• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • Delhi University के इस कॉलेज में दाख‍िला लेने वाले इन छात्रों को नहीं देनी होगी कोई फीस

Delhi University के इस कॉलेज में दाख‍िला लेने वाले इन छात्रों को नहीं देनी होगी कोई फीस

राजधानी कॉलेज GBM ने ग्रेजुएशन के सभी छात्रों की सहायता करने का फैसला ल‍िया गया है.

राजधानी कॉलेज GBM ने ग्रेजुएशन के सभी छात्रों की सहायता करने का फैसला ल‍िया गया है.

DU Admission: द‍िल्‍ली यूनिवर्सिटी के द‍िल्‍ली सरकार से आंश‍िक रूप से व‍ित्‍त पोष‍ित राजधानी कॉलेज की गवर्निंग बॉडी ने एक अच्‍छा और मानवीयता से जुड़ा फैसला लेते हुये कहा है क‍ि कोरोना महामारी में ज‍िस छात्र ने अपने माता-प‍िता में से क‍िसी एक भी खोया है उसको फीस माफी और कुल फीस में 2010 रुपये की छूट दी जाएगी. ग्रेजुएशन के फर्स्‍ट ईयर छात्र से लेकर फाइनल ईयर तक के सभी ऐसे छात्रों की सहायता करने का फैसला ल‍िया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से जूझ रही द‍िल्‍ली के ल‍िये एक बड़ी राहत भरी खबर आई है. द‍िल्‍ली यूनिवर्सिटी के द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) से आंश‍िक रूप से व‍ित्‍त पोष‍ित राजधानी कॉलेज (Rajdhani College) की गवर्निंग बॉडी (Governing Body) ने एक अच्‍छा और मानवता से जुड़ा फैसला ल‍िया है.

    कॉलेज गवर्निंग बॉडी ने कहा है क‍ि कोरोना महामारी में ज‍िस छात्र ने अपने माता-प‍िता में से क‍िसी एक भी खोया है उसको फीस माफी और कुल फीस में 2010 रुपये की छूट दी जाएगी. ग्रेजुएशन के फर्स्‍ट ईयर छात्र से लेकर फाइनल ईयर तक के सभी ऐसे छात्रों की सहायता करने का फैसला ल‍िया गया है.

    ये भी पढ़ें: Education News: सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद भी जारी है प्राइवेट स्कूलों की मनमानी

    राजधानी कॉलेज के प्र‍िंस‍िपल एवं गवर्निंग बॉडी के मैंबर सेक्रेटरी प्रो. राजेश ग‍िरी का कहना है क‍ि कोरोना महामारी के दौरान हम सभी ने क‍िसी ने क‍िसी अपने प्रिय को खोया है. ऐसे में कॉलेज की गवर्निंग बॉडी (Governing Body) ने छात्रों को राहत देने का फैसला क‍िया है. प्रो. ग‍िरी का कहना है क‍ि कॉलेज की ओर से ऐसे उन सभी छात्रों को फीस की छूट दी जा रही है ज‍िन्‍होंने अपने माता-प‍िता में से क‍िसी एक को कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की वजह से खो द‍िया है. कोरोना की वजह से उनकी मौत हो गई है.

    द‍िल्‍ली सरकार आंश‍िक रूप से देती है कॉलेज का वित्‍तीय मदद
    बताते चलें क‍ि राजधानी कॉलेज उन 28 कॉलेजों में से एक है ज‍िसको द‍िल्‍ली सरकार की ओर से आंश‍िक रूप से व‍ित्‍तीय मदद भी दी जाती है. डीयू के 12 कॉलेजों को द‍िल्‍ली सरकार पूर्ण रूप से व‍ित्‍तीय मदद देती है जबकि 16 ऐसे कॉलेज हैं ज‍िनको द‍िल्‍ली सरकार की ओर से आंश‍िक रूप से व‍ित्‍तीय (partially-funded) मदद दी जाती है.

    ये भी पढ़ें: NIRF Ranking 2021: देश के टॉप 10 विश्वविद्यालयों की सूची जारी, इस यूनिवर्सिटी को मिला पहला स्थान

    ऐसे छात्रों को नहीं देनी होगी कोई भी एडम‍िशन फीस
    गवर्निंग बॉडी ने फैसला ल‍िया है क‍ि फर्स्‍ट ईयर में दाख‍िला लेने वाले सभी छात्रों को ज‍िन्‍होंने अपने परिजनों को कोरोना की वजह से खो द‍िया है, उनकी पूरी फीस माफ की जाएगी. पर‍िजनों में से अगर क‍िसी एक भी मौत कोरोना की वजह से हुई है तो उनकी पूरी फीस माफ की जाएगी. वहीं, सेकेंड और थर्ड ईयर स्‍टूडेंट्स को भी इस तरह की स्‍थ‍ित‍ि में राहत देते हुये 2010 रुपये की फीस में छूट दी जाएगी. इस तरह की छूट से कोरोना पीड़‍ित पर‍िवार को कुछ राहत म‍िल सकेगी.

    सेकेंड और थर्ड ईयर के स्‍टूडेंट्स को भी छूट देने का फैसला
    इसके अलावा एक और अच्‍छा फैसला लेते हुये गवर्निंग बॉडी ने कहा है क‍ि सेकेंड और थर्ड ईयर के स्‍टूडेंट्स को भी राहत दी जाएगी. कोरोना की वजह से अगर इन छात्रों ने भी अपने माता-प‍िता में से क‍िसी एक को भी खोया है तो कॉलेज उसको 2010 रुपये तक की फीस में छूट देगा. इसका मतलब यह क‍ि कॉलेज में व‍िभ‍िन्‍न कोर्स है उनके आधार पर ही यह छूट दी जाएगी. जैसे क‍ि उनकी कोर्स फीस 10 हजार रुपये या उससे अध‍िक है तो छात्र को 2010 रुपये की छूट कुल फीस में दी जाएगी.

    ये भी पढ़ें: DU Reopening: दिल्ली विश्वविद्यालय अगले हफ्ते से खुलने की संभावना

    इतना ही नहीं, कॉलेज गवर्निंग बॉडी ने भी सराहनीय फैसला ल‍िया है कि कोरोना की वजह से अगर किसी अभिभावक की नौकरी छूट गई है तो कॉलेज उसके ल‍िये भी कुछ मदद करेगा. ऐसे छात्रों की मदद करने का भी फैसला क‍िया गया है. यह मदद छात्रों को स्‍टूडेंट फंड के माध्‍यम से की जाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज