होम /न्यूज /education /

Year Ender 2021: 2 साल नहीं हुई थी बोर्ड परीक्षा, ऐसे तैयार हुए थे रिजल्ट

Year Ender 2021: 2 साल नहीं हुई थी बोर्ड परीक्षा, ऐसे तैयार हुए थे रिजल्ट

2 सालों में बदला परीक्षाओं का तरीका

2 सालों में बदला परीक्षाओं का तरीका

Year Ender 2021, CBSE Board Exams: कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus In India) ने स्कूली जीवन को काफी हद तक प्रभावित किया है (Education). संक्रमण के पीक पर होने की वजह से साल 2020 और साल 2021 में बोर्ड परीक्षाएं तक स्थगित कर दी गई थीं (Board Exams). ऐसा पहली बार हुआ था, जब छात्रों ने ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई की और बोर्ड परीक्षाओं का समय नजदीक आते ही उन्हें कैंसिल भी करना पड़ गया (Board Exams Cancelled). इन 2 सालों में बोर्ड मेंबर्स और टीचर्स को बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट बनाने के लिए नए फॉर्मेट पर काम करना पड़ा (CBSE Board Result).

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली (CBSE, Year Ender 2021). कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus In India) ने लोगों की दिनचर्या को पूरी तरह से बदल दिया है. यहां तक कि स्कूली बच्चे भी इससे अछूते नहीं रहे (School Education). साल 2020 में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी देखते ही आनन-फानन में स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए थे (Schools Closed In India). बोर्ड परीक्षा के छात्रों की पढ़ाई ऑनलाइन माध्यम से शुरू हो गई थी (Board Exams). साल 2021 में भी ऑनलाइन एजुकेशन (Online Education) का ट्रेंड रहा.

    कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए न सिर्फ पढ़ाई का तरीका बदल दिया गया था, बल्कि परीक्षाओं के संबंध में भी एक जरूरी फैसला लिया गया था (Board Exams). सीबीएसई (CBSE Board Exams) और सीआईएससीई बोर्ड की परीक्षाओं को पहले स्थगित और फिर रद्द कर दिया गया था. साल 2020 और 2021 में बोर्ड का रिजल्ट बनाना किसी चुनौती से कम नहीं था (CBSE Board Result). जानिए, इन 2 सालों में शिक्षा जगत में किस तरह के बदलाव देखे गए (Year Ender 2021).

    चलता रहा ऑनलाइन शिक्षा का ट्रेंड
    साल 2020 और 2021 में सभी कक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से आयोजित की गई थीं (Online Education). इस दौरान बच्चे लैपटॉप और फोन पर ही पढ़ाई करने के आदी हो गए. साल 2021 में कोविड 19 (Covid 19) संक्रमण के मामलों में कमी दर्ज होने के बाद कुछ राज्यों में स्कूल खोल दिए गए थे (Schools Reopening In India), लेकिन अधिकांश जगहों पर क्लासेस ऑनलाइन ही आयोजित हुई थीं.

    2020 में ऐसे बना था बोर्ड रिजल्ट
    साल 2020 में फरवरी-मार्च में सीबीएसई (CBSE) और सीआईएससीई (CISCE) समेत अन्य राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं को टाल दिया गया था. कुछ समय बाद अपडेट आया था कि कोविड 19 (Covid 19) संक्रमण के मामले कमजोर पड़ने के बाद 1 जुलाई से 15 तक जुलाई तक सीबीएसई 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं कराएगा (CBSE Board Exams). लेकिन फिर संक्रमण के मामलों के अचानक बढ़ने से परीक्षाएं आयोजित नहीं की जा सकी थीं. उस समय स्टूडेंट्स को आंतरिक मूल्यांकन (Internal Assessment) के अंकों के आधार पास किया गया था.

    ये भी पढ़ें:
    Career Tips: हिंदी के जानकार हैं तो इन क्षेत्रों में बनाएं करियर, मिलेंगे बेशुमार मौके
    NEET Counselling 2021: इन 5 बड़े बदलाव के साथ होगी नीट की काउंसलिंग, पढ़ें डिटेल

    2021 पर भी रहा कोविड 19 का साया
    साल 2021 में जब बोर्ड परीक्षाओं की डेटशीट घोषित हुई तो मार्च की शुरुआत में ही कोविड 19 (Covid 19) की दूसरी लहर बढ़ने लगी थी. मामलों की संख्या में इस कदर इजाफा हुआ था कि परीक्षाओं को आगे बढ़ाना पड़ गया था (CBSE Board Exams Cancelled). इसके बाद मई में परीक्षाओं की घोषणा की गई. लेकिन फिर भी हालात में सुधार नहीं होता देखकर बोर्ड परीक्षा को कैंसिल करने का फैसला लिया गया था. इसके साथ ही एक वैकल्पिक फॉर्मूले के तहत परीक्षा में स्टूडेंट्स को पास किया गया था.

    Tags: Year Ender 2021

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर