अपना शहर चुनें

States

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय परिसर में लगाए गए 100 साल के इतिहास के दस्तावेज

अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी (फाइल फोटो)
अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी (फाइल फोटो)

टाइम कैप्सूल में संरक्षित किए गए सभी ऐतिहासिक दस्तावेजों को विद्वानों के साथ साझा किया जाएगा और उन्हें डिजिटल स्वरूप देकर संरक्षित भी किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2021, 8:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के 100 साल के इतिहास के दस्तावेज वाले एक टाइम कैप्सूल (काल पात्र) को मंगलवार को विश्वविद्यालय परिसर में विक्टोरिया गेट के सामने जमीन में गाड़ा गया है.

एएमयू के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने 72वें गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित डिजिटल समारोह को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि देश के इस बेहतरीन संस्थान के 100 साल के इतिहास को टाइम कैप्सूल में संजोया जाना भावी पीढ़ियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण और लाभदायक है.

एएमयू के सूत्रों ने बताया कि विश्वविद्यालय परिसर के विक्टोरिया गेट के सामने जमीन में गाड़े गए टाइम कैप्सूल में विश्वविद्यालय के पिछले 100 साल के इतिहास को संजोए सभी ऐतिहासिक दस्तावेज संरक्षित किए गए हैं.



उन्होंने बताया कि इन ऐतिहासिक दस्तावेजों को अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी और सामग्री के मदद से संरक्षित किया गया है ताकि उन्हें लंबे समय तक संरक्षित किया जा सके और आने वाली पीढ़ियों को इसका फायदा मिल सके.
टाइम कैप्सूल में रखे गए दस्तावेजों में विश्वविद्यालय में अभी तक हुए सभी दीक्षांत समारोह का संक्षिप्त विवरण, वर्ष 1920 के एएमयू एक्ट की प्रति, सर सैयद किताब और प्रख्यात इतिहासकार प्रोफेसर खालिद अहमद निजामी की एल्बम शामिल है.

एएमयू के प्रवक्ता राहत अबरार ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने वर्ष 1877 में मुस्लिम एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज की स्थापना के वक्त परिसर में गाड़े गए असली टाइम कैप्सूल को बाहर निकलवाने का फैसला किया है. इसके लिए एक समिति गठित की गई है, जो इस प्रक्रिया की निगरानी करेगी.

ये भी पढ़ें
Sarkari Naukri: निकली हैं बंपर सरकारी नौकरियां, 50 हजार से दो लाख तक​ सैलेरी
SSC CGL Application: CAG, IB, CBI और अन्य विभागों में 6506 पदों के लिए जल्द करें आवेदन, 31 जनवरी है लास्ट डेट

उन्होंने बताया कि उस वक्त टाइम कैप्सूल में संरक्षित किए गए सभी ऐतिहासिक दस्तावेजों को विद्वानों के साथ साझा किया जाएगा और उन्हें डिजिटल स्वरूप देकर संरक्षित भी किया जाएगा. (भाषा के इनपुट के साथ)

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज