महाराष्ट्र में कोरोना काल में परीक्षा: राज्यपाल ने परीक्षा कराने के लिए की मंत्री को लेकर कही ये बात

कोरोना वायरस के बीच गैर-कृषि विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराई गईं.
कोरोना वायरस के बीच गैर-कृषि विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराई गईं.

अगर लोग निडर और सावधान रहें तो कोविड​-19 जैसे खतरों का सामना किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2020, 9:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कोरोना वायरस महामारी के बीच स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय में अंतिम वर्ष की परीक्षा का आयोजन कराने के लिए मंगलवार को राज्य के मंत्री अमित देशमुख की तारीफ की.

गैर-कृषि विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं
कोशियारी ने महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय, नासिक (एमयूएचएस) के नए मुख्य प्रशासनिक भवन का उद्घाटन करते हुए यह टिप्पणी की. कोरोना वायरस के बीच गैर-कृषि विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को लेकर मई और जून में कोश्यारी व उद्धव ठाकरे नीत राज्य सरकार के बीच मतभेद उभर कर सामने आए थे.

राज्य सरकार अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद्द करने के पक्ष में
राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति राज्यपाल ने छात्रों के हित में परीक्षाएं आयोजित कराने पर जोर दिया था. हालांकिराज्य सरकार अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद्द करने के पक्ष में  थी.



साहस, बुद्धिमत्ता और दूरदर्शिता दिखाई 
कोश्यारी ने कहा, कोई नेता, नेता बनने के लायक है या नहीं, इसका पता युद्ध के दौरान, कठिन समय के दौरान लगता है. उन्होंने कहा, हमारे युवा मंत्री अमित देशमुख ने जो साहस, बुद्धिमत्ता और दूरदर्शिता दिखाई है. मेरे पास वास्तव में उनके लिए (देशमुख) शब्द नहीं हैं.



ये भी पढ़ें-
DU Admission 2020:चौथी कटऑफ से दाखिला लेने का आज आखिरी दिन,एडमिशन 62000 के पार
BSSC Results: भर्ती परीक्षा का रिजल्ट, देखें सफल अभ्यर्थियों की पूरी लिस्ट

निडर और सावधान रहें 
एक आधिकारिक बयान के अनुसार, कोश्यारी ने यह भी कहा कि अगर लोग निडर और सावधान रहें तो कोविड​-19 जैसे खतरों का सामना किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज