• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • MP School Reopen: 18 महीने बाद खुले 1 से 5 तक के स्कूल, पढ़ने पहुंचे 50 की जगह सिर्फ 5 फीसदी बच्चे

MP School Reopen: 18 महीने बाद खुले 1 से 5 तक के स्कूल, पढ़ने पहुंचे 50 की जगह सिर्फ 5 फीसदी बच्चे

आदेश में कहा गया है कि आवासीय स्कूलों में शिक्षा विभाग द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया का पालन किया जाएगा ताकि कोविड-19 के फैलाव को रोका जा सके. (सांकेतिक फोटो)

आदेश में कहा गया है कि आवासीय स्कूलों में शिक्षा विभाग द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया का पालन किया जाएगा ताकि कोविड-19 के फैलाव को रोका जा सके. (सांकेतिक फोटो)

MP School Reopen: कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलों में 50 फीसदी क्षमता के साथ बच्चों को बुलाया गया था. पहले दिन 50 फीसदी में से मात्र 5 से 10 फीसदी बच्चे ही क्लास रूम में पहुंचे. पहली से पांचवी तक की कक्षाओं में बमुश्किल 10 से 12 स्टूडेंट ही पढ़ाई करते नजर आए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

भोपाल. MP School Reopen: मध्यप्रदेश में करीब 18 महीने के बाद कक्षा 1 से 5 तक की प्राइमरी स्कूलों को खोल दिया गया है. हालांकि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर का अलर्ट स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति पर साफ दिखाई दिया. स्कूलों में जहां 50 फीसदी बच्चों को आने को कहा गया था वहां सिर्फ 5 से 10 फीसदी बच्चे की कक्षाओं में नजर आए. कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की चेतावनी और वायरल फीवर के बढ़ते मरीजों के बीच माता-पिता के मन में डर दिखाई दिया. माना जा रहा है कि डर के चलते ही प्राइमरी के बच्चे कम संख्या में स्कूलों में पहुंच रहे हैं.

बता दें कि कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलों में 50 फीसदी क्षमता के साथ बच्चों को बुलाया गया था. पहले दिन 50 फीसदी में से मात्र 5 से 10 फीसदी बच्चे ही क्लास रूम में पहुंचे. पहली से पांचवी तक की कक्षाओं में बमुश्किल 10 से 12 स्टूडेंट ही पढ़ाई करते नजर आए. लिहाजा पहले दिन स्कूलों में छात्र-छात्राओं की संख्या बेहद कम रही.

कल से संख्या बढ़ने की उम्मीद
शासकीय सरोजनी नायडू कन्या प्रायमरी स्कूल की एचएम नीना श्रीवास्तव का कहना है कि 50 फीसदी क्षमता के साथ स्कूल में बच्चों को बुलाया गया है. आज पहले दिन बच्चों की संख्या काफी कम रही है. इसके पीछे सर्दी खांसी और बुखार बच्चों में फैलने का डर भी हो सकता है. उम्मीद है कि कल से कक्षाओं में बड़ी संख्या में बच्चे पहुंचेंगे. हालांकि जिन बच्चों को आज पहले दिन पहुंचने के लिए मैसेज किया गया था उनमें से भी कुछ बच्चों की तबीयत खराब होने के चलते कक्षा में बच्चों की उपस्थिति बेहद कम रही है.

ये भी पढ़ें-
UP Lekhpal Recruitment 2021: जानिए कब से शुरू होगी यूपी लेखपाल भर्ती की आवेदन प्रक्रिया, देखें लेटेस्ट अपडेट
UP Lekhpal Recruitment 2021: लेखपाल बनने के लिए UPSSSC PET में कितना स्कोर लाना होगा, जानें

ऑनलाइन पढ़ाई भी है जारी
खास बात यह है कि स्कूल खुलने के बाद भी ऑनलाइन पढ़ाई को जारी रखा गया है. जो बच्चे स्कूल नहीं आना चाहते हैं उनके लिए ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन पहले की तरह ही किया जा रहा है. स्कूल खोलने से पहले शिक्षक स्कूल ना पहुंचने वाले छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन कक्षाएं ले रहे हैं. पढ़ाई की सारी सामग्री व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से छात्र-छात्राओं को उपलब्ध कराई जा रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज