Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    गोवा में 10वीं, 12वीं क्लास के लिए Covid-19 प्रोटोकॉल के साथ खुले स्कूल

    कोरोना वायस महामारी के कारण शैक्षणिक संस्थान मार्च से ही बंद हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
    कोरोना वायस महामारी के कारण शैक्षणिक संस्थान मार्च से ही बंद हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

    इससे पहले गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा था कि गोवा सरकार स्कूलों को खोलने के बारे में फैसला शिक्षकों समेत सभी पक्षों के साथ विचार-विमर्श करने के बाद ही लेगी.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 21, 2020, 4:05 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. कोविड-19 महामारी के कारण करीब आठ महीने से बंद चल रहे गोवा के स्कूलों में शनिवार से दसवीं और बारहवीं की कक्षाएं लगने लगीं. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने स्कूलों को निर्देश दिया है कि वे छात्रों की थर्मल स्क्रीनिंग, हाथ धोने, मास्क पहनने, कक्षाओं में सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने जैसे कोविड-19 संबंधी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का सख्ती से पालन करें.

    21 नवंबर से दसवीं और बारहवीं कक्षाएं लगाने की अनुमति
    सरकार ने स्कूलों को पुन: खोलने के शुरुआती चरण में 21 नवंबर से दसवीं और बारहवीं कक्षाएं लगाने की अनुमति दी थी. राज्य के शिक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘गोवा में शनिवार सुबह स्कूल खुले तथा दसवीं और बारहवीं की कक्षाएं लगीं. कक्षाओं को सुरक्षित बनाना सुनिश्चित करने के लिए स्कूल सभी आवश्यक एसओपी को अपना रहे हैं.’

    ये भी पढ़ें-
    School Re-Open: मुंबई में स्कूल 31 दिसम्बर तक बंद रहेंगे, बीएमसी ने की घोषणा


    जवाहर नवोदय विद्यालयों में छठीं कक्षा में दाखिले के लिए 15 दिसंबर तक करें आवेदन

    फिर से खोलने के बारे में फैसला सभी पक्षों की सहमति के बाद 
    इससे पहले गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा था कि गोवा सरकार स्कूलों को खोलने के बारे में फैसला शिक्षकों समेत सभी पक्षों के साथ विचार-विमर्श करने के बाद ही लेगी. शिक्षक संघ फिलहाल व्यक्तिगत उपस्थिति वाली कक्षाएं शुरू करने के पक्ष में नहीं हैं. उन्हें आशंका है कि स्कूलों में भौतिक दूरी कायम करना असंभव होगा. स्कूलों को फिर से खोलने के बारे में फैसला सभी पक्षों की सहमति के बाद और आवश्यक मानक संचालन प्रक्रियाओं का क्रियान्वयन करने के साथ ही लिया जाएगा. सरकार पहले दसवीं और बारहवीं कक्षा शुरू करने के बारे में विचार करेगी.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज