HPBOSE : हिमाचल प्रदेश में 11वीं की परीक्षा कल से, कोरोना गाइडलाइन का होगा पालन

हिमाचल प्रदेश में 11वीं की परीक्षा 4 मार्च से तो नौंवी की 6 मार्च से शुरू हो रही है.

हिमाचल प्रदेश में 11वीं की परीक्षा 4 मार्च से तो नौंवी की 6 मार्च से शुरू हो रही है.

HPBOSE exam : हिमाचल प्रदेश में चार मार्च से करीब सात हजार स्कूलों में नौंवीं और 11वीं कक्षा की वार्षिक परीक्षाएं शुरू हो रही हैं. कोनोना महामारी के कारण परीक्षाओं के दौरान अतिरिक्त सतर्कता बरती जाएगी.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश में 11वीं की वार्षिक परीक्षा चार मार्च से शुरू हो रही है. जबकि नौंवी की परीक्षा छह मार्च से शुरू होगी. दोनों परीक्षाएं क्रमश: 27 मार्च और 25 मार्च को समाप्त होंगी. परीक्षाएं प्रदेश भर में करीब 7000 स्कूलों में आयोजित की जाएंगी. वहीं, कांगड़ा जिले में ये परीक्षाएं 534 स्कूलों में आयोजित की जाएंगी. उच्च शिक्षा विभाग की उपनिदेशक रेखा कपूर की मानें तो सालाना परीक्षाओं के लिए शिक्षा विभाग पूरी तरह से मुस्तैद है.  तैयारियां मुकम्मल की जा चुकी हैं.

छात्रों  का रखा जाएगा विशेष ख्याल 

उन्होंने कहा कि शिक्षा बोर्ड की ओर से परीक्षा पत्र तैयार किये गये हैं तो वहीं शिक्षा विभाग के कंधों पर परीक्षाओं को सुचारू रूप से सफल बनाना और संचालित करने की जिम्मेदारी है. कोरोना का संक्रमण इन दिनों सबके लिये चुनौती बना हुआ है. उसके मद्देनजर कोरोना की गाइड लाइन का पालन करते हुए परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं. साथ ही छात्रों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो इसका भी खास ख्याल रखा गया है.



छात्रों के सामने चुनौती
इधर, लंबे समय से स्कूल से दूर रहने के चलते छात्रों के सामने अलग तरह की समस्या है. पिछले शैक्षिक सत्र में लगभग पूरे समय स्कूल बंद रहने के कारण ज्यादातर छात्रों को नहीं मालूम कि जिस विषय की परीक्षा दे रहे हैं उसका सिलेबस क्या है. दरअसल, हर साल मार्च और अप्रैल में होने वाली वार्षिक परीक्षाओं के परिणाम दो से तीन महीने बाद घोषित कर दिए जाते हैं. जिसके बाद नई कक्षा में एडमिशन होते हैं और छात्रों की पढ़ाई शुरू हो जाती है.

स्कूल खुलते ही परीक्षा शुरू

पिछले शैक्षिक सत्र में स्थिति एकदम उलट रही. पिछले वर्ष 24 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन हो गया. जिसके बाद स्कूल पूरे साल खुले ही नहीं. इसके चलते उन्हें एक लंबे अरसे तक पहले तो नई कक्षा के बारे में जानकारी हासिल करने में ही वक्त लग गया. जब मालूम हुआ तो इतने लंबे अंतराल के बाद पढ़ाई शुरू करने में भी जद्दोजहद करनी पड़ी.

हालांकि शिक्षा बोर्ड और विभाग की ओर से पढ़ाई जारी रखने के लिए ऑनलाइन कक्षाएं शुरू कर दी गई थी. फिर भी हिमाचल की भौगौलिक परिस्थितियां ऑनलाइन कक्षाओं के सही तरीके से संचालन में बाधा बनीं. कई जगहों पर खराब नेटवर्क की वजह से छात्र ऑनलाइन कक्षाओं से नहीं जुड़ पाए. साल 2020 का लगभग आधे से ज्यादा का साल इसी जद्दोजहद में निपट गया. जब स्थितियां सामान्य होना शुरू हुईं तो छात्रों के स्कूल पहुंचते ही परीक्षाएं आ गई हैं.



ये भी पढ़ें- 

UPTET-2020 : यूपी टीईटी अब जुलाई तक संभव, परीक्षा नियामक को मिली ये नई जिम्मेदारी

RRB NTPC 5th Phase Exam: पांचवां फेज कल से शुरू, अभ्यर्थी अपने साथ परीक्षा केंद्र पर न लेकर जाएं ये वस्तुएं

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज