होम /न्यूज /education /Knowledge: सावधान! अच्छे नंबर लाने के लिए छात्र खा रहे हैं 'स्टडी ड्रग', जानिए इसके विकल्प

Knowledge: सावधान! अच्छे नंबर लाने के लिए छात्र खा रहे हैं 'स्टडी ड्रग', जानिए इसके विकल्प

छात्रों के लिए हानिकारक है स्टडी ड्रग का सेवन

छात्रों के लिए हानिकारक है स्टडी ड्रग का सेवन

Knowledge, Study Drugs, ADHD: ब्रिटेन की कई यूनिवर्सिटी में छात्रों पर अच्छे नंबर लाने का दबाव काफी बढ़ गया है (British ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली (Knowledge, Study Drugs). ब्रिटेन कई कई यूनिवर्सिटी (British University) के छात्रों ने स्वीकारा है कि वे परीक्षाओं से पहले स्टडी ड्रग (Study Drugs) का सहारा लेते हैं. उनका मानना है कि इससे उनका दिमाग ज्यादा बेहतर क्षमता के साथ काम करता है और वे परीक्षा में चीजों को अच्छी तरह से याद रख पाते हैं. हालांकि, स्टडी ड्रग जैसी दवाइयां फिजिकल और मेंटल हेल्थ पर काफी गलत असर भी डालती हैं (Medicine Side Effects).

    ‘द टाइम्‍स’ की रिसर्च रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ऑक्‍सफोर्ड (Oxford University), नॉटिंग्‍घम, एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी और लंदन स्‍कूल ऑफ इकोनॉमिक्‍स से ग्रेजुएशन करने वाले स्‍टूडेंट्स ने स्टडी ड्रग (Study Drugs) का सेवन करने की बात कबूली है. सिर्फ यही नहीं, इन छात्रों की मानें तो ये दवाइयां आसानी से उपलब्ध हैं और वहां इन्हें कोई भी खरीद सकता है. इनकी मदद से वे परीक्षाओं में बेहतर अंक हासिल कर सकते हैं.

    ADHD से पीड़ित छात्रों को दी जाती थी दवा
    स्टडी ड्रग (Study Drugs) पहले ADHD से जूझ रहे मरीजों को दिए जाते थे. दरअसल, ADHD के मरीज एकाग्रता के साथ पढ़ाई या कोई काम नहीं कर पाते हैं. इसलिए उनके दिमाग की क्षमता को बढ़ाने के लिए उन्हें इसी तरह के ड्रग्स यानी दवाइयां प्रिस्क्राइब की जाती हैं. लेकिन अब ऐसे लोग या छात्र भी इन दवाइयों का सेवन करने लगे हैं, जिनका ADHD से कोई लेना-देना नहीं है.

    ये भी पढ़ें:
    Knowledge: बैंक को हिंदी में क्या कहते हैं? जानिए अंग्रेजी के लोकप्रिय शब्दों का हिंदी ट्रांसलेशन
    Knowledge: इंग्लिश डिक्शनरी में हैं हिन्दी के ये चर्चित शब्द, क्या आपको थी इसकी जानकारी?

    हैरान कर देंगे साइ़ड इफेक्ट
    किड्स हेल्‍थ की रिपोर्ट में विशेषज्ञों ने इस तरह की दवाइयों के साइड इफेक्ट बताए हैं (Medicine Side Effects). एक्‍सपर्ट का कहना है, ये दवाएं खासतौर पर ADHD जैसी बीमारियों से जूझ रहे मरीजों को दी जाती हैं. ये उनकी समस्‍या और बीमारी के स्‍तर के मुताबिक ही प्रिस्‍क्राइब की जाती हैं. अगर कोई आम इंसान इनका सेवन करता है तो उसे कई तरह के साइड इफेक्‍ट से जूझना पड़ सकता है. इसमें सबसे ज्‍यादा खतरा दिल और‍ दिमाग को हो सकता है, जैसे- हाई ब्‍लड प्रेशर, धड़कन का अनियमित होना, हार्ट फेल होना, दौरे पड़ना आदि (Medicine Side Effects).

    बेहतर हैं स्‍टडी ड्रग के विकल्‍प
    कई स्टडी में साबित हुआ है कि आम लोगों को स्‍टडी ड्रग (Study Drugs) लेने की जरूरत नहीं होती है. इनका सेवन करने के बजाय वे अपने रूटीन में कुछ बदलाव कर सकते हैं-
    1- मेडिटेशन- रोजाना कुछ मिनट मेडिटेशन करें. इससे तनाव दूर होगा और दिमाग भी एकाग्र होकर काम करेगा.
    2- स्लीप रूटीन- ब्रेन की एकाग्रता बढ़ाने के लिए पूरी नींद लेना जरूरी है. रोजाना रात में ली गई 9 घंटे की नींद स्‍ट्रेस और डिप्रेशन को कम करती है.
    3- एक्‍सरसाइज- सही वर्कआउट का असर पूरे शरीर पर पड़ता है. इससे बॉडी एक्टिव रहती है, लर्निंग स्किल बेहतर होती है और मेमोरी बढ़ती है. इसके अलावा मूड भी अच्छा रहता है.
    4- हेल्‍दी डाइट- हेल्‍दी बॉडी और हेल्‍दी माइंड के लिए अपने खान-पान में बदलाव करें. इसके लिए डाइट में साबुत अनाज, फल, सब्‍जियां और मछली शामिल करें.

    Tags: Brain power, Britain, Oxford university, Students, Study

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें