• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • School Reopening : दिल्ली के डिप्टी सीएम सिसोदिया ने बताया, कब खुलेंगे स्कूल, ये है योजना

School Reopening : दिल्ली के डिप्टी सीएम सिसोदिया ने बताया, कब खुलेंगे स्कूल, ये है योजना

दिल्ली के शिक्षा निदेशालय ने 12वीं तक की कक्षाओं में सेमी ऑनलाइन और ऑनलाइन शैक्षणिक गतिविधियां शुरू करने का फैसला लिया है.

दिल्ली के शिक्षा निदेशालय ने 12वीं तक की कक्षाओं में सेमी ऑनलाइन और ऑनलाइन शैक्षणिक गतिविधियां शुरू करने का फैसला लिया है.

School Reopening : दिल्ली के शिक्षा निदेशालय ने स्कूल खोलने से पहले छात्रों को मानसिक और भावनात्मक रूप से मजूबत करने के लिए एक तीन चरणों की कार्य योजना तैयार की है. इसका पहला चरण 28 जून से शुरू हो रहा है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण में गिरावट और तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच छात्र और अभिभावक स्कूल खुलने को लेकर परेशान हैं. कई राज्यों में स्कूल खोलने को लेकर प्रयास चल रहे हैं. फिलहाल दिल्ली के शिक्षा निदेशालय ने नर्सरी से 12वीं तक की कक्षाओं में सेमी ऑनलाइन और ऑनलाइन शैक्षणिक गतिविधियां शुरू करने का फैसला लिया है. शिक्षा निदेशालय ने शैक्षणिक गतिविधियां शुरू करने से पहले छात्रों की भावनात्मक और मानसिक मजबूती के लिए एक कार्य योजना भी तैयार की है. इसकी जानकारी शनिवार को दिल्ली के डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने दी.

    सिसोदिया ने बताया कि कोरोना महामारी की स्थिति सामान्य होने तक स्कूल बंद ही रहेंगे. लेकिन ऑनलाइन और सेमी ऑनलाइन मीडियम से शिक्षकों और छात्रों के बीच जुड़ाव को लेकर कार्य जल्दी शुरू किया जाएगा. उन्होंने कहा कि महामारी के कारण छात्रों का काफी नुकसान हुआ है. इस वर्ष न सिर्फ बच्चों का लर्निंग गैप कम करने की जरूत है बल्कि उन्हें भावनात्मक सपोर्ट की भी जरूरत है. उन्होंने कहा कि इस वर्ष छात्रों के आंकलन के लिए शिक्षण योजनाओं और मूल्यांकन के बीच बेहतर तालमेल बनाकर ऐसी मूल्यांकन विधियों का प्रयोग किया जाएगा जिससे कि साल के अंत में होने वाली परीक्षा से निर्भरता कम करेगा.

    तीन चरणों की कार्य योजना 

    सिसोदिया ने बताया कि शैक्षिक सत्र 2021-22 के लिए तैयार कार्य योजना के तहत छात्रों के पठन-पाठन की प्रक्रिया आसान बनाने के लिए एक प्रभावशाली तरीका अपनाया गया है. यह कार्य योजना तीन चरणों में संपन्न होगी. पहला चरण्एा 28 जून से शुरू होगा. इस दौरान शिक्षक और स्कूल प्रमुख छात्रों व उनके अभिभावकों से संपर्क करेंगे. संपर्क सूची अपडेट करेंगे. वॉट्सएप ग्रुप बनाएंगे और स्मार्ट फोन या बिना फोन वाले छात्रों की सूची तैयार करेंगे. इसका दूसरा चरण पांच जुलाई से शुरू होगा. जिसमें शिक्षक छात्रों से उनकी वर्तमान स्थिति समझकर भावनात्मक और मानसिक मदद देंगे. इसका तीसरा और आखिरी चरण अगस्त में शुरू होगा. इस दौरान लर्निंग गैप को खत्म करने के लिए कक्षाएं आधारित गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा. जबकि नर्सरी से आठवीं कक्षा को सामान्य और विषय आधारित वर्कशीट दी जाएगी.

    ये भी पढ़ें-

    मध्यप्रदेश में चयनित शिक्षक 29, 30 जून और 1 जुलाई को कराएं दस्तावेजों के सत्यापन, वरना पात्रता होगी निरस्त

    मथुरा में B.Ed की फर्जी डिग्री से 32 शिक्षकों ने पाई नौकरी, उनके खिलाफ मामला दर्ज

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज