Home /News /education /

National Achievement Survey: मध्य प्रदेश के निजी और सरकारी स्कूलों में आज हो रहा है सर्वे

National Achievement Survey: मध्य प्रदेश के निजी और सरकारी स्कूलों में आज हो रहा है सर्वे

National Achievement Survey: नेशनल अचीवमेंट सर्वे में मध्यप्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग ने परफॉर्मेंस सुधारने को लेकर काफी प्रयास किए है.

National Achievement Survey: नेशनल अचीवमेंट सर्वे में मध्यप्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग ने परफॉर्मेंस सुधारने को लेकर काफी प्रयास किए है.

National Achievement Survey in MP: सर्वे एनसीईआरटी के तय मापदंड और मॉड्यूल के हिसाब से लिया जा रहा है. सर्वे के तहत सीबीएसई के ऑब्जर्वर चयनित स्कूलों में छात्र छात्राओं के टेस्ट पर नजर रखे हुए थे. ऑब्जर्वर और फील्ड ऑफिसर ने बच्चों के रेंडम सैंपल लिए. एग्जाम में एक क्लास में 30 बच्चों को शामिल किया गया. हालांकि टेस्ट के लिए करीब 40 से 50 बच्चों की तैयारी कराई गई थी. जिसमें से 30 बच्चों को ही एग्जाम में शामिल किया गया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. National Achievement Survey: छात्र छात्राओं की दक्षता और शिक्षा के स्तर को मापने आज नेशनल अचीवमेंट सर्वे हो रहा है. प्रदेशभर के सरकारी व निजी स्कूलों को नेशनल अचीवमेंट सर्वे के लिए चुना गया है. नेशनल अचीवमेंट सर्वे के जरिए सरकारी निजी स्कूलों में क्वालिटी एजुकेशन की हकीकत को रखा जाएगा. कक्षा तीसरी, पांचवी आठवीं और दसवीं के छात्र छात्राओं को इस सर्वे में शामिल किया गया है.

सीबीएसई करा रहा देशभर में सर्वे
क्वालिटी एजुकेशन को परखने देशभर में सीबीएसई सर्वे करा रहा है. केंद्र की टीमें इस पूरे सर्वे पर नजर रखी हुई है. टीम के साथ ही मध्य प्रदेश में लोक शिक्षण संभाग और जिले स्तर पर पर्यवेक्षक भी बनाए गए हैं,जोकि स्कूलों में टेस्ट की निगरानी कर रहे हैं. टेस्ट के बाद सारी रिपोर्ट दिल्ली भेजी जाएगी. इसके बाद हर राज्य की ग्रेडिंग लिस्ट भी जल्द जारी की जाएगी.

एनसीईआरटी के तय मापदंड और मॉड्यूल से हो रहा सर्वे
देशभर में होने जा रही नेशनल अचीवमेंट सर्वे के तहत मध्यप्रदेश में भी छात्र छात्राओं का आज टेस्ट लिया जा रहा है. राजधानी भोपाल की 77 से ज्यादा निजी और 150 सरकारी स्कूलों सहित 243 स्कूलों में छात्र-छात्राओं की क्वालिटी एजुकेशन का आज परीक्षण किया जा रहा है. सर्वे एनसीईआरटी के तय मापदंड और मॉड्यूल के हिसाब से लिया जा रहा है. सर्वे के तहत सीबीएसई के ऑब्जर्वर चयनित स्कूलों में छात्र छात्राओं के टेस्ट पर नजर रखे हुए थे. ऑब्जर्वर और फील्ड ऑफिसर ने बच्चों के रेंडम सैंपल लिए. एग्जाम में एक क्लास में 30 बच्चों को शामिल किया गया. हालांकि टेस्ट के लिए करीब 40 से 50 बच्चों की तैयारी कराई गई थी. जिसमें से 30 बच्चों को ही एग्जाम में शामिल किया गया.

सर्वे में ग्रेडिंग सुधारने स्कूल शिक्षा विभाग ने की थी माइक्रो प्लानिंग
नेशनल अचीवमेंट सर्वे में मध्यप्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग ने परफॉर्मेंस सुधारने को लेकर काफी प्रयास किए है. बीते साल के मुकाबले इस बार सर्वे में मध्य प्रदेश के शिक्षा के स्तर और इंडेक्स को सुधारने स्कूल शिक्षा विभाग ने माइक्रो लेवल पर प्लानिंग की थी. पुराने सालों के पेपर भी छात्र छात्राओं से सॉल्व कराए गए थे. साल 2017 में नेशनल अचीवमेंट सर्वे की स्थिति में मध्यप्रदेश 17वें पायदान पर रहा था. 2017 में मध्य प्रदेश का औसत परफॉर्मेंस 50 फीसदी रहा था. पांचवी,आठवीं की कक्षा के बच्चों के गणित और विज्ञान में असेसमेंट 50 फ़ीसदी तक नहीं पहुंच सके थे. 2017 के सर्वे में भोपाल में पांचवी में 55 फ़ीसदी और आठवीं में 43फीसदी ही स्कोर हो सका था. जिले में गणित और विज्ञान विषय में पांचवी कक्षा में 55 और आठवीं कक्षा में 43 फीसदी स्कोर हुआ था.

ये भी पढ़ें-
Police Bharti 2021: 10वीं पास के लिए पुलिस में निकली हैं नौकरियां, इस तारीख से पहले करें आवेदन
Sarkari Naukri: वैक्सीन स्टोर कीपर सहित विभिन्न पदों पर निकली हैं नौकरियां, जानें क्या मांगी गई है योग्यता

Tags: Cbse, Delhi School, Education news, Government School, Private School

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर