• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • MP EDUCATION NEWS MADHYA PRADESH RANKS 23RD IN GETTING ADMISSION IN COLLEGES

MP Education News: कॉलेजों में दाखिला दिलाने में मध्य प्रदेश 23वें पायदान पर, पढ़ें रिपोर्ट

MP Education News: मध्य प्रदेश में उच्च शिक्षा में दाखिले को लेकर कम हो रही छात्रों की रुचि.

MP Education News: कॉलेजों में दाखिला दिलाने में एमपी निर्धारित लक्ष्य से काफी दूर है. नीति आयोग की रिपोर्ट के अनुसार मध्य प्रदेश 23वें स्थान पर है.  

  • Share this:
भोपाल.  मध्य प्रदेश में उच्च शिक्षा में दाखिले को लेकर छात्रों की रुचि लगातार कम हो रही है. हायर एजुकेशन के लिए स्टूडेंट्स के रजिस्ट्रेशन में लगातार गिरावट दर्ज हो रही है. नीति आयोग की रिपोर्ट के अनुसार कॉलेजों में प्रवेश दिलाने में मध्य प्रदेश देश 23वें पायदान पर है. राष्ट्रीय औसत से मध्य प्रदेश देश में 4.5 फीसदी पीछे चल रहा है. स्टूडेंट्स के रजिस्ट्रेशन में मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ से सिर्फ 3 फीसदी ही आगे हैं.

दाखिले को लेकर नीति आयोग ने जारी की रिपोर्ट
छात्रों के दाखिले को लेकर नीति आयोग ने रिपोर्ट जारी की है. सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल की रिपोर्ट में स्टूडेंट्स के मध्य प्रदेश में कम रजिस्ट्रेशन की बात सामने आई है. प्रदेश में 18 से 23 साल के सिर्फ 21.5 फ़ीसदी छात्र ही कॉलेजों में दाखिला ले रहे हैं. स्टूडेंट्स के रजिस्ट्रेशन के मामले में मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ से सिर्फ तीन फीसदी ही आगे है.

प्रवेश के आंकड़े 50 फीसदी लाने का था लक्ष्य
नीति आयोग ने कॉलेजों में प्रवेश के आंकड़ों को लेकर सभी राज्यों को लक्ष्य दिया था. ०50 फीसद तक हायर एजुकेशन में पंजीयन कराने का लक्ष्य दिया गया था.सभी राज्यों में से केवल एक ही राज्य इस लक्ष्य को पूरा कर पाया है. अन्य कोई भी राज्य इस आंकड़े के करीब तक नहीं पहुंच सका है. वहीं देश भर में सिक्किम में 18 से 23 आयु वर्ग में 53 फीसदी स्टूडेंट्स का कॉलेजों में रजिस्ट्रेशन हुआ है.

यह भी पढ़ें -
12th Board Exam 2021: शिक्षा मंत्री की तबीयत बिगड़ने के बाद क्या 12वीं एग्जाम को लेकर टलेगा फैसला?
WBPCB Recruitment 2021:  वेस्ट बंगाल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड में निकली नौकरियां, जानें डिटेल

राष्ट्रीय औसत से मध्य प्रदेश 4.5 प्रतिशत पीछे
जारी की गई रिपोर्ट में हायर एजुकेशन में रजिस्ट्रेशन के मामले में मध्य प्रदेश देश में पीछे चल रहा है. आंकड़ों के अनुसार जहां देश का औसत 26 फीसदी है.वहीं मध्य प्रदेश का औसत 21.5  फीसदी है. मसलन मध्य प्रदेश देश रजिस्ट्रेशन में 4.5 फीसदी पीछे चल रहा है.