• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • DU News: डीयू लाइब्रेरी के 74 वर्ष पूरे, सेना के अधिकारियों ने बताई किताबों की भूमिका

DU News: डीयू लाइब्रेरी के 74 वर्ष पूरे, सेना के अधिकारियों ने बताई किताबों की भूमिका

DU News: डीयू लाइब्रेरी के 74 वर्ष पूरे होने पर किया गया कार्यक्रम का आयोजन.

DU News: डीयू लाइब्रेरी के 74 वर्ष पूरे होने पर किया गया कार्यक्रम का आयोजन.

DU News: दिल्ली विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी के 74 वर्ष पूरे होने पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस दौरान पुस्तक और पुस्तकालय के विभिन्न पहलूओं और उनकी भूमिका पर चर्चा की गई.

  • Share this:

    नई दिल्ली. DU News:  डीयू के पुस्तकालय और सूचना विज्ञान विभाग ने अपनी स्थापना के 75वें वर्ष में प्रवेश करने के उपलक्ष में पुस्तक और पुस्तकालय की कहानी हमारे सेना अधिकारियों की जुबानी नामक कार्यक्रम का आयोजन किया. इस कार्यक्रम की रूपरेखा स्पष्ट करते हुए आयोजन सचिव प्रो.केपी सिंह ने  कहा कि हम सबके लिए यह गौरवांवित होने का क्षण है कि दिल्ली विश्वविद्यालय अपनी 100वीं वर्षगांठ मनाने जा रहा है. हमारे लिए यह दोहरी खुशी का विषय है. हमारा विभाग भी अपनी 75वीं वर्षगांठ मना  रहा है. जिसके अवसर पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है. कार्यक्रम का उद्देश्य बताते हुए उन्होंने कहा कि सेना के तीनों अंकों से सेवानिवृत्त देश के जवानों के अनुभव और उनसे प्रेरणा लेने को अहम बताया.

    कार्यक्रम के माॅडरेटर के रूप में  बोलते हुए लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेवानिवृत्त) ने कार्यक्रम के लिए प्रो.सिंह को बधाई दी. उन्होंने कहा कि एक सैनिक का किताब और ज्ञान से गहरा रिश्ता होता है. यह सोच बेमानी है कि सैनिक का संबंध सिर्फ शस्त्र और युद्ध से है. दरअसल युद्ध शस्त्र और शास्त्र दोनों से लड़ा जाता है.

    ये भी पढ़ें –
    Career Guidance: PhD में एडमिशन लेने वालों को एक्सपर्ट्स ने दी ये सलाह, पढ़ें डिटेल
    AICTE: भारत में घटतीं इंजीनियरिंग की सीटें, 10 साल के सबसे निचले स्तर पर

    वहीं भारतीय नेवी में कमांडर कुमारेश शर्मा ने कहा कि पुस्तके ज्ञान का स्त्रोत हैं. युद्ध में जितनी भूमिका शस्त्रों की है, उससे कम शास्त्र की नहीं है. उन्होंने  कहा कि शास्त्र और शस्त्र किसी भी युद्ध में निर्णायक भूमिका निभाते हैं. कार्यक्रम में वक्ताओं का स्वागत विभागाध्यक्ष प्रो. शैलेंद्र कुमार ने किया. आमंत्रित वक्ताओं और श्रोताओं का धन्यवाद प्रो. राकेश भट्ट द्वारा किया गया. इस अवसर पर पुस्तकालय और सूचना विभाग की उपलब्धियों पर एक लधु फिल्म भी दिखाई गई.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज