अपना शहर चुनें

States

Bihar School Exam 2021: बिहार में इस बार बोर्ड कराएगा 9वीं की परीक्षाएं, जानें डिटेल

सभी बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए 6-6 फीट की दूरी पर बैठना होगा.
सभी बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए 6-6 फीट की दूरी पर बैठना होगा.

बिहार में इस बार कक्षा 9वीं की परीक्षाएं बोर्ड परीक्षाओं की तर्ज पर होंगी. बोर्ड ने 9वीं की परीक्षाओं का शेड्यूल भी जारी कर दिया है. परीक्षाएं 26 फरवरी 2021 से शुरू होंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 12:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बिहार के सरकारी और निजी स्कूलों में 9वीं की परीक्षाएं 26 फरवरी 2021 से शुरू हो रही हैं. इस बार 9वीं की परीक्षाएं 10वीं बोर्ड परीक्षा की तरह और  बिहार बोर्ड को ओर से कराई जाएंगी. बोर्ड ने परीक्षा शेड्यूल भी जारी कर दिया है. 9वीं कक्षा के विद्यार्थियों को 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं के दौरान परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ें और वह बोर्ड परीक्षा से परिचित भी हो सकें, इसलिए बोर्ड की ओर से इस बार 9वीं की परीक्षाओं को 10वीं की परीक्षाओं की तर्ज पर कराया जाएगा.

बोर्ड करेगा परीक्षा की निगरानी
विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 9वीं कक्षा के विद्यार्थी परीक्षाएं अपने संबंधित स्कूलों में ही देंगे. परीक्षा की निगरानी बोर्ड की ओर से की जाएगी. परीक्षा 26 फरवरी 2021 से शुरू होकर 3 मार्च 2021 तक चलेंगी.

दी जाएगी ओएमआर शीट
पेपर को बोर्ड की ओर से तैयार कराया गया है. परीक्षार्थियों को प्रश्न पत्र के साथ ओएमआर शीट भी दी जाएगी. स्कूल स्तर पर परीक्षा सामग्री मुहैया कराने की जिम्मेदारी जिला शिक्षा अधिकारी को दी गई है.



यह भी पढ़ें- 
बिहार मैट्रिक परीक्षा: समय रहते नहीं खुला बैंक का लॉकर, तीन सेंटर्स की परीक्षा रद्द
JEE Main Feb Exam 2021: जेईई मेन परीक्षा का पहला चरण 23 फरवरी से शुरू, अभ्यर्थी जानें ये नियम

अन्य कक्षाओं की परीक्षा इस बार नहीं
बिहार में 10वीं और 9वीं की परीक्षाएं स्कूलों में होंगी. अन्य कक्षाओं के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही अलगी कक्षा में दाखिला दिया जाएगा.

1 मार्च से खुल रहें पांचवी तक के स्कूल
बिहार सरकार ने 1 मार्च से कक्षा 1 से 5वीं तक के स्कूलों को खोलने का आदेश पहले ही दे दिया है. सरकार ने इस शर्त के साथ स्कूल खोलने की इजाजत दी है कि कोरोना गाइडलाइन्स (Corona Guideline) का पालन किया जाएगा और 50 फीसदी बच्चे ही क्लास रूम में मौजूद रहेंगे.

मुख्य सचिव दीपक कुमार ने निर्देश दिए हैं कि राज्य के सभी स्कूलों में कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए 50 प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति ही अनिवार्य होगी, जबकि शत प्रतिशत शिक्षकों को स्कूल आना अनिवार्य होगा.

सभी स्कूलों को पूरी तरह से सैनिटाइज कराने के बाद ही कक्षाएं संचालित करने के निर्देश दिए हैं. साथ ही सभी बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए 6-6 फीट की दूरी पर बैठना होगा.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज