News18- Byju's Young Genius: 8 साल में थामी राइफल, 2 साल में ही बने सबसे कम उम्र के शूटिंग चैंपियन

10 साल के शूटर अभिनव बने सबसे कम उम्र के चैंपियन (फोटो साभार-News18)

News18- Byju's Young Genius:वर्ष 2019 में अभिनव साव ने जब खेलो इंडिया यूथ गेम्स में गोल्‍ड मेडल जीता था तब उनकी उम्र मजब 10 साल थी.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. सफलता उम्र की मोहताज नहीं होती. कुछ अद्भुत और गजब की प्रतिभा के धनी बच्‍चे इस बात को साबित भी कर चुके हैं. 12 साल के बच्‍चे ने ऐसा की कारनामा कर दिखाया है. दरअसल, युवा शूटर अभिनव साव खेलो इंडिया यूथ गेम्स में सबसे कम उम्र के गोल्ड मेडलिस्ट बने. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी 27 मई 2019 को 'मन की बात' कार्यक्रम में अभिनव की उपलब्धि को सराहा था. वर्ष 2019 में ही अभिनव ने दिल्‍ली में आयोजित XII SSS सेठ मेमोरियल मास्टर्स चैम्पियनशिप, 2019 में रजत पदक जीता था. News18 Byju's Young Genius में अभिनव साव को सम्‍मानित किया गया.

    News18 Byju's Young Genius शो में अभिनव के माता-पिता भी शामिल हुए. अभिनव ने बचपन में ही खेल के प्रति अपने परिवार के संघर्ष और अपने पिता के सपने को देखा. अभिनव के पिता रूपेश भी एक शूटर हैं. उन्‍होंने देश के एकमात्र ओलंपिक पदक विजेता शूटर अभिनव बिंद्रा के नाम पर अपने बेटे का नाम अभिनव रखा था. वर्ष 2019 में अभिनव साव ने जब खेलो इंडिया यूथ गेम्स में गोल्‍ड मेडल जीता था तब उनकी उम्र मजब 10 साल थी.

    गोल्ड मेडलिस्ट अभिनव साव ने कहा, 'जब मैं आठ साल का था, तब मैंने राइफल शूटिंग खेल में इंट्री ली और अपने पिता के अधीन अभ्‍यास शुरू किया. मैंने शूटिंग के सबसे महत्‍वपूर्ण हिस्‍से पर ध्‍यान दिया और मैं निरंतर योगा का अभ्‍यास करता हूं. ताकि मेरा दिमाग शांत रहे. मेरा लक्ष्य ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करना और स्वर्ण पदक जीतना है.

    बाईजूस यंग जीनियस, नेटवर्क 18 (Network 18) की नई पहल जिसमें दर्शकों के सामने देशभर के हुनरमंद बच्चों को लाया जा रहा है. 30 जनवरी को प्रसारित हुए एपिसोड में दर्शक 5वीं क्लास में पढ़ने वाले कोडिंग मास्टर अनुब्रत सरकार से रूबरू हो चुके हैं. इससे पहले 23 जनवरी को प्रसारित हुए एपिसोड में दर्शकों ने नन्हीं पेलियेंटोलॉजिस्ट अश्विता बीजू और एथलीट पूजा बिश्नोई को देखा था. वहीं, शुरुआती एपिसोड में पियानो मास्टर लिडियन नादस्वरम और ह्यूमन एटलस कही जाने वाली मेघाली मालविका (Meghali Malabika) से रूबरू हो चुके हैं.