JEE Main: जेईई मेन में 99.9 पर्सेंटाइल पाने वाले बनारस के ईशान ने कहा, एडवांस की तैयारी में ये बातें हैं जरूरी

जेईई मेन में 99.9 पर्सेंटाइल लाने वाले ईशान ने बताया जेईई एडवांस की तैयारी कैसी चल रही

16 साल के ईशान राज ने कहा कि वर्तमान रैंक के साथ, मुझे लगता है कि मुझे एनआईटी मिलेगा, इसलिए संघर्ष अभी जारी है. मैं आईआईटी बॉम्बे, दिल्ली या मद्रास में जगह बनाना चाहता हूं. ऐसा तभी होगा जब मैं जेईई एडवांस में अच्छे रैंक प्राप्‍त करूंगा.

  • Share this:
    वाराणसी: इस साल फरवरी में आयोजित जेईई मेन 2021 (JEE Main result 2021) में वाराणसी के ईशान राज ने 99.96 पर्सेंटाइल स्कोर हासिल किया है. वह इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में बैठने वाले लाखों छात्रों से आगे हैं, हालांकि, राज अपनी प्रशंसा पर गुमान नहीं कर रहे हैं. उनका दावा है कि उनका वर्तमान स्कोर उन्हें एक अच्छे एनआईटी में प्रवेश दिला सकता है. लेकिन उनका सपना आईआईटी-बॉम्बे में प्रवेश लेना है. वह कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग करना चाहते हैं. इसलिये राज ने पहले से ही जेईई एडवांस की तैयारी शुरू कर दी है.

    IIT प्रवेश – JEE एडवांस – 3 जून को आयोजित होने वाला था, जिसे अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया है. स्कूलों और कोचिंग संस्थानों दोनों के बंद होने के साथ लॉकडाउन के दौरान, तैयारी पर एकाग्रता बनाए रखना कई उम्मीदवारों के सामने आने वाले प्रमुख मुद्दों में से एक है. हालांकि, राज ने अपने सीखने के तरीके को बदल दिया है.

    कई छात्रों की तरह, राज ने भी 10वीं कक्षा से प्रवेश परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी. हालांकि, उन्होंने कक्षा 8वीं से ही इंजीनियरिंग बनने का फैसला किया था. राज कहते हैं कि दरअसल, जेईई कॉन्‍सेप्‍ट की समझ की परीक्षा है.

    अपनी फरवरी की परीक्षा में, राज ने भौतिकी में 99.96 पर्सेंटाइल के साथ उच्चतम स्कोर प्राप्त किया था, उसके बाद केमिस्ट्री ने 99.92 पर और गणित ने 99.61 पर्सेंटाइल के साथ प्राप्त किया थाा.

    आठवीं कक्षा के बाद से मैंने इंजीनियरिंग में जाने का फैसला किया. मैंने प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अपना शोध शुरू किया और अपने स्कूल के सीनियर्स से जेईई एडवांस और मेन्स के बारे में जाना. इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए यात्रा लंबी और कड़ी मेहनत से भरी रही है. 16 वर्षीय ईशान ने कहा कि मौजूदा रैंक के साथ, मुझे लगता है कि मैं इससे एनआईटी में जगह बनाऊंगा, इसलिए आईआईटी में जगह बनाने के लिए संघर्ष करना होगा. तभी मैं बॉम्बे, दिल्ली या मद्रास में से किसी में दाखिला ले पाऊंगा. मैं जेईई एडवांस में अच्छे रैंक की उम्मीद कर रहा हूं. मेरी सबसे पसंदीदा शाखा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) बॉम्बे में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (सीएसई) होगी.

    न्‍यूज18 की रिपोर्ट के अनुसार ईशान ने उन्‍हें बताया कि लॉकडाउन चरण ने ईशान को समय के वास्तविक महत्व का एहसास हुआ. ईशान ने कहा कि मैं परीक्षा के लिए दिन में लगभग 8-10 घंटे पढ़ाई करता हूं. एक विषय को दो घंटे से ज्‍यादा नहीं पढ़ता. उसके बाद ब्रेक लेता हूं और फिर दूसरे विषय की तैयारी करता हूं.

    डालिम्स सनबीम स्कूल और छात्रावास के स्‍टूडेंट, राज की मां टीचर हैं और पिता बिजनेस मैन. घर पर घंटों पढ़ाई के दौरान राज के माता पिता उन्‍हें शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहने के लिए रोजाना शाम में कम से कम 45 मिनट पैदल चलने के लिए प्रोत्साहित करते हैं.

    परीक्षा की तैयारी के बारे में बताते हुए ईशान राज ने कहा कि मैं सबसे आसान प्रश्‍नों के उत्‍तर सबसे पहले हल करता हूं. सबसे बाद में सबसे मुश्‍कि‍ल प्रश्‍नों को देखता हूं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.