असम मंत्रिमंडल ने 10वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षा नहीं कराने का सुझाव दिया

Assam Board Exam 2021: असम बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं पर अपडेट.

बोर्ड ने बोर्ड परीक्षाओं को चार मई को अधिसूचना जारी कर स्थगित करते हुए कोविड-19 की मौजूदा स्थिति को इसकी वजह बताया था.

  • Share this:
    गुवाहाटी. असम मंत्रिमंडल ने राज्य में कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाएं आयोजित नहीं करने का सुझाव दिया है. इस संबंध में अंतिम निर्णय, शिक्षा विभाग और अन्य हितधारकों के बीच शुक्रवार को होने वाली बैठक में लिया जाएगा.

    परीक्षाएं आयोजित करवाना संभव नहीं 
    मुख्यमंत्री हेमंत विश्व सरमा की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद जल संसाधन मंत्री पीजूष हजारिका ने संवाददाताओं से कहा, “मंत्रिमंडल ने सुझाव दिया कि राज्य में संक्रमण की दर को देखते हुए ‘हाई स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट’, उच्च मदरसा और उच्चतर माध्यमिक की परीक्षाएं आयोजित करवाना संभव नहीं होगा.”

    सरमा ने गत सप्ताह कहा था कि बोर्ड परीक्षाओं की तारीख की घोषणा जल्दी ही की जाएगी लेकिन परीक्षा तभी होगी जब संक्रमण की दर दो प्रतिशत से कम होगी. असम में मंगलवार को संक्रमण की दर 2.57 प्रतिशत थी.

    राज्य परीक्षा बोर्डों को निर्देश जारी करने का अनुरोध
    इससे पहले उच्चतम न्यायालय में एक याचिका दायर कर 10वीं एवं 12 वीं कक्षाओं की परीक्षाएं कोविड-19 महामारी के चलते रद्द करने के लिए असम सरकार और राज्य परीक्षा बोर्डों को निर्देश जारी करने का अनुरोध किया गया था.

    याचिका के जरिए सीबीएसई और सीआईएससीई की 12 वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने के मुद्दे पर लंबित एक जनहित याचिका में पक्षकारों के रूप में हस्तक्षेप कराने का अनुरोध किया गया था. याचिका असम राज्य बोर्ड के कुछ छात्रों ने दायर की थी और उन्होंने महामारी की मौजूदा स्थिति के आधार पर समान राहत प्रदान करने का अनुरोध किया था.

    ये भी पढ़ें-
    UP TET पर सीएम योगी का बड़ा आदेश, वैलिडिटी 5 साल के बजाय आजीवन
    Nail Art में भी हैं करियर की संभावनाएं, जानें कोर्स और जॉब के बारे में

    न्यायमूर्ति ए के एम खानविलकर की अध्यक्षता वाली पीठ ने तीन जून को इस घटनाक्रम पर संतोष व्यक्त किया था कि केंद्र सरकार ने 12 वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी हैं.

    असम के चार छात्रों ने अधिवक्ता अभिषेक चौधरी और मंजू जेटली के मार्फत शीर्ष न्यायलय में हस्तक्षेप याचिका दायर की थी. कहा था कि राज्य सरकार अब कह रही है कि वह जुलाई और अगस्त में शारीरिक उपस्थिति के साथ ये परीक्षाएं आयोजित करा सकती है.

    याचिका में कहा गया था कि हालांकि सरकार ने शुरूआत में कोविड-19 महामारी की स्थिति के चलते बोर्ड परीक्षाएं टाल दी थी. गौरतलब है कि असम बोर्ड ने बोर्ड परीक्षाओं को चार मई को अधिसूचना जारी कर स्थगित करते हुए कोविड-19 की मौजूदा स्थिति को इसकी वजह बताया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.