JEE Main 2021 February exam क्रैक करने की तैयारी के लिए ये टिप्स करें फॉलो

हर विषय के लिए एक टाइमटेबल तैयार करें और उसे सख्‍ती से फॉलो भी करें.

पिछले वर्षों के एग्‍जाम टेस्‍ट पेपर, प्रैक्‍ट‍िस या मॉक टेस्‍ट पेपर मददगार होते हैं. इसलिये, छात्रों को ज्‍यादा से ज्‍यादा मॉक पेपर और टेस्‍ट पेपर सॉल्‍व करना चाहिए.

  • Share this:
    इंजीनियरिंग कालेजों में दाखिला के लिये जेईई मेंस परीक्षा 2021 से वर्ष में चार बार आयोजित की जायेगी. इसका पहला संस्करण 23 से 26 फरवरी 2021 तक होगा. इसके बाद यह मार्च, अप्रैल और मई में आयोजित होगी.

    जेईई मेंस परीक्षा 2021 के पहले संस्करण यानी फरवरी एग्जाम के लिए लगभग 2 महीने का समय बाकी है. 12वीं में पढ़ने वाले छात्रों के लिए यहां कुछ टिप्स दिए जा रहे हैं ताकि वे 12th के एग्जाम्स के साथ-साथ जेईई मेन्स की  तैयारी भी कर सके.

    परीक्षाओं की तैयारी में जुटे छात्रों पर बोर्ड परीक्षा और JEE मेन एग्‍जाम, दोनों क्‍लीयर करने का दबाव होगा. लेकिन वह अगर रणनीति तैयार कर इन दोनों की तैयारी करें तो दोनों परीक्षाओं में सफल हो सकते हैं.

    बोर्ड एग्‍जाम 2021 (Board Exam 2020)
    कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा (Class 12 Board exam papers) में डिस्क्रिप्‍ट‍िव नेचर के सवाल होते हैं, जो सिर्फ 12वीं के सिलेबस से ही पूछे जाते हैं. इसका डिफिकल्‍टी लेवल मोडरेट होता है, इसलिए औसतन छात्र परीक्षा में बेहतर स्‍कोर कर पाते हैं. इसमें नेगेटिव मार्किंग भी नहीं होती.

    जेईई मेन 2021 (JEE Main 2021)
    जेईई मेन परीक्षा (JEE Main exam) कंप्‍यूटर आधारित (CBT) होती है. इसलिये इसमें ऑ‍ब्‍जेक्‍ट‍िव सवाल पूछे जाते हैं. इसमें ज्‍यादातर सवाल कक्षा 11 और 12वीं के सिलेबस से होते हैं. बोर्ड परीक्षा से तुलना करें तो इसका डिफिकल्‍टी लेवल ज्‍यादा होता है. इसमें नेगेटिव मार्किंग भी होती है. हर गलत जवाब के साथ अंक कट जाते हैं.

    पढ़ाई के लिये टाइम-टेबल तैयार करें
    हर विषय के लिए एक टाइमटेबल तैयार करें और उसे सख्‍ती से फॉलो भी करें. टाइम के अनुसार सिलेबस को बांट लें, ताकि एक ही विषय को लंबे समय तक पढ़ने में बोरियत महसूस ना हो. 12वीं के साथ ही छात्र कुछ समय 11वीं के सिलेबस को भी दें. ताकि JEE Main exam की तैयारी भी साथ-साथ होती रहे. हर दिन के लिये एक टार्गेट बनाएं और उसे पूरा करें. अगर ऐसा करते हैं तो छात्र बोर्ड परीक्षा और JEE मेन एग्‍जाम के पूरे सिलेबस को कवर कर सकते हैं.

    ये भी पढ़ें-
    MHT CET 2020: B.Tech, B. Pharma कोर्स के लिए प्रोवीजनल मेरिट लिस्ट mahacet.org पर जारी

    बिहार स्टेट हेल्थ सोसाइटी रिक्रूटमेंट 2020: 4102 स्टाफ नर्स वैकेंसी के लिए एप्लीकेशन शुरू 

    एग्‍जाम पेपर ज्‍यादा से ज्‍यादा प्रैक्‍ट‍िस करें
    कक्षा 11वीं और 12वीं का कांसेप्‍ट क्‍लीयर होना बहुत जरूरी है. इसमें पिछले वर्षों के एग्‍जाम टेस्‍ट पेपर, प्रैक्‍ट‍िस या मॉक टेस्‍ट पेपर मददगार होते हैं. इसलिये, छात्रों को ज्‍यादा से ज्‍यादा मॉक पेपर और टेस्‍ट पेपर सॉल्‍व करना चाहिए. ध्‍यान रहे कि आपको यह तीन घंटे के फॉर्मेट में ही पूरा करना है. अगर आप इन सुझावों को मानते हैं तो आप JEE मेन और बोर्ड एग्‍जाम, दोनों में सफलता प्राप्‍त कर सकते हैं.