Home /News /education /

Knowledge: CBSE मार्कशीट में लिखे होते हैं ऐसे शॉर्ट फॉर्म, क्या आप जानते हैं इनके मतलब?

Knowledge: CBSE मार्कशीट में लिखे होते हैं ऐसे शॉर्ट फॉर्म, क्या आप जानते हैं इनके मतलब?

सीबीएसई बोर्ड मार्कशीट

सीबीएसई बोर्ड मार्कशीट

Knowledge, CBSE Board Result, CBSE Board Marksheet, Full Forms: सीबीएसई बोर्ड 10वीं और 12वीं की मार्कशीट (CBSE Board Marksheet) में कुछ शॉर्ट फॉर्म (Short Forms) लिखे होते हैं. अगर आप सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) के छात्र हैं या किसी विद्यार्थी के अभिभावक हैं तो आपके लिए इन शॉर्ट फॉर्म का सही मतलब जानना बहुत जरूरी है. इससे आप अपने बोर्ड रिजल्ट (CBSE Board Result) को बेहतर तरीके से समझ सकेंगे और आपको किसी अन्य व्यक्ति से इनके बारे में नहीं पूछना पड़ेगा. जानिए सीबीएसई बोर्ड रिजल्ट मार्कशीट पर लिखे शॉर्ट फॉर्म के मतलब (Short Forms Written On CBSE Board Marksheet).

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली (Knowledge, CBSE Board Marksheet). कोविड 19 संक्रमण (Covid 19) ने शिक्षा जगत (Education) को काफी हद तक बदल दिया है. अब पढ़ाई के तौर-तरीकों के साथ ही परीक्षाएं आयोजित करने का तरीका और रिजल्ट घोषित होने की प्रक्रिया तक में बहुत बदलाव आ चुका है. पिछले साल यानी 2020 में सीबीएसई बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट (CBSE Board Result) जारी होने के बाद उसकी मार्कशीट में भी कई नई चीजें देखी गई थीं. सीबीएसई बोर्ड मार्कशीट (CBSE Board Marksheet) में कुछ शॉर्ट फॉर्म (Short Forms) लिखे हुए थे, जिनकी जानकारी हर किसी को होनी चाहिए.

    सीबीएसई बोर्ड मार्कशीट (CBSE Board Marksheet) में कुछ संक्षिप्त अक्षर (Short Forms) लिखे होते हैं. सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) के छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों को इनके फुल फॉर्म जरूर पता होने चाहिए. इससे न सिर्फ उनका ज्ञान बढ़ेगा, बल्कि रिजल्ट (CBSE Board Result) को समझने में किसी तरह की परेशानी भी नहीं आएगी. जानिए सीबीएसई बोर्ड मार्कशीट में लिखे खास शब्दों के फुल फॉर्म (Full Forms).

    1- RT- इसका फुल फॉर्म ‘रिपीट थ्योरी’ (Repeat Theory) है. छात्रों को थ्योरी और प्रैक्टिकल, दोनों परीक्षाएं पास करनी होती हैं. किसी विषय के लिए RT लिखे होने का अर्थ होता है कि छात्रों को कम्पार्टमेंट परीक्षा के दौरान उस विषय की थ्‍योरी परीक्षा देनी होगी.

    2- RW- इसका फुल फॉर्म ‘रिजल्ट विथहेल्ड’ (Result Withheld) है यानी रिजल्‍ट रोका जाना. यह कई कारणों से हो सकता है. यह किसी तकनीकी खामी या कदाचार के मामलों पर विवाद की वजह से भी हो सकता है. इसे लेकर अधिक स्‍पष्‍टता छात्रों के साथ अगल-अलग माध्‍यमों से साझा की जाती है.

    3- RL- इसका फुल फॉर्म है, ‘रिजल्‍ट लेटर’ (Result Later) यानी परिणाम बाद में आएगा. पिछले साल कोरोना वायरस महामारी के कारण कुछ विषयों की परीक्षाएं नहीं हो पाई थी, जिन्‍हें बाद में रद्द कर दिया गया. बोर्ड ने ऐसे पेपर्स के मूल्यांकन को लेकर भी विस्‍तृत क्राइटेरिया जारी किया था. इन मानदंडों के आधार पर 12वीं के करीब 400 छात्रों के अंकों की गणना नहीं की जा सकी थी, जिसके कारण उनका रिजल्‍ट जारी नहीं किया गया था.

    ये भी पढ़ें:
    CBSE Private Schools: सप्ताह में तीन दिन ऑनलाइन-ऑफलाइन होगी क्लास
    CBSE Term 1 Exam: टर्म 1 बोर्ड परीक्षा के लिए जानें नए दिशा निर्देश, दर्ज करा सकते हैं प्रश्नों पर आपत्ति

    4- COMP- यह संक्षिप्त अक्षर कम्पार्टमेंट (Compartment) के लिए लिखा जाता है. जो छात्र किसी विषय में न्यूनतम अंक भी उत्तीर्ण नहीं कर पाते हैं, उन्‍हें कंपार्टमेंट परीक्षा देनी होती है. इसका श‍ेड्यूल बाद में जारी किया जाता है. जो छात्र 5 विषयों में 33 प्रतिशत यानी आवश्यक कुल अंक हासिल करने में कामयाब नहीं हो पाते हैं, उन्‍हें उस विषय में कंपार्टमेंट परीक्षा देनी होगी, जिसमें वे असफल रहे हैं.

    5- XXXX- यह एक नया संक्षिप्त अक्षर है, जिसका मतलब इंप्रूवमेंट (Improvement) यानी सुधार से है. यह अनिवार्य रूप से उन छात्रों के लिए है, जिन्‍होंने 6 विषयों की परीक्षा दी है, लेकिन एक विषय में असफल हुए हैं, जबकि बाकी 5 विषयों में उन्‍हें न्यूनतम 33 प्रतिशत अंक हासिल हुए हैं. सुधार परीक्षा देना अनिवार्य नहीं है और बोर्ड परीक्षा में छात्रों को ‘पास’ माना जाता है. ये छात्र अगले वर्ष की बोर्ड परीक्षा में सुधार के लिए प्राइवेट उम्मीदवार के तौर पर शामल हो सकते हैं. यह छात्रों के ऊपर है कि वे परीक्षा देना चाहते हैं या नहीं.

    6- ER- साल 2020 में सीबीएसई ने ‘FAIL’ शब्‍द को हटाकर इसकी जगह ER यानी Essential Re-appear शब्‍द का इस्‍तेमाल किया था. जिन छात्रों की मार्कशीट पर ER लिखा होगा, उन्‍हें अगले साल फिर से सीबीएसई कक्षा 12वीं या 10वीं बोर्ड परीक्षा के सभी विषयों में शामिल होना होगा.

    इनके अलावा कुछ अन्‍य संक्षिप्‍त अक्षर भी हैं, जिनके अलग-अलग अर्थ हैं, जैसे- ABST (एबसेंट यानी अनुपस्थित होना), NE यानी नॉट एलिजिबल (Not Eligible), UFM यानी अनफेयर मीन्‍स (Unfair Means), SJD यानी सबज्यूडिस (Sub Judice) और NR यानी नॉट रजिस्टर्ड (Not Registered). छात्रों को जो मार्कशीट मिलेगी, उसके इंडेक्‍स में भी इन सबके बारे में विस्‍तृत जानकारी होगी.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर