CBSE board exams: सरकार के फैसले पर छात्रों-पैरेंट्स ने दी कुछ ऐसी प्रतिक्रियाएं

सीबीएसई बोर्ड की 10वीं की परीक्षाएं रद्द होने पर पूरे देश से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

सीबीएसई बोर्ड की 10वीं की परीक्षाएं रद्द होने पर पूरे देश से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

CBSE Board Exams 2021: पूरे देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर सीबीएसई बोर्ड (cbse board) ने 10वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. 12वीं की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है. सरकार के फैसला का छात्रों और अभिभावकों ने स्वागत किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 14, 2021, 4:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board Exams 2021) ने 10वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. 12वीं की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है. शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट पर इसकी जानकारी दी. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि 4 मई 2021 से 14 जून 2021 तक आयोजित होने वाली 10वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं. 10वीं कक्षा के नतीजे बोर्ड द्वारा तैयार किए जाएंगे. 10वीं का रिजल्ट ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया (इंटरनल असेसमेंट) के आधार पर तैयार किए जाएंगे. 10वीं की परीक्षाएं रद्द होने पर पूरे देश से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

आगरा में अभिभावकों और छात्रों ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "सरकार की तरफ से यह अच्छा कदम है क्योंकि जो भी लोग एग्जाम देने जा रहे हैं, उनकी संख्या बहुत ज्यादा है. इतनी ज्यादा भीड़ अभी हम अफोर्ड नहीं कर सकते हैं. कोरोना अपने पीक पर है तो ये एक अच्छा निर्णय है."

लखनऊ में छात्रों ने सरकार के निर्णय पर कहा, "हमें तो तैयारी के लिए काफी वक्त मिल गया है क्योंकि सरकार ने परीक्षा स्थगित कर दी है. कोविड के मामलों से हमारा बचाव भी हो सकेगा. हम चाहेंगे कि अगर आगे परीक्षाएं होती हैं तो वो होम बोर्ड के रूप में हो. जैसे कि हमारे स्कूलों में ही सेंटर आएं और वहीं पर जाकर हम लोग एग्जाम दें."

नोएडा में अभिभावकों ने कहा, "सरकार ने जो फैसला लिया है, वो ठिक है क्योंकि जान है तो जहान है. ये बहुत भयंकर बीमारी है. बच्चे नादानी में एकदूसरे से दूरी बनाये नहीं रख सकते हैं. ऐसे में बच्चों के भविष्य को देखते हुए ये फैसला बिल्कुल सही लिया है."
कानपुर के छात्रों ने कहा, "कोरोना बहुत ज्यादा फैल रहा है. सरकार ने खतरे को ध्यान में रखते हुए सही फैसला लिया है. हालांकि, ऑफलाइन का ऑप्शन था. तैयारी पूरी है. अगर दोबारा मौका मिला तो परीक्षा जरूर देंगे. हमारी तैयारी पूरी थी."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज