CA Exams: हो जाएं तैयार, आज आ जायेगा एडमिट कार्ड, ऐसे करें डाउनलोड

आज जारी होगा एडमिट कार्ड.
आज जारी होगा एडमिट कार्ड.

सोशल मीडिया पर एक फेक न्यूज भी चल रही है जिसमें कहा जा रहा है कि परीक्षा को टाल दिया गया है. हालांकि, संस्थान ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए इसका खंडन कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2020, 9:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इन्स्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (Institute of Chartered Accountants of India) ICAI CA नवंबर का एडमिट कार्ड आज यानी 1 नवंबर को जारी करेगा. जो कैंडीडेट्स फाउंडेशन, इंटरमीडिएट और फाइनल कोर्स के लिए परीक्षा में शामिल होंगे वे अपना एडमिट कार्ड आधिकारिक वेबसाइट - icai.org - से डाउनलोड कर सकते हैं.

परीक्षा 21 नवंबर से लेकर 14 दिसंबर के बीच आयोजित
इन्स्टीट्यूट 7 नवंबर से ऑप्ट आउट का विंडो भी ओपन करने वाला है. नोटिस के मुताबिक जो भी कैंडीडेट इसके लिए अप्लाई करना चाहते हैं वे आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं. नवंबर की परीक्षा 21 नवंबर से लेकर 14 दिसंबर के बीच आयोजित की जाएगी. परीक्षा दोपहर दो बजे से सिंगल शिफ्ट में होगी. परीक्षा स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन्स को ध्यान में रखकर करवाई जाएगी. एडमिट कार्ड को डाउनलोड करने के लिए कैंडीडेट्स को नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा.

ICAI CA November Admit Card 2020: ऐसे करें डाउनलोड
- सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट को विजिट करें.


- होम पेज पर उपलब्ध ICAI CA नवंबर एडमिट कार्ड लिंक पर विजिट करें.
- एक नया पेज खुल जाएगा, जिसमें कैंडीडेट्स को जरूरी क्रिडेंशियल्स डालकर सब्मिट करना होगा.
- स्क्रीन पर आपका एडमिट कार्ड दिख जाएगा.
- एडमिट कार्ड को डाउनलोड करके उसकी हार्ड कॉपी रख लें.

 परीक्षा देश में 207 शहरों और देश के बाहर 5 शहरों में 
अभी तक की जानकारी के मुताबिक सीए की परीक्षा देश में 207 शहरों और देश के बाहर 5 शहरों में आयोजित की जाएगी. फाउंडेशन कोर्स 8 दिसंबर से शुरू होकर 14 दिसंबर तक चलेगी जबकि फाइनल कोर्स की परीक्षा 21 नवंबर से शुरू होकर 6 दिसंबर तक चलेगी. इसके अलावा इंटरमीडिएट की परीक्षा 22 नवंबर से शुरू होकर 7 दिसंबर तक चलेगी.

सोशल मीडिया पर फेक न्यूज, परीक्षा को टाल दिया गया
इसी बीच सोशल मीडिया पर एक फेक न्यूज भी चल रही है जिसमें कहा जा रहा है कि परीक्षा को टाल दिया गया है. हालांकि, संस्थान ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए इसका खंडन कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज