CBSE Exams 2021: 'सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं जरूर होंगी, जल्द जारी होगा शेड्यूल'

सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने ये जानकारी दी है.
सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने ये जानकारी दी है.

क्या परीक्षा समान प्रारूप में और तय कार्यक्रम के अनुसार फरवरी-मार्च में आयोजित की जाएगी अथवा इसे स्थगित किया जाएगा ?

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2020, 12:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने शुक्रवार को कहा कि कक्षा 10 और कक्षा 12 के लिये होने वाली बोर्ड परीक्षाएं जरूर होंगी और इनके लिये कार्यक्रम जल्द घोषित किये जाने की उम्मीद है.

बोर्ड परीक्षाओं को रद्द या स्थगित किये जाने की मांग 
विभिन्न संगठनों द्वारा कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने या स्थगित किये जाने की मांग के बीच त्रिपाठी का यह बयान आया है.

बोर्ड परीक्षाएं अवश्य होंगी, सीबीएसई इसके लिये योजना बना रहा है
एसोचैम द्वारा ‘नयी शिक्षा नीति: स्कूली शिक्षा के लिये उज्ज्वल भविष्य’ विषय पर आयोजित एक वेबिनार के दौरान उन्होंने कहा, “बोर्ड परीक्षाएं अवश्य होंगी और इनका कार्यक्रम जल्द ही घोषित किया जाएगा. सीबीएसई इसके लिये योजना बना रहा है और जल्द ही इस बात का खुलासा किया जाएगा कि परीक्षा का मूल्यांकन कैसे किया जाएगा.”



परीक्षा स्थगित होगी या नहीं
उन्होंने हालांकि इस पर टिप्पणी नहीं की कि क्या परीक्षा समान प्रारूप में और तय कार्यक्रम के अनुसार फरवरी-मार्च में आयोजित की जाएगी अथवा इसे स्थगित किया जाएगा.

विभिन्न ऐप का इस्तेमाल कर ऑनलाइन कक्षाएं लेना समान्य 
त्रिपाठी ने कहा, “मार्च-अप्रैल के दौरान हम घबराये हुए थे कि आगे कैसे बढ़ेंगे, लेकिन इस मौके पर हमारे विद्यालयों और शिक्षकों ने शानदार काम किया और शिक्षण कार्य के लिये नई प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के उद्देश्य से खुद में बदलाव किया और खुद को प्रशिक्षित किया. कुछ ही महीनों में विभिन्न ऐप का इस्तेमाल कर ऑनलाइन कक्षाएं लेना समान्य बात हो गई.”

ये भी पढ़ें-
School Re-Open: मुंबई में स्कूल 31 दिसम्बर तक बंद रहेंगे, बीएमसी ने की घोषणा
जवाहर नवोदय विद्यालयों में छठीं कक्षा में दाखिले के लिए 15 दिसंबर तक करें आवेदन

कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार रोकने के लिये देश भर में मार्च में विद्यालय बंद कर दिये गए थे और 15 अक्टूबर के बाद कुछ राज्यों में आंशिक रूप से इन्हें खोला गया. कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए हालांकि कुछ राज्यों ने विद्यालयों को फिर से बंद करने का फैसला किया है. आधी परीक्षाओं के बाद बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करना पड़ा था और बाद में उन्हें रद्द किया गया तथा नतीजों की घोषणा वैकल्पिक आकलन योजना के आधार पर की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज