कोविड-19 में पेरेंट्स को खोने वाले छात्रों को J&K सरकार देगी विशेष छात्रवृत्ति देगी

छात्रवृत्ति इन छात्रों को भविष्य में उनके स्कूल और कॉलेज की शिक्षा के लिए मदद करेगी.

जे एंड के के गवर्नर मनोज सिन्हा ने हाल ही में ट्वीट किया, "जिन बच्चों ने अपने माता-पिता को #COVID-19 महामारी में खो दिया है, उन्हें सरकार द्वारा विशेष छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी."

  • Share this:
    नई दिल्ली. जम्मू और कश्मीर की सरकार ने महामारी से प्रभावित लोगों की मदद करने के प्रयास में उन छात्रों को विशेष छात्रवृत्ति प्रदान करने का फैसला किया है जिन्होंने अपने माता-पिता को कोविड-19 की वजह से खो दिया है. सरकार की ओर से ये पहल उन छात्रों को बिना किसी हिचकी के अपनी पढ़ाई जारी रख सकने के लिए की जा रही है.

    जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने हाल ही में उन लोगों के लिए कई राहत उपायों की घोषणा की, जो केंद्र शासित प्रदेश में कोविड-19 महामारी की चपेट में आए, जिनमें से एक उन बच्चों के लिए विशेष छात्रवृत्ति की घोषणा थी, जिन्होंने अपने माता-पिता या अभिभावकों को खो दिया था.

    छात्रवृत्ति भविष्य में छात्रों की शिक्षा के लिए मदद करेगी
    जे एंड के के गवर्नर मनोज सिन्हा ने हाल ही में ट्वीट किया, "जिन बच्चों ने अपने माता-पिता को #COVID-19 महामारी में खो दिया है, उन्हें सरकार द्वारा विशेष छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी." छात्रवृत्ति इन छात्रों को भविष्य में उनके स्कूल और कॉलेज की शिक्षा के लिए मदद करेगी.

    छात्रों के लिए छात्रवृत्ति कार्यक्रम के अलावा, उन लोगों के लिए कई विशेष लाभों की घोषणा की गई है जिन्होंने कोविड-19 में परिवार के सदस्यों को खोया है. लेफ्टिनेंट गवर्नर ने यह भी कहा कि सबसे बड़ी प्राथमिकता महामारी को हराना है और सभी को जारी दिशानिर्देशों का पालन करने का आग्रह किया है.

    जम्मू और कश्मीर के स्कूल बंद
    जम्मू-कश्मीर में भी कोविड-19 महामारी का प्रसार बढ़ा है, जिसके कारण प्रशासन को केंद्र शासित प्रदेश में कुछ प्रतिबंध लगाने पड़े. इनमें से एक क्षेत्र के सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करना है. कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण जम्मू-कश्मीर में सभी स्कूल और कॉलेज 15 मई तक बंद रहेंगे. केंद्र शासित प्रदेश में शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने की सबसे अधिक संभावना है क्योंकि कोविड-19 की स्थिति अभी भी पूरे क्षेत्र में नियंत्रण में नहीं है.

    कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बीच देश भर में लगभग हर राज्य में ऑनलाइन कक्षाएमं चल रही हैं. अगर कॉविड-19 की स्थिति बेहतर हो जाती है, तो स्कूल और कॉलेज जून के अंत या जुलाई के पहले सप्ताह से फिर से खुलेंगे. महामारी के कारण कई राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षाएं और राज्य बोर्ड परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं. इनमें से सबसे उल्लेखनीय CBSE कक्षा 12 बोर्ड परीक्षाओं का स्थगित होना और इस शैक्षणिक सत्र के लिए CBSE कक्षा 10 बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करना है.

    ये भी पढ़ें-
    Exam Postponed : UPPSC ने पीसीएस समेत जून में होने वाली ये परीक्षाएं की स्थगित
    CHSL Exam 2021: अगस्‍त में परीक्षा आयोजित कराएगा अरुणाचल प्रदेश, अगले सप्‍ताह से रजिस्‍ट्रेशन शुरू