झारखंड में कोरोना के खिलाफ चलेगा व्यापक जागरुकता अभियान, छात्रों को जोड़ने की योजना

कोरोना को हराने की लड़ाई में छात्र भी होंगे अब साथ.

कोरोना को हराने की लड़ाई में छात्र भी होंगे अब साथ.

रांची: झारखंड में कोरोना के खिलाफ चलेगा व्यापक जागरुकता अभियान चलाया जाएगा. इस अभियान में विश्वविद्यालय के एनएसएस कार्यकर्ताओं को भी जोड़ा जाएगा.  

  • Share this:

रांची. भारत सरकार ने युवा मामले एवं खेल विभाग व यूनीसेफ, भारत के संयुक्त तत्वावधान में युवा (YUVAAH)  अभियान की शरुआत की गई है, जिसके अंतर्गत पूरे देश के सभी युवा संगठनों के माध्यम से देश के लगभग 5 करोड़ युवाओं को युवा योद्धा (YOUNG WARRIOR) के रूप में शामिल करने की योजना बनाई गई है.

भारत सरकार की युवा इकाई, राष्ट्रीय सेवा योजना की झारखंड इकाई एवं यूनीसेफ, झारखंड के संयुक्त तत्वावधान में 21 मई 2021 को झारखंड राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के एनएसएस कार्यक्रम समन्वयकों, 24 जिलों के नोडल पदाधिकारी, प्रत्येक विश्वविद्यालय से 5- 5 कार्यक्रम पदाधिकारी एवं 198 स्वयं सेवकों के लिए ऑनलाइन ओरिएन्टेशन कार्यक्रम का आयोजित किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता  एनएसएस के क्षेत्रीय निदेशक पीयूष परांजपे (पटना) ने की.

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में एनएसएस के युवा कार्यक्रम सलाहकार कमल कुमार कर (नई दिल्ली) ने अपने संबोधन में कहा कि इस अभियान के अंतर्गत राष्ट्रीय, राज्य, विश्वविद्यालय एवं जिला स्तरीय ओरिएन्टेशन कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इसके माध्यम से अधिक से अधिक युवाओं को युवा योद्धा के रूप में जोड़ा जाएगा. उन्होंने कहा कि पूरे देश में एनएसएस के 40 लाख स्वयंसेवक इस अभियान में लगेंगे एवं प्रत्येक स्वयंसेवक 5 युवाओं को इस अभियान से जोड़ेंगे.

चलाया जाएगा कोरोना जागरुकता अभियान
मुख्य वक्ता यूनीसेफ, झारखंड की संचार पदाधिकारी एवं इस अभियान की प्रमुख आस्था अलंग ने अपने संबोधन में कहा कि झारखंड के अलग-अलग क्षेत्रों के युवाओं को भी इस अभियान से जोड़ना है एवं इससे जुड़ने वालें सभी युवा योद्धा के माध्यम से कोविड - 19 महामारी के विरुद्ध व्यापक जनजागरण अभियान प्रारंभ किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस अभियान के माध्यम से सोशल मीडिया में सकारात्मक बातों को प्रभावी ढंग से रखना, जरूरतमंदो को खाना, दवा, मास्क एवं वैक्सीन आदि की सुविधा उपलब्ध कराना, कोविड- 19  नॉलेज हब से जानकारी लेना, ऐसे बच्चे जिनके पास कोई नहीं हो, तो उनका मदद टोल फ्री नंबर (भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी नम्बर) पर कॉल करके बताना, बुजुर्गों की उचित देखभाल करना एवं युवा रिपोर्ट तैयार करना आदि किए जाएंगे.

अपने अध्यक्षीय संबोधन में क्षेत्रीय निदेशक पीयूष परांजपे ने कहा कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य कोविड के इस महामारी में युवाओं के माध्यम से जहां कम वहां हम एवं जहां हम वहां दम के सिद्धांत पर कार्य करने के लिए प्रेरित करना है.

राज्य एनएसएस पदाधिकारी डॉ. ब्रजेश कुमार ने बताया कि इस महाअभियान में झारखंड में एनएसएस के माध्यम से कुल 5 लाख युवाओं को युवा योद्धा के रूप में जोड़ा जाएगा एवं इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए विश्वविद्यालय एवं जिला स्तर पर विशेष अभियान चलाया जाएगा.



कार्यक्रम में डॉ. जौनी रूफिना तिर्की, डॉ. कमल कुमार बोस, डॉ. कंचन कुमारी, डॉ.भोलानाथ सिंह, डॉ रणजीत कुमार सिंह, डॉ. दिलीप कुमार राम, डॉ. कुमारी भारती सिंह, डॉ. सत्यनारायण उरांव, डॉ.खेमलाल महतो ,डॉ. प्रियंका सिंह, दिवाकर आनंद, फलक फातिमा, सुरेंद्र सॉ आदि ने इस अभियान की सफलता हेतु कई सुझाव दिए.

यह भी पढ़ें -

बड़ी खबर: CBSE बोर्ड 12वीं की परीक्षा पर कल हो सकता है अहम फैसला, राजनाथ सिंह करेंगे बैठक

Anna University: री-एग्‍जाम के लिये 24 मई से शुरू होगी रजिस्‍ट्रेशन प्रक्रिया

ओरिएन्टेशन कार्यक्रम का संचालन राज्य एनएसएस पदाधिकारी डॉ. ब्रजेश कुमार ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन कोल्हान विश्वविद्यालय के कार्यक्रम समन्वयक डॉ.दारा सिंह गुप्ता ने किया. इस कार्यक्रम को सफल बनाने में डॉ. सुषमा एक्का, डॉ. हेमंत कुमार, अनुभव चक्रवर्ती, राहुल, विकास, दीपा, शिवानी, नेहा, शुभम आदि का योगदान रहा.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज