इस सरकारी स्‍कूल में आख‍िर क्‍यों आई है दाखिले के ल‍िए बाढ़? 30 सीटों के ल‍िए ब‍िके 500 फॉर्म


स्कूलों में पढ़ाई लिखाई कोरोना के कारण बंद हो रखी है, मगर दाखिले की दौड़ जारी है.

स्कूलों में पढ़ाई लिखाई कोरोना के कारण बंद हो रखी है, मगर दाखिले की दौड़ जारी है.

Rajasthan News: राजस्‍थान में 201 महात्मा गांधी और चार अंग्रेजी माध्यम के सरकारी स्कूल हैं, जिनमें दाखिले का दंगल दिखाई दे रहा है.

  • Share this:
स्कूलों में पढ़ाई लिखाई कोरोना के कारण बंद हो रखी है, मगर दाखिले की दौड़ जारी है. महात्मा गांधी स्कूलों को इस बार रिकॉर्ड तोड़ र‍िस्‍पॉन्‍स मिल रहा है. गिनती की सीटें खाली हैं, मगर एडमिशन चाहने वालों की तादाद सैंकड़ों में है.

राजस्‍थान के जयपुर का महात्मा गांधी स्कूल जहां सिर्फ पहली कक्षा में तीस सीटें खाली हैं, जिन पर अपने बच्चों का दाखिला पाने के लिए पेरेंटस में होड़ मची हुई है. बाकी कि किसी भी क्लास में कोई सीट खाली नहीं है. फिर भी अभिभावक राजस्‍थान सरकार के इंग्लिश मीडियम स्कूल में बच्चों के एडमिशन कराने के लिए बेचैन हैं. कतारें लंबी हैं, आखिर कोरोना ने अधिकांश लोगों की अर्थव्यवस्था को पटरी से उतार दिया है. ऐसे में महंगे स्कूलों के बजाय पेरेंटस सरकार के इंग्लिश मीडियम स्कूल का रूख कर रहे हैं.

Youtube Video


राजस्‍थान में 201 महात्मा गांधी और चार अंग्रेजी माध्यम के सरकारी स्कूल हैं, जिनमें दाखिले का दंगल दिखाई दे रहा है. ऐसे ही नजारें बाकी के स्कूलों की कामयाबी की कहानी लिखने को बेताब दिखाई दे रहे हैं. सरकार की पहल गरीब और मध्यम वर्ग को खूब रास आई है, एक तरफ कोरेाना के कारण रोजगार का संकट दूसरी ओर निजी स्कूलों की महंगी फीस से अभिभावकों की जेब खाली है.
ऐसे दौर में महात्मा गांधी स्कूलों में उन्हें बेहतर अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा और वो भी मुफ्त में मिलने का सपना साकार होता दिख रहा है. सिर्फ 30 खाली सीटों के मुकाबले पांच सौ फॉर्म बिक गये हैं. सीट न होते हुए भी पेरेंटस की जिद के कारण स्कूल प्रशासन को एडमिशन फॉर्म देना पड़ रहा है.

अभिभावकों को उम्मीद है कि उनकी मांग पर सरकार नए सेक्शन को मंजूरी देगी. क्लासरूम बन जायेंगे,,नया स्टाफ नियुक्त हो जाएंगे. मगर ये सब फिलहाल भविष्य के गर्भ में हैं, पेरेंटस की उमड़ती भीड़ से शिक्षक खुश भी हैं और हैरान भी कि आखिर बड़ी उम्मीदें लेकर स्कूल की चौखट तक आने वाले अधिकांश पेरेंटस की दाखिले की उम्मीद कैसे पूरी हो पाएगी.

ये भी पढ़ें-



Board Exams 2021: सीबीएसई के अलावा मध्य प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल समेत 7 राज्यों में परीक्षाएं स्थगित

CISCE Board Exam 2021: बोर्ड परीक्षाओं पर फैसला जल्द, जानें डिटेल

महात्मा गांधी स्कूलों में अभी सिर्फ फॉर्म मिल रहे हैं. लॉटरी कब निकलेगी ये अभी तय नहीं है, पर आम जनता ने सीएम गहलोत के इस ड्रीम प्रोजेक्ट को भरपूर समर्थन दिया है,,और इसने साधारण घरों के बच्चों को भी कॉन्वेंट स्कूलों की पढ़ाई के बराबर ला खड़ा किया है.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज