होम /न्यूज /education /

BBA vs BBS vs BBM : बीबीए, बीबीएम और बीबीएस में से कौन सा कोर्स करें सेलेक्ट, जानें क्या है अंतर

BBA vs BBS vs BBM : बीबीए, बीबीएम और बीबीएस में से कौन सा कोर्स करें सेलेक्ट, जानें क्या है अंतर

BBA vs BBS vs BBM : तीनों डिग्री कोर्स हैं. 12वीं के बाद किए जा सकते हैं.

BBA vs BBS vs BBM : तीनों डिग्री कोर्स हैं. 12वीं के बाद किए जा सकते हैं.

BBA vs BBS vs BBM : कई स्‍टूडेंट्स हैं जो 12वीं के बाद मैनेजमेंट की पढ़ाई करना चाहते हैं. उनके सामने तीन डिग्री कोर्स हैं- बीबीए, बीबीएम, और बीबीएस. सही कोर्स का सेलेक्शन उनके करियर की आगे की राह आसान बना सकता है. आइए जानते हैं इन तीनों कोर्स के बीच का अंतर और कौन सा है बेहतर.

अधिक पढ़ें ...

    हाइलाइट्स

    मैनेजमेंट स्‍टूडेंट्स कर करते हैं बीबीए, बीबीएम और बीबीएस का चुनाव.
    ये तीनों ही हैं डिग्री कोर्सेस.
    बीबीए, बीबीएम और बीबीएस के बाद कर सकते हैं एमबीए.

    BBA vs BBS vs BBM : सीबीएसई सहित सभी राज्य शिक्षा बोर्ड के 12 के रिजल्ट जारी हो चुके हैं. अब इन छात्रों के सामने हायर एजुकेशन के लिए सही कोर्स सेलेक्ट करके एडमिशन लेने की चुनौती है. 12वीं के बाद अधिकतर स्‍टूडेंट्स सब्‍जेक्‍ट्स और कोर्स को लेकर कन्‍फ्यूज रहते हैं. कौन सा सब्‍जेक्‍ट करियर में सफलता दिला सकता है और कौन सा नहीं ये सवाल हर स्‍टूडेंट को परेशान कर रहा है. ऐसे ही कई छात्र हैं जो 12वीं के बाद ही मैनेमेंट की पढ़ाई करना चाहते हैं. ऐसे में उनके सामने तीन कोर्स हैं-बीबीए, बीबीएम और बीबीएस. उन्हें इसमें से किसी एक का चयन करना है.

    ये तीनों कोर्स लगभग एक जैसे ही हैं. बस अलग-अलग यूनिवसिर्टीज में इन्‍हें अलग-अलग नाम से जाना जाता है. दिल्‍ली यूनिवर्सिटी में इसे बैचलर इन बिजनेस स्‍टडीज (बीबीएस), गुरुगोविंद सिंह इंद्रप्रस्‍थ यूनिवर्सिटी में बैचलर इन बिजनेस एडमिनिस्‍ट्रेशन (बीबीए), जबकि अन्‍य यूनिवर्सिटीज में बैचलर इन बिजनेस मैनेजमेंट (बीबीएम) के नाम से जाना जाता है.

    इन तीनों कोर्स में पढ़ाए जाने वाले सब्‍जेक्‍ट और कोर्स एक जैसे होते हैं. इनमें से किसी भी सब्‍जेक्‍ट का चयन तीन साल की डिग्री हासिल की जा सकती है. इसके बाद एमबीए के लिए अप्‍लाई किया जा सकता है.

    ये भी पढ़ें- PDIL में इन पदों पर बिना परीक्षा पा सकते हैं नौकरी, आवेदन प्रक्रिया शुरू

    बीबीए और बीबीएम में क्‍या है अंतर
    मैनेजमेंट स्‍टूडेंट्स का झुकाव बीबीए और बीबीएम इन दो कोर्स की ओर अधिक होता है. बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्‍ट्रेशन जिसे बीबीए के रूप में जाना जाता है और बैचलर ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट जिसे बीबीएम कहा जाता है दोनों ही डिग्री कोर्सेस हैं. 12वीं के बाद इसमें एडमिशन लिया जा सकता है.
    – बीबीए में फाइनेंस, मार्केटिंग, मैनेजमेंट और ह्यूमन रिसोर्स जैसे सब्‍जेक्‍ट डिजाइन किए गए हैं. इसमें स्‍टूडेंट्स को एकेडमिक और प्रेक्टिकल नॉलेज भी दी जाती है.
    – बीबीएम तीन साल का डिग्री कोर्स है. इसमें अलग-अलग क्षेत्रों में स्‍पेशिलाइजेशन किया जा सकता है. स्‍टूडेंट्स को कोर्स के माध्‍यम से मैनेजमेंट और डिसीजन मैकिंग जैसे स्किल्‍स सिखाई जाती हैं.

    ये भी पढ़ें…

    CBSE में बिना परीक्षा ऑफिसर बनने का सुनहरा मौका, बस करना होगा ये काम
    DDA में इन पदों पर अप्लाई करने की कल है आखिरी डेट, जल्द करें आवेदन

    Tags: Education, Jobs

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर