• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • IGNOU Course : इग्नू ने शुरू किया ज्योतिष में दो साल का पीजी कोर्स, इतनी है फीस

IGNOU Course : इग्नू ने शुरू किया ज्योतिष में दो साल का पीजी कोर्स, इतनी है फीस

मास्टर्स इन ज्योतिष कोर्स की शुरुआत छात्रों को ज्योतिष की विभिन्न शाखाओं की जानकारी के लिए की गई है.

मास्टर्स इन ज्योतिष कोर्स की शुरुआत छात्रों को ज्योतिष की विभिन्न शाखाओं की जानकारी के लिए की गई है.

IGNOU Course : इग्नू के नए कोर्स पोस्ट ग्रेजुएशन इन ज्योतिष में एडमिशन के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन करने वाले छात्र आवेदन कर सकते हैं. यह कोर्स दो साल का है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (IGNOU) ज्योतिष में मास्टर्स का कोर्स शुरू किया है. इग्नू की ओर से इस संबंध में एक नोटिफिकेशन भी जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि इस कोर्स की शुरुआत छात्रों को ज्योतिष की विभिन्न शाखाओं की जानकारी के लिए की गई है. इस कोर्स में किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन करने वाले छात्र आवेदन कर सकते हैं. ज्योतिष में मास्टर्स का कोर्स दो साल का है. शिक्षा का माध्यम हिंदी है. इस कोर्स के बारे में अधिक जानकारी के लिए इग्नू की वेबसाइट ignouadmission.samarth.edu.in पर विजिट कर सकते हैं. इसके प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर मानविकी विद्यापीठ में एसोसिएट प्रोफेसर (संस्कृत) डॉ. देवेश कुमार मिश्र हैं. प्रोफेसर देवेश से ईमेल drdkmishr@ignou.ac.in और फोन 01129572788 पर संपर्क किया जा सकता है.

    इग्नू की वेबसाइट पर कोर्स के बारे में कहा गया है, ''मास्टर्स इन ज्योतिष कोर्स का उद्देश्य विद्यार्थियों को भारतीय प्राच्य विद्या के अंतर्गत काल ज्ञान, ग्रह गति, सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण से लेकर भारतीय ऋषियों के मतों के आधार पर अंतरिक्ष में होने वाली घटनाओं के साथ मानव मात्र के व्यावहारिक जीवन का संचालन किस प्रकार होता है, इन तथ्थों का प्रामाणिक और विस्तृत ज्ञान प्रदान करता है. इस कार्यक्रम में अध्ययन करने वाले विद्यार्थियों को वेदांग नामक ज्योतिषशास्त्र का ज्योतिर्विज्ञान के रूप में किस प्रकार अध्ययन किया जाता है, यह भी ज्ञान होगा. प्राचीन भारत में ज्योतिषीय गणित, सिद्धांत एवं फलित की अवधारणा का विशेष ज्ञान कराने के साथ साथ विद्यार्थियों को इस कार्यक्रम की अध्ययन सामग्री के द्वारा ज्योतिष की समग्र जानकारी प्रदान की जाएगी. इस प्रकार के अध्ययन से विद्यार्थी समाज के सरोकार में रह कर अपनी विद्या से स्वयं लाभान्वित रहते हुए, सभी के हित चिंतन संलग्न रहेंगे. विषय ज्ञान के साथ साथ रोज़गार के प्रति प्रेरित करना और उसके लिए योग्य होने की क्षमता विकसित करना भी इस कार्यक्रम में सन्निहित है''.

    फीस स्ट्रक्चर-

    - 12600/- संपूर्ण कार्यक्रम के लिए
    - पहले साल 6300/-+ 200/- रजिस्ट्रेशन फीस
    - द्वितीय वर्ष- 6300/-

    कोर्स का स्ट्रक्चर
    प्रथम वर्ष:

    -भारतीय ज्योतिष का परिचय एवं ऐतिहासिकता
    -सिद्धांत ज्योतिष एवं काल
    -पंचांग एवं मुहूर्त
    -कुंडली निर्माण

    द्वितीय वर्ष:

    -फल विचार
    -गणित, ग्रहण वेध एवं यंत्रादि विचार
    -संहिता ज्योतिष
    -ज्योतिर्विज्ञान
    ये भी पढ़ें

    UP में TGT PGT की 15 हजार से ज्यादा भर्तियों के लिए लिखित परीक्षा की तिथि घोषित

    REET 2021 Exam: आरपीएससी ने बदली लेक्चरर भर्ती परीक्षा की तिथि, रीट अभ्यर्थियों को बड़ी राहत

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज