10th Board Result 2021: आंतरिक मूल्यांकन में मुश्किल, ज्यादातर सरकारी स्कूलों में नहीं हुए रिवीजन टेस्ट

मध्य प्रदेश में स्कूलों के सामने दिक्कत ये है कि ज्यादातर स्कूलों में रिवीजन टेस्ट हुए ही नहीं. (सांकेतिक तस्वीर)

मध्य प्रदेश में स्कूलों के सामने दिक्कत ये है कि ज्यादातर स्कूलों में रिवीजन टेस्ट हुए ही नहीं. (सांकेतिक तस्वीर)

कक्षा 10वीं के छात्र छात्राओं का रिजल्ट अब रिवीजन टेस्ट, छमाही और प्री बोर्ड परीक्षा के प्रदर्शन के आधार पर तैयार किया जाना है. पिछले साल कक्षा दसवीं के स्थगित हुए दो पेपरों में स्टूडेंट्स को जनरल प्रमोशन दिया गया था.

  • Share this:

10th Board Result 2021: आंतरिक मूल्यांकन में मुश्किल, ज्यादातर सरकारी स्कूलों में नहीं हुए रिवीजन टेस्ट- 3603535भोपाल. मध्यप्रदेश में कक्षा दसवीं का रिजल्ट आंतरिक मूल्यांकन से तैयार किए जाने को लेकर तैयारियां की जा रही हैं. माध्यमिक शिक्षा मंडल ने कक्षा 10वीं के छमाही, रिवीजन टेस्ट और प्री बोर्ड एग्जाम से रिजल्ट तैयार करने को लेकर निर्देश दिए हैं. आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर रिजल्ट तैयार करने में स्कूलों को काफी मुश्किल हो रही है. स्कूलों के सामने दिक्कत ये है कि ज्यादातर स्कूलों में रिवीजन टेस्ट हुए ही नहीं ऐसे में छात्रों का रिजल्ट कैसे तैयार किया जाएगा.

सरकारी स्कूलों से संबंधित निजी स्कूलों के बच्चों के टेस्ट ही नहीं हुए हैं. क्योंकि पूरी संख्या में बच्चे स्कूल पहुँचे ही नहीं हैं. एक तरफ विभाग ने आदेश जारी कर कहा था कि बच्चे अभिभावकों से अनुमति लेकर ही स्कूल आएंगे. तीन से चार महीने की डाउट क्लियर करने वाली कक्षाओं में स्टूडेंट्स की 40 फीसद उपस्थिति भी नहीं रही. ऐसे में सभी बच्चों का टेस्ट ही नहीं लिया गया. अब विभाग के मुताबिक रिवीजन टेस्ट और छमाही परीक्षा के प्रदर्शन के आधार पर रिजल्ट तैयार करना किसी चुनौती से कम नही है.

प्राचार्यों का कहना है कि बोर्ड ने अपने आदेश में कहा है कि आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर भी परीक्षार्थियों को अंक मिलेंगे. सरकारी स्कूलों में आंतरिक मूल्यांकन हुआ ही नहीं है. मुश्किल यह है कि बिना आंतरिक मूल्यांकन के कैसे छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के अंक दिए जाएंगे.

शिक्षकों का कहना है कि इस तरह मूल्यांकन से कोई भी विद्यार्थी फेल नहीं होगा. मेरिट में आने वाले विद्यार्थियों का नुकसान होगा. इस बार आंतरिक मूल्यांकन से रिजल्ट तैयार होने पर मेरिट घोषित नहीं की जाएगी. आंतरिक मूल्यांकन पद्धति से सभी स्कूल के विद्यार्थी पास हो जाएंगे.
मध्यप्रदेश में कक्षा 10वीं की परीक्षा 30 मई से होना थी. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते कक्षा 10वीं की परीक्षा को जून महीने तक के लिए स्थगित कर दिया गया था. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की घोषणा के बाद स्टूडेंट्स को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट करने का फैसला लिया गया है. कक्षा 10वीं के छात्र छात्राओं का रिजल्ट अब रिवीजन टेस्ट, छमाही और प्री बोर्ड परीक्षा के प्रदर्शन के आधार पर तैयार किया जाना है. पिछले साल कक्षा दसवीं के स्थगित हुए दो पेपरों में स्टूडेंट्स को जनरल प्रमोशन दिया गया था.

ये भी पढ़ें-

Sarkari Naukri 2021: 8वीं, 10वीं और 12वीं पास के लिए भारतीय सेना ने निकाली भर्तियां



Sarkari naukri Result : ग्रामीण डाक सेवक भर्ती का रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज