Home /News /education /

Group Captain Varun Singh: ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की स्टूडेंट्स के नाम चिट्ठी, हॉस्पिटल में जिंदगी से लड़ रहे हैं जंग

Group Captain Varun Singh: ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की स्टूडेंट्स के नाम चिट्ठी, हॉस्पिटल में जिंदगी से लड़ रहे हैं जंग

Army Helicopter Crash: ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह ने स्टूडेंट्स के नाम चिट्ठी लिखी है.

Army Helicopter Crash: ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह ने स्टूडेंट्स के नाम चिट्ठी लिखी है.

Group Captain Varun Singh, Army Helicopter Crash: हरियाणा के चंडीमंदिर में स्थित आर्मी पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य को लिखे पत्र में ग्रुप कैप्टन सिंह ने कहा, “औसत दर्जे का होना ठीक बात है. स्कूल में हर कोई उत्कृष्ट नहीं होता और सभी 90 प्रतिशत अंक नहीं ला पाते. अगर आप ऐसा कर पाते हैं तो यह एक उपलब्धि है उसकी सराहना होनी चाहिए.”

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. Group Captain Varun Singh, Army Helicopter Crash: तमिलनाडु में बुधवार 8 दिसंबर को हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना में एकमात्र जीवित बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह ने अपने स्कूल के प्रधानाचार्य को बच्चों को संबोधित करते हुए एक चिट्ठी लिखी है. इसमें उन्होंने छात्रों से कहा था कि “औसत दर्जे का होना ठीक होता है.” यह चिट्ठी सितंबर 2021 में लिखी गई थी. बता दें कि ग्रुप कैप्टन सिंह अभी बेंगलुरु के सैन्य अस्पताल में जीवन के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

    हरियाणा के चंडीमंदिर में स्थित आर्मी पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य को लिखे पत्र में ग्रुप कैप्टन सिंह ने कहा, “औसत दर्जे का होना ठीक बात है. स्कूल में हर कोई उत्कृष्ट नहीं होता और सभी 90 प्रतिशत अंक नहीं ला पाते. अगर आप ऐसा कर पाते हैं तो यह एक उपलब्धि है उसकी सराहना होनी चाहिए.” पत्र में कहा गया, “लेकिन आप ऐसा नहीं कर पाते तो यह मत सोचिये कि आप औसत दर्जे का होने के लिए बने हैं. आप स्कूल में औसत दर्जे के हो सकते हैं लेकिन इसका कतई मतलब नहीं है कि जीवन में आने वाली चीजें भी ऐसी ही होंगी.”

    ये भी पढ़ें:
    CTET Exam 2021: इस पैटर्न पर तैयार होगा CTET पेपर, पास होने के लिए इतने अंक हैं जरूरी
    UPSC Exam: चाय की दुकान से शुरू हुआ IAS बनने का सफर, जानें हिमांशु गुप्ता की सक्सेस स्टोरी

    उन्होंने लिखा था, “अपने मन की आवाज सुनिए. यह कला हो सकती है, संगीत हो सकता है, ग्राफिक डिजाइन, साहित्य इत्यादि. आप जो भी काम कीजिये उसके प्रति समर्पित रहिये, अपना सर्वोत्तम दीजिये. कभी यह सोचकर सोने मत जाइये कि आपने कम प्रयास किया.” गौरतलब है कि पिछले साल वह एक तेजस विमान उड़ा रहे थे, जिसमें एक बड़ी तकनीकी खामी आ गई थी लेकिन उन्होंने अपने साहस और सूझबूझ का परिचय देते हुए उड़ान के बीच एक भीषण दुर्घटना को टाल दिया, जिसके लिए उन्हें अगस्त में शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था. (भाषा के इनपुट के साथ)

    Tags: Deoria Group Captain Varun Singh, Indian Army Helicopter Crash, School education, Students

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर