• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • CBSE Exam Pattern 2021: सीबीएसई परीक्षा पैटर्न में बड़ा बदलाव, 2 चरणों में होगा एग्जाम

CBSE Exam Pattern 2021: सीबीएसई परीक्षा पैटर्न में बड़ा बदलाव, 2 चरणों में होगा एग्जाम

CBSE Exam Pattern 2021:  CBSE ने बोर्ड परीक्षा 2 चरणों में कराने का फैसला लिया है.

CBSE Exam Pattern 2021: CBSE ने बोर्ड परीक्षा 2 चरणों में कराने का फैसला लिया है.

CBSE Exam Pattern 2021: सीबीएसई ने टर्म वन परीक्षा में बहुविकल्पीय यानि एमसीक्यू आधारित सवाल पूछने का निर्णय लिया है. इसके लिए छात्रों को 90 मिनट का समय दिया जाएगा.

  • Share this:

    नई दिल्ली. CBSE Exam Pattern 2021:  देश में शिक्षण संस्था धीरे – धीरे खुलने लगी हैं. वहीं इन शिक्षण संस्थाओं में अब सिलेबस और परीक्षा पैटर्न को लेकर बड़े बदलाव हो रहे हैं. पिछले वर्ष कोरोना के कहर के बीच बोर्ड परीक्षाओं को रद्द तक करना पड़ गया था. ऐसे में सीबीएसई बोर्ड ने इस साल परीक्षा पैटर्न को लेकर बड़ा बदलाव किया है. सीबीएसई ने व्यावसायिक पाठ्यक्रमों की तर्ज पर इस साल बोर्ड परीक्षा 2 चरणों में कराने का फैसला लिया है. इसके लिए स्कूल में नए पैटर्न के हिसाब से बच्चों की तैयारी कराई जा रही है.

    बता दें कि सीबीएसई ने टर्म वन परीक्षा में बहुविकल्पीय यानि एमसीक्यू आधारित सवाल पूछने का निर्णय लिया है. इसके लिए छात्रों को 90 मिनट का समय दिया जाएगा. अनुमान के मुताबिक इस परीक्षा में प्रतियोगी परीक्षाओं की तर्ज पर 50 से 60 प्रश्न पूछें जा सकते हैं. वहीं मासिक परीक्षाओं का पैटर्न भी इसे ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है. इसके अलावा टर्म टू परीक्षा पुराने पैटर्न पर ही होगी. लेकिन इस बार तीन घंटे के समय के बजाय 2 घंटे का ही समय परीक्षा के लिए दिया जाएगा. जिसके बाद दोनों टर्म परीक्षाओं से 50-50 फीसद अंक दिए जाने हैं. खास बात यह है कि इस नए पैटर्न को नई शिक्षा नीति 2020 से जोड़कर भी देखा जा रहा है. ऐसे में शिक्षा मंत्रालय इस साल इस पैटर्न को ट्रायल के तौर पर भी देख रहा है.

    ये भी पढ़ें-

    UP Engineering College: योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब इंजीनियरिंग कॉलेजों में लागू होगा रैकिंग फ्रेमवर्क

    10th CBSE Board result 2021: नेतरहाट आवासीय विद्यालय ने जारी किया 10वीं बोर्ड का रिजल्ट, प्रिंस ने किया स्कूल टॉप

    परीक्षा पैटर्न नहीं समझने पर होगा नुकसान
    बता दें कि इस नए परीक्षा पैटर्न को समझने के लिए स्टूडेंट्स को नियमित प्रशिक्षण लेना होगा और स्कूल एवं शिक्षकों के संपर्क में भी रहना होगा. ऐसे में जो स्टूडेंट नए परीक्षा पैटर्न को नहीं समझेंगे उन्हें परीक्षा में नुकसान उठाना पड़ सकता है. गौरतलब है कि सीबीएसई की टर्म वन की परीक्षा नवंबर-दिसंबर में प्रस्तावित है. ऐसे में आवेदन के लिए एक महीने के लिए विंडो खोली जाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज