IAS Success Story: नौकरी छोड़ शुरू की तैयारी, चौथे प्रयास में पारितोष को मिली सफलता, पढ़ें पूरा सफर

जानें क्या कहते हैं यूपीएससी की परीक्षा पास करने वाले पारितोष.

जानें क्या कहते हैं यूपीएससी की परीक्षा पास करने वाले पारितोष.

IAS Success Story: सफलता ना मिले तो घबराए नहीं क्योंकि जब सफर इमानदारी से तय किया जाए तो मंजिल ना मिलने पर भी ज्यादा दुख नहीं होता बल्कि मंजिल को पाने की और भी ज्यादा हिम्मत मिलती है. परितोष खुद चार प्रयासों में से दो बार इंटरव्यू राउंड तक पहुंचे लेकिन सूची में नाम नहीं आया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2021, 10:59 AM IST
  • Share this:
IAS Success Stories: अगर सच में इंसान कुछ ठान ले और असफलताओं से न डरे तो इसे सफलता एक न एक दिन जरूर मिलती है. जिंदगी सिर्फ सफलता और असफलता नहीं है बल्कि इससे भी बढ़कर है. यह बात चौथे प्रयास में यूपीएससी निकालने वाले परितोष की कहानी से हमें पता चलती है. उन्होंने खुद अपने यूपीएससी के सफर के दौरान बहुत सी बातें सीखी और जाना कि जो सफल है और जो असफल, उनमें कोई अंतर नहीं होता. यह बस समय का फेर है जो किसी को कहीं बैठा देता है तो किसी को कहीं छोड़ देता है.

असफलता से न डरे

सफलता न मिले तो घबराए नहीं क्योंकि जब सफर ईमानदारी से तय किया जाए तो मंजिल ना मिलने पर भी ज्यादा दुख नहीं होता बल्कि मंजिल को पाने की और भी ज्यादा हिम्मत मिलती है. परितोष खुद चार प्रयासों में से दो बार इंटरव्यू राउंड तक पहुंचे लेकिन सूची में नाम नहीं आया. पहले ही प्रयास में तीनों स्टेज क्लियर कर लिया लेकिन चयन नहीं हुआ. अंततः चौथे प्रयास और तीसरे इंटरव्यू में इंटरव्यू लिस्ट में नाम दिखा. इस प्रकार उन्हें खुद यहां तक पहुंचने के लिए बहुत बुरे समय से गुजरना पड़ा मगर उन्होंने हिम्मत नहीं हारी. परितोष कहते हैं कि किसी भी परीक्षा को जीवन से बड़ा मत बनाइए. अगर आप सफल होते हैं तो बहुत अच्छी बात है पर सफल नहीं भी होते हैं तो उसे दिल से लगाने की जरूरत नहीं है. यहां नहीं तो कहीं और आपका करियर कहीं तो सेट होगा ही. जिस क्षेत्र में जाइए उसमें एक्सेल करिए. रही आस-पास वालों की बात तो उन पर ध्यान मत दीजिए जो एक एग्जाम के आधार पर आप पर सफल या असफल होने का तमगा लगाते हैं. दरअसल आपकी हस्ती इससे बहुत आगे बढ़कर है.

यूपीएससी से पहले का सफर
परितोष का जन्म बिहार के एक छोटे से गांव में हुआ और बारहवीं तक की शिक्षा वहीं पूरी हुई. इसके बाद उन्होंने बीएससी नॉटिकल साइंस का कोर्स किया और एक शिपिंग कंपनी में जॉब करने लगे. लगभग पांच साल उन्होंने यहां काम किया और उसके बाद यूपीएससी की तैयारी करने का उन्हें ख्याल आया और वह दिल्ली चले गए. सिविल सर्विसेज परीक्षा निकालने का सपना बहुत पहले ही देख लिया था मगर परिस्थितियों की वजह से उन्हें इतने साल कुछ और करना पड़ा. दिल्ली आकर उन्होंने कोचिंग ज्वॉइन की और दिन-रात तैयारी में जुट गए.

पहला प्रयास में लगा दें पूरा दम

परितोष अपना अनुभव साझा करते हुए कहते है की स्टूडेंट्स को अपने पहले प्रयास में पूरा जोर लगा देना चाहिए और उसे आखिरी प्रयास समझ के तैयारी करनी चाहिए. जब लोग उन्हें समझाते थे कि पहला प्रयास सबसे अहम होता है तो यह बात उन्हें उस समय समझ नहीं आती थी लेकिन बाद में वे जान पाए कि ऐसा क्यों कहा जाता है. दरअसल पहले प्रयास के समय आपके अंदर जो जोश, जो लगन, कड़ी मेहनत का जज़्बा और मोटिवेशन होता है वह बाकी सालों में धीरे-धीरे धुंधला पड़ने लगता है.



सबसे पहले अपना बेस मजबूत करें

परितोष कहते हैं कि जब तैयारी की बात आए तो सबसे पहले एनसीईआरटी की किताबें चुनें और इनसे बेस मजबूत करें. जो कैंडिडेट्स सीधा एडवांस बुक्स के फेर में पड़ते हैं उन्हें बाद में तमाम परेशानियां उठानी पड़ती हैं. उनके अनुसार यूपीएससी की प्री परीक्षा खासतौर पर एक ऐसा एग्जाम है जिसे बिना एनसीईआरटी पढ़े पास नहीं किया जा सकता. क्लास 6  से 12 तक की एनसीईआरटी पढ़ें और नोट्स बनाते चलें ताकि अंत में रिवीजन में आसानी हो.

मेन्स का पेपर के लिए टिप्स

परितोष के हिसाब से बाजार में हजारों किताबें हैं मगर सब के फेर में ना पड़े बल्कि अपनी एक बुक लिस्ट बनाएं और उसी को अपनी तैयारी के दौरान बार-बार रिवाइस करते रहें. ऑप्शनल सब्जेक्ट का चुनाव भी सोच समझ कर करें ताकि बाद में उसे बदलना ना पड़े. ऐसे और एथिक्स के पेपर में अतिरिक्त प्रयास करें ताकि अतिरिक्त अंक मिल सकें. एक जरूरी बात जान लें कि मेन्स में तीन घंटे में बीस प्रश्न करने होते हैं इसलिए आंसर राइटिंग प्रैक्टिस स्टूडेंट्स को लगातार करनी चाहिए जिससे परीक्षा के दिन कोई परेशानी ना हो.

ये खबरें भी पढ़ेंः

Sarkari Naukri: ग्रामीण डाक सेवक के 4269 पदों पर अप्लाई करने का आज आखिरी मौका, जल्द करें आवेदन

UP Board Time Table 2021: कब होगी बोर्ड परीक्षाएं, 56 लाख से अधिक स्टूडेंट्स को परीक्षा तारीखों का इंतजार

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज