जेईई मेन मार्च 2021 का परिणाम जारी, 13 स्टूडेंट्स ने पाया 100 पर्सेन्टाइल स्कोर, पढ़ें काव्या और मृदुल की कहानी

जेईई मेन मार्च  सत्र की परीक्षा का रिजल्ट जारी.

जेईई मेन मार्च  सत्र की परीक्षा का रिजल्ट जारी.

300 में से 300 स्कोर व 100 पर्सेन्टाइल स्कोर करने वाले मृदुल अग्रवाल ने बताया कि फरवरी जेईई-मेन के बाद मार्च में भी 100 पर्सेन्टाइल प्राप्त किया है.

  • Last Updated: March 25, 2021, 12:19 PM IST
  • Share this:
कोटा. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा बुधवार देर रात जेईई मेन मार्च 2021 का परिणाम जारी कर दिया गया है. जेईई मेन मार्च अटैम्प्ट की परीक्षा 16 से 18 मार्च तक देश व विदेश के 334 शहरों के 792 परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित की गई थी. परिणामों मे कोचिंग सिटी के स्टूडेंट्स ने शानदार प्रदर्शन किया है. कोचिंग संस्थान के निर्देशक बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा घोषित जेईई मेन मार्च के परिणामों में कोटा ने एक बार फिर नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं. जारी परिणामों में छात्रा काव्या चैपड़ा ने 300 में से 300 अंक प्राप्त किए हैं. इसके साथ ही कई अन्य विद्यार्थियों ने 100 पर्सेन्टाइल में जगह बनाई है.

13 स्टूडेंट्स ने पाया 100 पर्सेन्टाइल स्कोर
बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि एनटीए द्वारा पूरे देश में 13 स्टूडेंट्स ने 100 पर्सेन्टाइल स्कोर किया, जिनमें 4 क्लासरूम स्टूडेंट्स हैं कोचिंग सिटी कोटा के है . इसमें काव्या चोपड़ा ने 100 पर्सेन्टाइल के साथ 300 में से 300 अंक प्राप्त किए हैं.

जेईई-मेन परीक्षा के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी छात्रा ने पूरे में से पूरे अंक प्राप्त किए हों, इस परफेक्ट स्कोर को प्राप्त करने के साथ ही काव्या पहली छात्रा हो गई है. काव्या ने दिल्ली भी टाॅप किया है.
इसके साथ ही छात्र मृदुल अग्रवाल ने भी 100 पर्सेन्टाइल स्कोर के साथ-साथ 300 में से 300 परफेक्ट स्कोर प्राप्त किया है.



वहीं छात्र जैनिथ मल्होत्रा व रोहित सिंह ने भी 100 पर्सेन्टाइल स्कोर किया है. फरवरी जेईई-मेन के परिणामों के साथ मार्च में भी कोटा का दबदबा देखा गया था. मृदुल, जैनिथ, रोहित सिंह ने राजस्थान से 100 पर्सेन्टाइल स्कोर किया है. शिक्षा नगरी से बड़ी संख्या में जेईई-मेन मार्च में भी बड़ी तादाद में विद्यार्थियों को सफलता मिलने की आशा है.

काव्या ने रचा इतिहास
जेईई-मेन में पहली बार किसी छात्रा ने प्राप्त किए 300 में से 300 अंक
काव्या चैपड़ा के पिताः विकास चैपड़ा (सॉफ्टवेयर इंजीनियर)
मांः शिखा चैपड़ा (टीचर)
जेईई मेन मार्च: 300/300 व 100 पर्सेन्टाइल
जन्मतिथिः 6 जनवरी 2004

काव्या आगो क्या करना चाहती हैं
जेईई मेन में पहली बार 300 में से 300 परफेक्ट स्कोर हासिल कर इतिहास रचने वाली छात्रा काव्या आईआईटी मुमबई से कम्प्यूटर साइंस में बीटेक करना चाहती है. काव्या पहली छात्रा है जिसने जेईई मेन परीक्षा में पूरे में से पूरे अंक हासिल किए हैं. काव्या ने बताया कि मैंने फरवरी अटैम्प्ट में मैंने 99.97 परसेन्टाइल स्कोर किए थे लेकिन मेरा टारगेट 99.98 परसेन्टाइल से ज्यादा स्कोर करने का था, इसलिए मैंने जेईई मेन मार्च अटैम्प्ट दिया था. पहले अटैम्प्ट में फिजिक्स और कैमिस्ट्री पर ज्यादा फोकस किया था. फिर भी कैमिस्ट्री में कम मार्क्स आए थे. इसके बाद मैंने 15 दिनों के अंतराल में कैमिस्ट्री पर ज्यादा ध्यान दिया और मार्च अटैम्प्ट दिया.

मैंने 10वीं कक्षा 97.6 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण की है. 11वीं कक्षा में एनएसइए और 9वीं कक्षा से लगातार आरएमओ क्वालिफाइड कर रही हूं. 10वीं कक्षा में आइएनजेएसओ क्वालिफाइड करने के बाद होमी जहांगीर भाभा सेंटर, मुम्बई में आयोजित कैम्प में शामिल हुई थी. आईओक्यूपी, आईओक्यूसी और आईओक्यूएम तीनों क्वालिफाइड कर चुकी हूं.

काव्या का शेड्यूल
मैं रोजाना 7-8 घंटे सेल्फ स्टडी करती हूं और तीनों सब्जेक्ट्स को बराबर समय देती हूं. कोटा जैसा माहौल, बेस्ट पीयर ग्रुप और कम्पीटिशन देश में कहीं नहीं है, इसलिए मैंने जेईई की तैयारी के लिए कोटा आने का निर्णय लिया. कोटा में अनुभवी फैकल्टीज है जो पूरा सपोर्ट करती है. भविष्य में आईआईटी मुम्बई सीएस ब्रांच से बीटेक करने के बाद सोफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहती हूं. परिवार मूलरूप से दिल्ली में निवास करता है. पिता इंजीनियर हैं तो मेरी भी रूचि इंजीनियरिंग में थी. मैथ्स और फिजिक्स पसंद है इसलिए जेईई में जाना तय किया.

300 में से 300 स्कोर व 100 पर्सेन्टाइल स्कोर करने वाले मृदुल अग्रवाल
300 में से 300 स्कोर व 100 पर्सेन्टाइल स्कोर करने वाले मृदुल अग्रवाल ने बताया कि फरवरी जेईई-मेन के बाद मार्च में भी 100 पर्सेन्टाइल प्राप्त किया है. फरवरी में परफेक्ट स्कोर करने से बचे मृदुल ने इस परीक्षा में पूरे में से पूरे अंक भी प्राप्त किए. समय का सदुपयोग करने की कोशिश करने वाले मृदुल अग्रवाल ने कहा कि मैं पिछले तीन साल से कोटा में कोचिंग में पढ़ रहा हूं. 100 पर्सेन्टाइल को लेकर कोशिश की थी, जो सफल रही.

ये भी पढ़ें-
SAI Recruitment 2021: भारतीय खेल प्राधिकरण में निकली हैं बंपर भर्तियां, जानें डिटेल
GIC Recruitment 2021: भारतीय सामान्य बीमा निगम में कई पदों पर नौकरियां, जानें डिटेल

मृदुल अग्रवाल का रोज़ाना का शेड्यूल
मैं रोजाना का टारगेट लेकर पढ़ाई करता हूं और उस दिन वो टॉपिक खत्म करके ही सोता हूं, सुबह की भी तैयारी रहती है कि अगले दिन क्या पढ़ाई करनी है. रोजाना 6 से 8 घंटे सेल्फ स्टडी हो जाती है. लॉकडाउन के चलते पिछले दिनों मुझे लाभ हुआ. घर बैठकर ही पढ़ाई की, ऑनलाइन से बहुत लाभ हुआ. इसके साथ ही कोचिंग की ऑनलाइन पढ़ाई में अन्य स्टूडेंट्स का साथ मिला तो डाउट इंटरेक्शन और बढ़ गया. अब जेईई-एडवांस्ड का टारगेट है और आईआईटी मुम्बई से कम्प्यूटर साइंस की पढ़ाई करना चाहता हूं.

मृदुल अग्रवाल के परिवार के बारे में
उनके पापा प्रदीप अग्रवाल एक प्राइवेट फर्म में अकाउंट्स मैनेजर हैं. वहीं मां पूजा अग्रवाल गृहिणी हैं. मुझे पूरे साल मां और टीचर्स ने पढ़ाई के लिए खूब मोटिवेट किया. मूवीज देखना अच्छा लगता है. कक्षा 10 में सीबीएसई बोर्ड में 98.2 प्रतिशत अंक प्राप्त किए. खुद का स्टार्टअप शुरू करना चाहता हूं. परिवार मूलतः जयपुर निवासी है.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज