होम /न्यूज /education /Good News: आपका बच्चा नहीं जा पा रहा स्कूल तो चिंता न करें, घर ही आएगी टीम और फिर...

Good News: आपका बच्चा नहीं जा पा रहा स्कूल तो चिंता न करें, घर ही आएगी टीम और फिर...

Bihar news: बिहार के गोपालगंज में सभी प्रखंडों में 5 नवंबर से 25 नवंबर तक सर्वे किया जाना है. सर्वे में ऐसे बच्चों का पता लगाया जाएगा जो किसी भी कारण स्कूल नहीं पा रहे हैं

Bihar news: बिहार के गोपालगंज में सभी प्रखंडों में 5 नवंबर से 25 नवंबर तक सर्वे किया जाना है. सर्वे में ऐसे बच्चों का पता लगाया जाएगा जो किसी भी कारण स्कूल नहीं पा रहे हैं

Bihar news: बिहार के गोपालगंज में सभी प्रखंडों में 5 नवंबर से 25 नवंबर तक सर्वे किया जाना है. सर्वे में ऐसे बच्चों का प ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट- धनंजय कुमार

    गोपालगंज. 5 नवंबर से आउट ऑफ स्कूल बच्चों की खोज का सर्वे शुरू किया जायेगा. इस सर्वे के दौरान 6 से 18 साल के उम्र के वे बच्चे जो पढ़ने-लिखने की उम्र में आर्थिक तंगी, अभिवावक का घर नहीं होना, पढ़ाई में मन नहीं लगना या कॉपी किताब की कमी होना या किसी भी कारण से पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं, पढ़ाई से दूरी बनाए हुए हैं उनकी पहचान की जाएगी. विभाग द्वारा यह अभियान गोपालगंज के सभी प्रखंडों में 5 नवंबर से 25 नवंबर तक चलाया जाना है.

    24 कॉलम का प्रपत्र भरा जाएगा
    सर्वे के दौरान लगभग 24 कॉलम का प्रपत्र भरना है. जिसमें प्रखंड का नाम, पंचायत का नाम, गांव का नाम विद्यालय का नाम, बालक बालिका का नाम, माता पिता का नाम, मोबाइल नंबर और बच्चे के आधार कार्ड का नंबर के साथ दर्ज कराना होगा. ग्रामीण क्षेत्रों में देखा जाता है कि कई बच्चे के पिता प्रदेश कमाने चले जाते हैं, और बच्चे स्कूल नहीं जाते हैं. दिन भर खेलते रहते हैं या कई बच्चों के पास कॉपी और पेन तक खरीदने के लिए पैसे नहीं रहते हैं. आर्थिक तंगी रहती है, जिसके वजह से बच्चे स्कूल जाने से वंचित रह जाते हैं. ऐसे में सरकार का यह प्रयास काफी सराहनीय है.

    समग्र शिक्षा अभियान के डीपीओ ने बताया कि सभी प्रखंडों के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के साथ बैठक कर आवश्यक निर्देश दिया गया है. जिसमें किसी भी कारण से विद्यालय नहीं आने वाले बच्चों के सर्वे के लिए हेड शिक्षक से लेकर जिला और प्रखंड के शिक्षा पदाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है. इसके आलावा इस कार्य में सामाजिक कार्यों से जुड़े लोगों की भी मदद ली जाएगी.

    स्कूलों में हेल्प डेस्क बनेगी
    स्कूलों में हेल्प डेस्क भी बनाई जाएगी. जहां पर कोई भी व्यक्ति ऐसे बच्चों के बारे में सूचना दे सकता है. वहीं उन्होंने बताया कि नई शिक्षा नीति के तहत विद्यालय से बाहर के सभी बच्चों के घर घर सर्वेक्षण किया जायेगा. बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने विद्यालय नहीं जाने वाले बच्चों की पहचान के लिए सर्वेक्षण का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है. घर-घर सर्वे के दौरान स्कूल से बाहर जो भी बच्चे मिलेंगे, उनका नामांकन नजदीकी विद्यालय में कराया जाएगा.

    Tags: Bihar education, Bihar News, Gopalganj news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें