NEET Counseling 2020: इससे कम स्कोर वालों को नहीं मिलेगा एमबीबीएस में दाखिला

NEET का रिजल्ट आने के बाद अब अभ्यर्थियों को काउंसलिंग का इंतजार है.
NEET का रिजल्ट आने के बाद अब अभ्यर्थियों को काउंसलिंग का इंतजार है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 11:51 AM IST
  • Share this:
NEET का रिजल्ट आने के बाद अब काउंसलिंग की डेट भी आ गई है. अब 27 अक्टूबर से काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. काउंसलिंग के दौरान ही उन्हें कॉलेज और कोर्सेज का आवंटन होगा, लेकिन यह जानना जरूरी है कि कितने प्रतिशत परर्सेंटाइल स्कोर पर उन्हें एमबीबीएस या बीडीएस के पाठयक्रमों में दाखिला मिलेगा. एमबीबीएस या बीडीएस पाठयक्रमों में क्वालिफाई करने के लिए उम्मीदवारों को NEET में न्यूनतम 50 फीसदी परर्सेंटाइल स्कोर होना जरूरी है. एसटी, एससी के अभ्यर्थियों को क्वालिफाई करने के लिए 40 प्रतिशत परर्सेंटाइल स्कोर होना चाहिए. इसी तरह पीडब्ल्यूडी अभ्यर्थियों के लिए यह स्कोर 45 प्रतिशत होना चाहिए. इससे कम परर्सेंटाइल स्कोर वालों को इन कोर्सेज का आवंटन नहीं हो पाएगा.

ये भी पढ़ें-

NEET Counseling 2020: इंतजार खत्म, इस तारीख से होगी काउंसलिंग



JEE Main 2021 : जेईई मेन्स की परीक्षा को लेकर बड़ी खबर, अगले साल से होगा ये बदलाव
अब आगे क्या करना होगा

NEET में सफल छात्रों को सबसे पहले mcc.nic.in पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा. इस दौरान उन्हें अपनी व्यक्तिगत जानकारी, शैक्षणिक योग्यता, कॉन्टेक्ट नंबर, ईमेल आईडी और नीट परीक्षा में पाए गए अंकों का विवरण देना होगा. साथ ही रजिस्ट्रेशन शुल्क का भी भुगतान करना होगा. सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को 1000 रुपये तथा एसटी/एससी/ ओबीसी वर्ग के छात्रों को 500 रुपये देने होंगे. इस प्रक्रिया के बाद स्टूडेंट्स अपनी पसंद का कॉलेज व सिलेबस सेलेक्ट कर सकेंगे. इसके बाद ही सीटों का आवंटन होगा. काउंसलिंग के हर चरण में सीट आवंटन सूची, उपलब्ध सीटें आदि का विवरण जारी किया जाएगा. काउंसलिंग के दौरान सीटों व कॉलेज का आवंटन निर्धारित मानकों के अनुसार ही किया जाएगा. सीट और कॉलेज आवंटन के बाद अभ्यर्थियों को निर्धारित तारीख तक कॉलेज में रिपोर्ट करना होगा. नीट का रिजल्ट 16 अक्टूबर को जारी किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज