Home /News /education /

Delhi में ढाई लाख छात्रों ने प्राईवेट स्‍कूल छोड़ सरकारी स्‍कूलों में ल‍िया दाख‍िला-अरव‍िंद केजरीवाल

Delhi में ढाई लाख छात्रों ने प्राईवेट स्‍कूल छोड़ सरकारी स्‍कूलों में ल‍िया दाख‍िला-अरव‍िंद केजरीवाल

सीएम अरव‍िंद केजरीवाल ने कहा क‍ि सरकारी स्‍कूलों बहुत शानदार हो गए हैं.

सीएम अरव‍िंद केजरीवाल ने कहा क‍ि सरकारी स्‍कूलों बहुत शानदार हो गए हैं.

Delhi Government: सरकारी स्‍कूलों से आज 22 बच्‍चे ऐसे आए हैं जो 90 पर्सेंट नंबर लेकर आए हैं. सरकारी स्‍कूलों में बच्‍चों को अच्‍छी श‍िक्षा म‍िल रही है. सरकारी स्‍कूलों से ढाई लाख बच्‍चे प्राईवेट स्‍कूल छोड़कर आए हैं. बारहवीं के बाद इंजीन‍ियर, डॉक्‍टर, रेलवे कोच‍िंग आद‍ि करनी है, कोच‍िंग में खर्च बहुत होता है. लेक‍िन इस कोच‍िंग का सारा पैसा सरकार देगी.

अधिक पढ़ें ...

    नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा क‍ि भगवान महर्ष‍ि वाल्‍मी‍क‍ि प्रकटोत्‍सव को हर साल दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) जोर शोर से ऐसे ही मनाएगी. द‍िल्‍ली सरकार की ओर से सार्वजन‍िक तौर पर इस तरह का बड़ा कार्यक्रम पहली बार मनाया है. सरकार आगे से हर साल इस प्रकटोत्‍सव को धूमधाम से मनाया करेगा.

    सीएम केजरीवाल ने कहा क‍ि महर्ष‍ि वाल्‍मीक‍ी ऐसे महान कव‍ि हैं ज‍िन्‍होंने भगवान श्रीराम के जीवन पर आधार‍ित महाकाव्‍य की रचना की. अगर महर्षि वाल्‍मी‍क‍ि रामायण की रचना नहीं करते तो भगवान श्रीराम के बारे में लोगों को ज्ञान नहीं म‍िलता. ब्राहृमांड में संस्‍कृत का पहला श्‍लोक महर्ष‍ि वाल्‍मीकि ने ल‍िखा. पूरी दुन‍िया और इंसान‍ियत को महर्षि वाल्‍मीकि ने भगवान श्रीराम के बारे में बताया.

    ये भी पढ़ें: छठ पर्व को लेकर DDMA की बैठक 27 अक्टूबर को, पूजा की अनुमति को लेकर होगा पुनर्विचार

    सीएम अरव‍िंद केजरीवाल ने कहा क‍ि सरकारी स्‍कूलों बहुत शानदार हो गए हैं. अब बच्‍चे 90 पर्सेंट अंक लेकर आ रहे हैं. सरकारी स्‍कूलों से आज 22 बच्‍चे ऐसे आए हैं जो 90 पर्सेंट नंबर लेकर आए हैं. सरकारी स्‍कूलों में बच्‍चों को अच्‍छी श‍िक्षा म‍िल रही है. सरकारी स्‍कूलों से ढाई लाख बच्‍चे प्राईवेट स्‍कूल छोड़कर आए हैं.

    उन्‍होंने कहा क‍ि 12वीं के बाद इंजीन‍ियर, डॉक्‍टर, रेलवे कोच‍िंग आद‍ि करनी है, कोच‍िंग में खर्च बहुत होता है. लेक‍िन इस कोच‍िंग का सारा पैसा सरकार देगी. इंस्‍टीट्यूट में एडम‍िशन करवा दीज‍िए, सरकार फीस देगी. कोई बच्‍चा आईएएस, आईपीएस जो भी बनना चाहता है, उसकी कोच‍िंग का पैसा सरकार देगी. हर कोच‍िंग में 4-4 लाख रुपए की कोच‍िंग फीस देनी पड़ती है.

    अगर कॉलेज में बच्‍चा जाता है तो उसको दस लाख रुपए का लोन सरकार देती है. वापस नहीं देता है तो उसको पैसा सरकार भरेगी. वहीं अमेर‍िका या इंग्‍लैंड जाकर बाबा साहेब अंबेडकर की तरह डॉक्‍टेरेट, एमटेक, पोस्‍ट ग्रेजुएट करना चाहते हैं या फि‍र दुन‍िया की बेस्‍ट यून‍िवर्सिटी से करना चाहते हैं, इसकी पूरी व्‍यवस्‍था द‍िल्‍ली सरकार करेगी. उन्‍होंने कहा कि बच्‍चों का अच्‍छी श‍िक्षा दे दीज‍िए, भारत अपने आप महान हो जाएगा. यही सबसे बड़ी देशभक्‍ति होगी.

    बाबा साहेब और महर्षि वाल्‍मीकि ने कहा था क‍ि तरक्‍की का रास्‍ता केवल और केवल श‍िक्षा और पढ़ाई से न‍िकलेगा. हर दल‍ित बच्‍चे को अच्‍छी से अच्‍छी श‍िक्षा म‍िलनी चाह‍िए. 70 साल में यह पूरा नहीं हुआ. मैंने कसम खाई है बाबा साहेब का सपना मैं पूरा करूंगा.

    सीएम केजरीवाल ने सभी को त्‍योहारो की बधाई दी. उन्‍होंने कहा क‍ि कोरोना पर काबू पाया है, त्‍योहार मनाना है लेक‍िन सावधानी से मनाना है. कार्यक्रम में द‍िल्‍ली के ड‍िप्‍टी सीएम मनीष स‍िसोद‍िया, समाज कल्‍याण व एससी/एसटी कल्‍याण मंत्री राजेद्र पाल गौतम, व‍िधानसभा उपाध्‍यक्षा राखी ब‍िडलान के अलावा अन्‍य व‍िधायक और संत आद‍ि प्रमुख रूप से उपस्‍थ‍ित रहे.

    Tags: Arvind kejriwal, Delhi Education Minister, Delhi Government, Education news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर