Jharkhand board exam 2021: झारखंड में 10वीं 12वीं के एग्जाम 9 मार्च से शुरू, डिटेल में देखें शेड्यूल

कक्षा 10 और 12 के लिए पाठ्यक्रम में 40% की कमी भी की गई है.

कक्षा 10 और 12 के लिए पाठ्यक्रम में 40% की कमी भी की गई है.

झारखंड में 21 दिसंबर से कक्षा 10, 12 के छात्रों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2021, 11:12 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) ने कोविड -19 प्रोटोकॉल का कड़ाई से अनुपालन करते हुए 9 से 26 मार्च, 2021 तक कक्षा -10 (मैट्रिकुलेशन) और कक्षा -12 (इंटरमीडिएट) के लिए बोर्ड परीक्षाएं आयोजित करने का फैसला किया है. ये जानकारी अधिकारियों ने सोमवार को दी.

बोर्ड परीक्षाएं दो पालियों में
सोमवार को JAC की उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया. जेएसी के अध्यक्ष अरविंद प्रसाद सिंह ने कहा, बोर्ड परीक्षाएं दो पालियों में आयोजित की जाएंगी. मैट्रिक की परीक्षा पहली पाली में, जबकि दूसरी पाली में इंटरमीडिएट की परीक्षा होगी.

जेएसी के एक अधिकारी ने कहा कि कक्षा 8, 9 और 11 की परीक्षाएं अप्रैल में होनी हैं. सिंह ने कहा कि परीक्षाओं का विस्तृत कार्यक्रम एक या दो दिन में तैयार कर लिया जाएग.
लगभग सात लाख छात्र मैट्रिक और इंटर की परीक्षा देंगे


हर साल लगभग सात लाख छात्र मैट्रिक और इंटर की परीक्षा देते हैं. 2020 में, 3.87 लाख से अधिक छात्रों ने मैट्रिक (कक्षा -10) परीक्षा दी, जबकि 2.34 लाख से अधिक छात्र इंटरमीडिएट (कक्षा -12) की परीक्षाओं में शामिल हुए.

बोर्ड परीक्षाओं के फॉर्म भरने का काम दो जनवरी से शुरू
दोनों बोर्ड परीक्षाओं के फॉर्म भरने का काम इस साल दो जनवरी से शुरू हुआ था. आमतौर पर, कक्षा 10 और 12 के लिए बोर्ड परीक्षाएं फरवरी में आयोजित की जाती हैं. पिछले साल कोविड महामारी के कारण परीक्षाओं को एक महीने के लिए आगे बढ़ा दिया गया था, जिसने शैक्षणिक गतिविधियों को बुरी तरह प्रभावित किया.

परीक्षाओं के लिए प्रश्न पैटर्न भी संशोधित
पिछले साल मार्च से स्कूलों बंद होने के मद्देनजर, जेएसी ने आगामी बोर्ड परीक्षाओं के लिए प्रश्न पैटर्न को भी संशोधित किया है. पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्नों की संख्या अधिक होगी. जेएसी के अध्यक्ष ने कहा, "विषयों के आधार पर एक पेपर में 30% से 40% वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होंगे."

 कक्षा 10 और 12 के लिए पाठ्यक्रम में 40% की कमी 
झारखंड में 21 दिसंबर से कक्षा 10, 12 के छात्रों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी गई है. इससे पहले, राज्य के स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग ने महामारी को देखते हुए कक्षा 10 और 12 के लिए पाठ्यक्रम में 40% की कमी कर दी थी.

ये भी पढ़ें-
IIT में दाखिले के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया & JEE एडवांस्ड की तारीख का ऐलान 7 Jan को
मध्यप्रदेश प्री नर्सिंग सेलेक्शन टेस्ट के लिए 5 जनवरी से आवेदन शुरू, जानें डिटेल

कक्षा 10 के पाठ्यक्रम में से काफी अध्यायों को हटा दिया गया
गणित और विज्ञान में कई उप-विषय हटा दिए गए हैं. इसके अलावा, कक्षा 9 में पढ़ने वाले छात्रों के लिए कक्षा 10 के पाठ्यक्रम में से काफी अध्यायों को हटा दिया गया है. क्लास 12 के सिलेबस के लिए भी यही किया गया था. अधिकारियों ने कहा कि अगस्त तक तालाबंदी के दौरान छात्रों को जो डिजिटल सामग्री उपलब्ध कराई गई है, उसे बरकरार रखा गया है.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज