DU Convocation 2021 : DU ने 97वें दीक्षांत समारोह में बांटी डिजिटल डिग्री, बना यह इतिहास

दीक्षांत समारोह का आयोजन हाईब्रिड तरीके से किया गया था. इसमें छात्र ऑनलाइन और भौतिक दोनों तरह से शामिल हुए.

दीक्षांत समारोह का आयोजन हाईब्रिड तरीके से किया गया था. इसमें छात्र ऑनलाइन और भौतिक दोनों तरह से शामिल हुए.

DU Convocation 2021 : दिल्ली यूनिवर्सिटी ने अपने 97वें दीक्षांत समारोह में करीब 1.8 लाख छात्रों को डिजिटल डिग्री बांटकर इतिहास बनाया. कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2021, 10:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली यूनिवर्सिटी में 97वें दीक्षांत समारोह का आयोजन हुआ. इस समारोह के दौरान डीयू ने एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम की. डीयू देश का ऐसा पहला संस्थान बन गया है जिसने करीब 1.8 लाख छात्रों को डिजिटल डिग्रियां बांटी हैं.

डीयू के कार्यवाहक कुलपति पीसी जोशी ने दावा किया कि शनिवार को 97वें दीक्षांत समारोह के मौके पर डीयू के 178719 छात्रों कों डिजिटल डिग्रियां दी गईं. बता दें कि कोरोना महामारी के कारण डीयू में दीक्षांत समारोह का आयोजन हाईब्रिड तरीके से किया गया था. इसमें छात्र ऑनलाइन और भौतिक, दोनों तरह से शामिल हुए.

शिक्षा मंत्री ने दी बधाई



इस कार्यक्रम में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए. उन्होंने 156 छात्रों को मेडल और 36 को पुरस्कार प्रदान किए गए. इस दौरान शिक्षा मंत्री निशंक ने छात्रों और अभिभावकों को इस महत्वपूर्ण दिन की बधाई देने के साथ भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए कठिन परिश्रम करने के लिए प्रेरित किया.
उन्होंने कहा, आपने देखा कि किस तरह हम यहां खड़े होकर एक क्लिक करके 1,78,719 छात्रों को डिग्री बांट दिए. हम जिस डिजिटल नेटवर्क की बात करते हैं, वह यही है. यह वही है, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं, ''अपनी चुनौतियों को अवसर में परिवर्तित करो''.

उपलब्धि को बताया ऐतिहासिक पल

डीयू के कुलपति योगेश त्यागी ने बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है जब ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन के 178719 छात्रों को एक क्लिक में डिग्रियां बांटी गई हैं. यह एक ऐतिहासिक कदम था. त्यागी ने कहा, यह गर्व की बात है कि डीयू छात्रों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए शिक्षा मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार ओपन बुक एग्जाम कराने वाली देश की पहली यूनिवर्सिटी बनी है.

उन्होंने कहा कि डीयू जल्द ही राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को लागू करेगा. त्यागी ने इस मौके पर डीयू की विद्या विस्तार समिति के बारे में भी जानकारी दी. इसका मकसद अकादमिक सहयोग के जरिए पैरेंटिंग इंस्टीट्यूशन को लाइब्रेरी और अन्य अकादमिक सुविधाएं उपलब्ध कराना है.



ये भी पढ़ें-

WCR Recruitment : 10वीं पास के लिए रेलवे में वैकेंसी, बिना परीक्षा के सीधी भर्ती

Haryana school Board : HTET की परीक्षा में दूसरे को बैठाया तो खैर नहीं, बोर्ड ने लिया बड़ा फैसला

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज