये बदलाव, जानें क्या है इसके पीछे की वजह

Amendment in Karnataka school books: कांग्रेस नेता बी रामनाथ राय ने आरोप लगाया कि पाठ्य पुस्तकों के संशोधन के नाम पर गंदी राजनीति की जा रही है.

Amendment in Karnataka school books: कांग्रेस नेता बी रामनाथ राय ने आरोप लगाया कि पाठ्य पुस्तकों के संशोधन के नाम पर गंदी राजनीति की जा रही है.

Amendment in Karnataka school books: कांग्रेस नेता बी रामनाथ राय ने आरोप लगाया कि पाठ्य पुस्तकों के संशोधन के नाम पर गंदी राजनीति की जा रही है. नई पाठ्य पुस्तकों से श्री नारायण गुरु, बसवन्ना, रानी अब्बक्का और कय्यार किन्हना राय जैसे दूरदर्शी लोगों पर केंद्रित अध्याय गायब हैं.

अधिक पढ़ें ...

    Amendment in Karnataka school books: कर्नाटक के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता बी रामनाथ राय ने शनिवार को कहा कि राजनीतिक मकसद से राज्य की स्कूली पाठ्य पुस्तकों में संशोधन करने का फैसला किया गया. राय ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि संशोधित पाठ्य पुस्तकों के माध्यम से ‘बच्चों के मन में जहर बोने’ के लिए सरकार राज्य शिक्षा विभाग का दुरुपयोग कर रही है.

    कांग्रेस नेता बी रामनाथ राय ने आरोप लगाया कि पाठ्य पुस्तकों के संशोधन के नाम पर गंदी राजनीति की जा रही है. नई पाठ्य पुस्तकों से श्री नारायण गुरु, बसवन्ना, रानी अब्बक्का और कय्यार किन्हना राय जैसे दूरदर्शी लोगों पर केंद्रित अध्याय गायब हैं.

    राय ने आरोप लगाया कि समीक्षा समिति का प्रयास भाजपा द्वारा निर्धारित राजनीति से पाठ्य पुस्तकों के माध्यम से बच्चों से परिचित कराना है.
    कांग्रेस नेता ने विभिन्न स्कूलों में शिक्षकों की कमी के लिए भी सरकार को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि कई स्कूलों में पाठ्यपुस्तकें नहीं पहुंची हैं, लेकिन वहां कक्षाएं शुरू कर दी गई हैं.

    उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार छात्रों को ड्रेस स्कूल बैग और साइकिल मुहैया कराने में विफल रही है. राय ने कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस सरकार थी, तब सर्व शिक्षा अभियान के तहत दक्षिण कन्नड़ जिले के लिए 80 करोड़ रुपये मंजूर किए थे.

    राय ने कहा कि राज्य में कांग्रेस ने बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन योजना शुरू करने के अलावा ‘नाली काली’ और ‘विद्या सिरी’ जैसे कार्यक्रम भी शुरू किए. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार को बच्चों की शिक्षा की परवाह नहीं है, बल्कि उसकी दिलचस्पी केवल ‘कमीशन’ परियोजनाओं में है. (भाषा के इनपुट के साथ)

    ये भी पढ़ें-
    CLAT Counselling 2022: CLAT काउंसलिंग 2022 के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू
    NEET SS Counselling 2021:  NEET SS काउंसलिंग 2021 के स्पेशल मॉप-अप राउंड का फाइनल रिजल्ट जारी

    Tags: Education news, Karnataka News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर