Home /News /education /

Literacy Rate Index : साक्षरता दर सूचकांक में पश्चिम बंगाल - केरल का पहला स्थान, जानें कौन सा राज्य रहा सबसे पिछड़ा

Literacy Rate Index : साक्षरता दर सूचकांक में पश्चिम बंगाल - केरल का पहला स्थान, जानें कौन सा राज्य रहा सबसे पिछड़ा

Literacy Rate Index : साक्षरता दर सूचकांक में पश्चिम बंगाल का पहला स्थान

Literacy Rate Index : साक्षरता दर सूचकांक में पश्चिम बंगाल का पहला स्थान

Literacy Rate Index : इंस्टीट्यूट फॉर कॉम्पिटिटिवनेस' द्वारा आधारभूत साक्षरता और गणना पर सूचकांक के संबंध में रिपोर्ट तैयार की गई और प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी-पीएम) अध्यक्ष बिबेक देबरॉय द्वारा जारी की गई है. पश्चिम बंगाल सूची में सबसे ऊपर है. वहीं बिहार इस लिस्ट में सबसे नीचे है. छोटे राज्यों की श्रेणी में केरल ने शीर्ष स्थान हासिल किया और झारखंड सूचकांक में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला राज्य रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. Literacy Rate Index : देश में 10 साल से कम उम्र के बच्चों में साक्षरता का संकेतक ‘आधारभूत साक्षरता और गणना पर सूचकांक’ में ‘बड़े राज्यों’ की श्रेणी में पश्चिम बंगाल सूची में सबसे ऊपर है. वहीं बिहार इस लिस्ट में सबसे नीचे है. छोटे राज्यों की श्रेणी में केरल ने शीर्ष स्थान हासिल किया और झारखंड सूचकांक में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला राज्य रहा है. बता दें कि चार श्रेणियों (बड़े राज्य, छोटे राज्य, केंद्र शासित प्रदेश और पूर्वोत्तर) में क्षेत्रों को विभाजित किया गया है.

    इंस्टीट्यूट फॉर कॉम्पिटिटिवनेस’ द्वारा आधारभूत साक्षरता और गणना पर सूचकांक के संबंध में रिपोर्ट तैयार की गई और प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी-पीएम) अध्यक्ष बिबेक देबरॉय द्वारा जारी की गई है. रिपोर्ट में कहा गया कि सभी के लिए गुणवत्तापूर्ण मूलभूत साक्षरता और संख्यात्मकता सुनिश्चित करने की चुनौती कठिन है, फिर भी इसे हासिल करना असंभव नहीं है.

    लक्षद्वीप और मिजोरम भी टॉप पर
    ईएसी-पीएम ने एक बयान में कहा, शीर्ष अंक हासिल करने वाले क्षेत्र क्रमशः केरल (67.95) और पश्चिम बंगाल (58.95) क्रमश: छोटे और बड़े राज्यों में हैं. लक्षद्वीप (52.69) और मिजोरम (51.64) क्रमशः केंद्र शासित प्रदेश और पूर्वोत्तर राज्य श्रेणी में शीर्ष अंक हासिल करने वाले क्षेत्र हैं. सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले क्षेत्रों में लद्दाख केंद्र शासित प्रदेशों की सूची में सबसे नीचे है, जबकि अरुणाचल प्रदेश पूर्वोत्तर श्रेणी में सबसे आखिर है.

    ये भी पढ़ें-
    UP Board Exam 2022 : 1 करोड़ 10 लाख स्टूडेंट्स का एग्जाम, यहां देखिए क्लास वाइज परीक्षार्थियों की संख्या
    UP School Holiday List 2022: यूपी में सरकारी छुट्टियों का कैंलेंडर जारी, जानें 2022 में कब बंद रहेंगे स्कूल

    बयान के अनुसार, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में दस साल से कम उम्र के बच्चों में मूलभूत शिक्षा की समग्र स्थिति की समझ स्थापित करते हुए ‘आधारभूत साक्षरता और गणना पर सूचकांक’ इस दिशा में पहला कदम है. सूचकांक में 41 संकेतकों वाले पांच स्तंभ शामिल हैं. पांच स्तंभ हैं शैक्षिक बुनियादी ढांचा, शिक्षा तक पहुंच, बुनियादी स्वास्थ्य, सीखने के परिणाम और शासन. बयान में कहा गया है कि पांच स्तंभों में से यह देखा गया है कि राज्यों ने शासन में विशेष रूप से खराब प्रदर्शन किया है. बयान के मुताबिक, राज्यों में 50 प्रतिशत से अधिक ने राष्ट्रीय औसत यानी 28.05 से नीचे अंक हासिल किए हैं.

    मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दी शुभकामना
    देश में ‘आधारभूत साक्षरता एवं गणना सूचकांक’ में ‘बड़े राज्यों’ की श्रेणी में पश्चिम बंगाल के शीर्ष स्थान हासिल करने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को शिक्षकों, अभिभावकों और शिक्षा विभाग के अधिकारियों को शुभकामनाएं दीं. उन्होंने लिखा, ”पश्चिम बंगाल के लिये बड़ी खबर. हमने आधारभूत साक्षरता एवं गणना सूचकांक में पहला स्थान हासिल किया है. मैं सभी शिक्षकों, अभिभावकों और हमारे शिक्षा विभाग के सदस्यों को इस शानदार उपलब्धि के लिये बधाई देती हूं.”

    Tags: Education news, School education, West bengal news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर