Rajasthan Board Exam: गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द

हालांकि शिक्षा राज्यमंत्री की ख्वाहिश परीक्षाएं आयोजित करवाने की थी और इसे लेकर तैयारियां भी की जा रहीं थी. लेकिन सरकार पर परीक्षाएं रद्द करने का चौतरफा दबाव था.

RBSE 10th and 12th class board exams canceled: गहलोत सरकार ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए सीबीएसई की तर्ज पर राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षायें रद्द कर दी हैं. इन परीक्षाओं में करीब 21 लाख छात्रों को शामिल होना था.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना वायरस के संक्रमण से फैली वैश्विक महामारी का असर बोर्ड की परीक्षाओं पर भी पड़ा है. सीबीएसई के बाद अब राजस्थान बोर्ड की परीक्षाएं भी रद्द (10th and 12th class board exams canceled) कर दी गई हैं. बुधवार रात को गहलोत मंत्रिपरिषद् की बैठक में लाखों छात्रों के हित को देखते हुए बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया गया है. कैबिनेट बैठक के बाद शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि अब मार्किंग सिस्टम तय कर छात्रों को प्रमोट (Promote) किया जाएगा.

डोटसरा ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा निदेशक, बोर्ड के अधिकारी और शिक्षा विभाग के अधिकारी मिलकर जल्द ही मार्किंग सिस्टम तय करेंगे. मार्किंग सिस्टम से सहमत नहीं होने वाले छात्रों के लिए कोरोना खत्म होने पर परीक्षा देने के विकल्प पर भी विचार किया जा सकता है. सीबीएसई में भी इसी तरह का विकल्प खुला रखा गया है. राजस्थान में भी उसे ही अपनाया जा सकता है.

करीब 21 लाख छात्र होते हैं शामिल
राजस्थान बोर्ड की परीक्षा में करीब 21 लाख छात्र को शामिल होना था. छात्रों के साथ ही उनके अभिभावकों को भी बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर चिंता थी और परीक्षाएं रद्द करने की मांग उठ रही थीं. खुद कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने सभी राज्यों से छात्र हित में परीक्षाएं रद्द करने का अनुरोध किया था. विपक्ष द्वारा जहां परीक्षाएं रद्द करने की मांग की जा रही थी तो वहीं कांग्रेस नेता भी परीक्षा रद्द करने के पक्ष में थे. मंत्रिपरिषद् की बैठक में सभी मंत्रियों ने परीक्षा रद्द करने पर अपनी सहमति दी. हालांकि, शिक्षा राज्यमंत्री की ख्वाहिश परीक्षाएं आयोजित करवाने की थी और इसे लेकर तैयारियां भी की जा रही थीं, लेकिन सरकार पर परीक्षाएं रद्द करने का चौतरफा दबाव था.

शैक्षणिक सत्र में शिक्षकों को राहत
राजस्‍थान के शिक्षा मंत्री ने कहा कि 7 जून से शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र पर भी बैठक में चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि जितना लॉकडाउन खुला उतने ही अनुपात में शिक्षक स्कूलों में बुलाए जाएंगे. केवल जरूरी संख्या में ही शिक्षकों को स्कूल बुलाया जाएगा और शेष को दूसरे कार्यों में लगाया जाएगा. लॉकडाउन में बाहरी जिलों से नहीं आ सकने वाले शिक्षकों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी. गुरुवार को ही इसे लेकर विस्तृत शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा.