CBSE Class 12 Board Exam 2021 पर बोर्ड के फैसले से जुड़ा बड़ा अपडेट, पढ़ें

CBSE कक्षा 12वीं की परीक्षा होगी या नहीं, इस पर विचार किया जा रहा है.

COVID-19 मामलों में इजाफा के बीच, जहां एक तरफ माता-पिता संघ सहित समाज के कई वर्गों ने कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने की मांग की है, वहीं सीबीएसई स्कूलों की राष्ट्रीय परिषद ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' से परीक्षा आयोजित करने का आग्रह किया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) COVID-19 से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा कर रहा है और 1 जून को कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा आयोजित करने का फैसला करेगा. हालांकि इस बीच छात्रों के माता-पिता संघ सहित समाज के कई वर्गों ने कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने की मांग की है, वहीं सीबीएसई स्कूलों की राष्ट्रीय परिषद ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' से परीक्षा आयोजित करने का आग्रह किया है.

    कक्षा 12वीं की सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 4 मई से शुरू होकर 14 जून, 2021 तक चलने वाली थी. सीबीएसई ने कक्षा 12 को स्थगित करने की खबर की घोषणा करते हुए कहा था कि बोर्ड स्थिति की समीक्षा करेगा और 1 जून को निर्णय लेगा. बोर्ड ने यह भी कहा कि वह परीक्षा शुरू होने से कम से कम 15 दिन पहले कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा की नई तिथियां जारी करेगा.

    नेशनल काउंसिल ऑफ सीबीएसई स्‍कूल

    रिपोर्टों के अनुसार, सीबीएसई स्कूलों की राष्ट्रीय परिषद की महासचिव इंदिरा राजन ने कहा कि हमें लगता है कि परीक्षा में देरी होने पर भी परीक्षा आयोजित की जानी चाहिए, शायद वैकल्पिक परीक्षा पैटर्न का उपयोग करके भी. परीक्षा आयोजित करने का निर्णय छात्रों और अभिभावकों को ध्‍यान में रखते हुए लिया जाएगा.

    सुप्रीम कोर्ट में पीआईएल दाखिल
    18 मई को सीबीएसई कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा रद्द करने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका (जनहित याचिका) भी दायर की गई है. केरल के एक शिक्षक टोनी जोसेफ ने अपनी याचिका में कहा कि परीक्षा रद्द करना एक अनुचित निर्णय होगा. याचिका में कहा गया है कि कक्षा 12 की परीक्षा एक छात्र के जीवन का अभिन्न अंग है और उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के लिए महत्वपूर्ण है.

    क्‍या कैंसल हो जाएगा CBSE 12 एग्‍जाम
    पिछले हफ्ते, शीर्ष अदालत में एक और याचिका में सीबीएसई और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) द्वारा आयोजित कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने की बिनती की गई थी. इसमें कहा गया था कि छात्रों का असेसमेंट ऑब्‍जेक्‍ट‍िव मेथोलॉजी के आधार पर किया जाना चाहिए. वहीं दूसरी ओर टोनी जोसेफ द्वारा दायर की गई याचिका में इसका विरोध किया गया है.

    पूरे देश से सीबीएसई 12वीं की परीक्षा को रद्द करने की मांग उठ रही है. यहां तक कि कुछ संघों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पत्र लिखकर इस विषय पर गौर करने को कहा है और उनसे परीक्षा रद्द करवाने का अनुरोध किया है. हालांकि सीबीएसई ने यह स्‍पष्‍ट किया है कि 12वीं बोर्ड परीक्षा को कैंसल करने को लेकर फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है. ऐसे में छात्र ऐसी खबरों पर ध्‍यान ना दें, जिसमें परीक्षा कैंसल करने की बात कही गई है.