जब छात्रों ने लगाई डिप्टी सीएम की क्लास, सरकारी स्कूल में चली हैप्पीनेस क्लास

दिल्ली सरकार के स्कूलों के विद्यार्थी शिक्षकों की भूमिका में नजर आए. (फोटो सांकेतिक)
दिल्ली सरकार के स्कूलों के विद्यार्थी शिक्षकों की भूमिका में नजर आए. (फोटो सांकेतिक)

बाल दिवस मनाया जाता है ताकि अभिभावक, माता-पिता और शिक्षक अपनी भूमिका के बारे में विचार कर सकें कि वे कैसे इस दुनिया को हमारे बच्चों के लिए एक बेहतर स्थान बना सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 14, 2020, 5:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को एक विशेष "हैप्पीनेस क्लास" में भाग लिया जहां दिल्ली सरकार के स्कूलों के विद्यार्थी शिक्षकों की भूमिका में नजर आए. कक्षा में, छात्रों ने सिसोदिया से कोविड-19 महामारी के दौरान घर पर रहने के दौरान अपने जीवन पर “हैप्पीनेस पाठ्यकम” के सकारात्मक प्रभावों से जुड़े अनुभव साझा किए.

बाल दिवस पर खास
सिसोदिया ने कहा, "बाल दिवस मनाया जाता है ताकि अभिभावक, माता-पिता और शिक्षक अपनी भूमिका के बारे में विचार कर सकें कि वे कैसे इस दुनिया को हमारे बच्चों के लिए एक बेहतर स्थान बना सकते हैं. यह ध्यान देने लायक बात है कि दो साल से आयोजित ‘हैप्पीनेस क्लास’ इस कोरोना वायरस महामारी के कठिन समय में बच्चों के जीवन में काफी मददगार साबित हुई है.”

ये भी पढ़ें-
SSC JHT, SHT, हिंदी प्राध्यापक फाइनल रिजल्ट 2019 ssc.nic.in पर जारी, यहां करें चेक


BPSC 31st Judicial Services एग्जाम शेड्यूल जारी, यहां चेक करें परीक्षा की तारीख

हमारे छात्र अब इस पाठ्यक्रम के शिक्षक बन गए हैं
उन्होंने आगे कहा कि मुझे यह जानकर खुशी हो रही है कि हमारे छात्र अब इस पाठ्यक्रम के शिक्षक बन गए हैं और अपने परिवार के सदस्यों और यहां तक कि अपने दोस्तों में भी इसका संदेश फैला रहे हैं. इस क्लास का नेतृत्व बीपीएसकेवी, देवली की छात्रा गुलफ्शा और जीसीएसवी, द्वारका के छात्र निखिल ने किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज