• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • CBSE Board12th Result: कल से खुल रहा पोर्टल, स्‍कूलों को 11वीं और 12वीं के बच्‍चों के मार्क्‍स मॉडरेट करने के निर्देश

CBSE Board12th Result: कल से खुल रहा पोर्टल, स्‍कूलों को 11वीं और 12वीं के बच्‍चों के मार्क्‍स मॉडरेट करने के निर्देश

सीबीएसई 12वीं बोर्ड के परिणाम 2021 31 जुलाई तक जारी किए जाने हैं.

सीबीएसई 12वीं बोर्ड के परिणाम 2021 31 जुलाई तक जारी किए जाने हैं.

CBSE Board 12th Result: सीबीएसई की ओर से 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम तैयार करने के लिए शुक्रवार की दोपहर से 22 जुलाई की रात तक मॉडरेशन पोर्टल को खोला जा रहा है. साथ ही सभी स्‍कूलों को पोर्टल पर छात्रों के मार्क्‍स के मॉडरेशन का काम पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड 31 जुलाई 2021 तक परीक्षा परिणाम घोषित करने की तैयारी कर चुका है. इसी क्रम में अब कल यानि 16 जुलाई की दोपहर से 11वीं और 12वीं कक्षा के लिए मॉडरेशन पोर्टल खोलने जा रहा है. सीबीएसई की ओर से सभी स्‍कूलों को तय समय और नीति के अनुसार छात्रों के मार्क्‍स मॉडरेट करने के निर्देश दिए गए हैं.

    सीबीएसई की ओर से देश के सभी स्‍कूलों के प्रिंसिपल और प्रमुखों को को कहा गया है कि 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम तैयार करने के लिए शुक्रवार की दोपहर से 22 जुलाई की रात तक मॉडरेशन पोर्टल को खोला जा रहा है. ऐसे में सभी स्‍कूल इस पोर्टल पर छात्रों के मार्क्‍स के मॉडरेशन का काम पूरा कर लें. ताकि 31 जुलाई तक 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम घोषित किया जा सके.

    इसके साथ ही कहा गया है कि अगर कोई स्‍कूल तय शेड्यूल के अनुसार मॉडरेशन का काम पूरा नहीं करता है तो उस स्‍कूल का रिजल्‍ट 31 जुलाई 2021 के बाद अलग से घोषित किया जाएगा. हालांकि सीबीएसई ने सभी स्‍कूलों को सख्‍त निर्देश दिए हैं कि नियमों का पालन तत्‍परता से किया जाए.



    सही, भेदभाव रहित और भरोसेमंद परीक्षा परिणाम घोषित करना जिम्‍मेदारी

    सीबीएसई का कहना है कि कोरोना महामारी के दौर में जबकि परीक्षाएं नहीं हो सकी हैं ऐसे में बहुत जरूरी है कि छात्रों का परीक्षा परिणाम सटीक, भेदभाव रहित और भरोसेमंद होना चाहिए. इस समय 11वीं और 12वीं के कक्षा के मार्क्‍स का मॉडरेशन बड़ी जिम्‍मेदारी है जो इस तरह की जानी चाहिए कि छात्रों के साथ न्‍याय और पारदर्शिता रहे. इसके साथ ही छात्रों को नंबर देने के दौरान स्‍कूलों को उनके पिछले तीन साल के प्राप्‍तांकों को भी ध्‍यान रखना है.

    क्‍या है मॉडरेशन ऑफ मार्क्‍स

    मार्क्‍स का मॉडरेशन दरअसल एक ऐसा प्रोविजन है, जिसमें उन छात्रों को ग्रेस मार्क्‍स दिए जाते हैं, जो थोड़े नंबर्स से फेल होने वाले होते हैं. इसके अलावा इस पॉलिसी में कठिन प्रश्‍नपत्र या या गलत प्रश्‍नों के लिए भी ग्रेस मार्क्‍स देने का प्रावधान है. अब चूंकि कोरोना के चलते सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं भी नहीं हो सकी हैं लिहाजा इस पॉलिसी के तहत 12वीं के छात्रों का रिजल्‍ट तैयार किया जाना है. इसके लिए 11वीं और पिछले तीन साल के अंकों को ध्‍यान में रखकर मार्क्‍स का मॉडरेशन करना है.
    25 अप्रैल को सीबीएसई ने मॉडरेशन पॉलिसी को खत्‍म करने का फैसला किया था लेकिन दिल्‍ली हाईकोर्ट ने इसे जारी रखने के आदेश दिए थे. ऐसे में इस साल 12वीं का रिजल्‍ट मॉडरेशन पॉलिसी के साथ जारी किया जाएगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज