• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • Cabinet Expansion 2021: धर्मेंद्र प्रधान बने नए शिक्षा मंत्री, सामने होंगी ये पांच चुनौतियां

Cabinet Expansion 2021: धर्मेंद्र प्रधान बने नए शिक्षा मंत्री, सामने होंगी ये पांच चुनौतियां

धर्मेंद्र प्रधान अभी तक पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्रालय संभाल रहे थे.

Cabinet Expansion 2021 : कोरोना महामारी के कारण जेईई सहित कई महत्वपूर्ण परीक्षाओं में देरी के बीच नए शिक्षा मंत्री बने धर्मेंद्र प्रधान के सामने कई चुनौतियां हैं. जिन पर जल्द से जल्द फैसले लेने होंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल में हुए पहले कैबिनेट विस्तार में बड़ा फेरबदल हुआ है. बुधवार को 43 मंत्रियों ने मंत्रिपद की शपथ ली. अब केंद्र सरकार ने मंत्रियों के पोर्टफोलियो की भी घोषणा कर दी है. इसमें शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को बनाया गया है. वह अभी तक पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्रालय संभाल रहे थे. प्रधान ने रमेश पोखरियाल निशंक की जगह ली है. निशंक ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया है. निशंक का इस्तीफा इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन के लिए होने वाली जेईई मेन 2021 के तीसरे और चौथे चरण की परीक्षा तिथियां घोषित करने के एक दिन बाद हुआ है. अब कई ऐसे महत्वपूर्ण कार्य हैं, जिन पर नए शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को जल्द से जल्द फैसले लेने होंगे.

    नए शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के सामने चुनौतियां

    नीट यूजी 2021 परीक्षा - इंजीनियरिंग की पढ़ाई की प्रवेश परीक्षा जेईई मेन 2021 के तीसरे और चौथे चरण की घोषणा के बाद अब मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट 2021 की तारीख घोषित करने का दबाव है. नीट परीक्षा की तारीख तो एक अगस्त तय कीइ गई है लेकिन आवेदन प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हो सकी है. ऐसे में माना जा रहा है कि परीक्षा की नई तिथि घोषित करनी पड़ेगी. मेडिकल की पढ़ाई की तैयारी कर रहे छात्र भी जल्द से जल्द नीट 2021 के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करने और परीक्षा कराने की मांग कर रहे हैं.

    नीट पीजी 2021 : नीट यूजी 2021 की तरह नीट पीजी की परीक्षा को लेकर भी अनिश्चितता की स्थिति है. अभी तक नीट पीजी परीक्षा सितंबर में आयोजित होने की संभावना है. लेकिन डॉक्टरों और छात्रों के समूह जल्द से जल्द परीक्षा चाहते हैं. इसी क्रम में कर्नाटक एसोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. उन्होंने नीट पीजी 2021 जल्द आयोजित करने की मांग की है.

    जेईई एडवांस- जेईई मेन 2021 के बाद जेईई एडवांस 2021 का आयोजन कराना भी एक चुनौती है. जेईई मेन 2021 के सभी चरणों की परीक्षा संपन्न होने और रिजल्ट जारी होने के बाद जेईई एडवांस की परीक्षा तिथि भी घोषित करनी है. कोरोना संक्रमण की नई लहर की आशंकाओं के बीच इसका सुरक्षित तरीके आयोजन चुनौती होगा.

    सेंट्रल यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (CUCET)- इस बार केंद्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश सेंट्रल यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट के जरिए होना है. सीयूसीईटी आयोजित कराने का जिम्मा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी का दिया गया है. सीयूसीईटी में देश के सभी 41 केंद्रीय विश्वविद्यालय शामिल होंगे. इन केंद्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश 12वीं के अंक के आधार पर न होकर प्रवेश परीक्षा के आधार दिया जाएगा. हालांकि अभी तक इसके आयोजन पर केंद्र सरकार अंतिम फैसला नहीं ले सकी है.

    सीबीएसई रिजल्ट, नए पैटर्न और स्कूल ऑफलाइन शुरू करने की चुनौती- नए शिक्षा मंत्री के सामने कोरोना महामारी के कारण ऑनलाइन मोड में चल रहे स्कूलों को वापस ऑफलाइन मोड में लाने की चुनौती है. इस बीच तीसरी लहर की भी आशंका है. इसके अलावा सीबीएसई के 10वीं और 12वीं का रिजल्ट भी समय से जारी करवाना होगा. रिजल्ट में देरी हुई तो 12वीं पास करने वाले बच्चों के सामने उच्च शिक्षा के लिए एडमिशन ले पाना मुश्किल हो जाएगा. साथ ही सीबीएसई ने अगले साल भी कोरोना महामारी रहने की संभावना के चलते बोर्ड परीक्षा के पैटर्न में काफी बदलाव कर दिया है. साल में दो बार परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी. इस पर भी काम करना बाकी है.

    ये भी पढ़ें

    Haryana SSC Exams : हरियाणा एसएससी ने जारी किया पुलिस भर्ती सहित इन परीक्षाओं का शेड्यूल

    Sarkari Naukri: 10वीं 12वीं में प्रमोट होने वाले स्टूडेंट्स को सरकारी नौकरी के लिए देना होगा स्पेशल एग्जाम

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज