होम /न्यूज /education /NEET PG Counselling Process: कैसे होती है NEET PG की काउंसलिंग? समझें पूरी प्रोसेस आसान भाषा में

NEET PG Counselling Process: कैसे होती है NEET PG की काउंसलिंग? समझें पूरी प्रोसेस आसान भाषा में

NEET PG Counselling: यह प्रक्रिया नीट एग्जाम को पूरी करने के बाद होती है.

NEET PG Counselling: यह प्रक्रिया नीट एग्जाम को पूरी करने के बाद होती है.

NEET PG Counselling Process: NEET PG की काउंसलिंग में चार चरण होते हैं. जिसमें रजिस्ट्रेशन से लेकर सीट आवंटन तक की पूरी ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

NEET PG की काउंसलिंग चार राउंड में होती है .
काउंसलिंग से संबंधित मेडिकल काउंसलिंग कमेटी mcc.nic.in पर लॉगिन कर पंजीकृत करना होता है .
काउंसलिंग के लिए अनिवार्य डॉक्यूमेंट समय पर जमा करने जरुरी हैं

नई दिल्ली : NEET PG Counselling Process: NEET PG (नीट पीजी) की परीक्षा पास करने के बाद कैंडिडेट को काउंसलिंग पूरी होने और सीट अलॉट होने तक कई प्रक्रियाओं से होकर गुजरना होता है. जो कैंडिडेट मेडिकल में जाने के इच्छुक हैं, उन्हें इस प्रक्रिया की जानकारी होनी जरूरी है. ताकि भविष्य में होने वाली परीक्षा से संबंधित पूरे प्रोसेस को लेकर कैंडिडेट स्पष्ट हो सकें. आइये जानते हैं की कैसे होती है काउंसलिंग.

किस तरह से होती है काउंसलिंग
नीट की काउंसलिंग चार राउंड में होती है. राउंड 1, राउंड 2, मॉपअप राउंड और ऑनलाइन स्ट्रे वेकन्सी राउंड. आवेदन के दौरान मांगे गए डाक्यूमेंट्स को कैंडिडेट को समय पर जमा करने होते हैं. यह प्रोसेस ऑनलाइन ही होता है.

कौन से चाहिए होते हैं डाक्यूमेंट्स
काउंसलिंग के वक्त कैंडिडेट से वे डाक्यूमेंट्स मांगे जाते हैं, जिनकी जरूरत आवेदन की प्रक्रिया के दौरान होती है.

1.क्लास 10 की मार्कशीट
2.जन्म प्रमाण पत्र
3.एमबीबीएस मार्कशीट व डिग्री सर्टिफिकेट
4.NEET PG एडमिट कार्ड
5.NEET PG रिजल्ट लेटर
6. इंटर्नशिप सर्टिफिकेट
7.एमसीआई या एसएमएस के द्वारा जारी स्थायी व अंतिम रजिस्ट्रेशन फॉर्म.
8.आधार कार्ड, पैन कार्ड या वोटर आईडी कार्ड
9.यदि लागू हो तो विकलांगता प्रमाण पत्र
10. यदि लागू हो तो जाति प्रमाण पत्र

काउंसलिंग के स्टेप्स 
सबसे पहले कैंडिडेट का रजिस्ट्रेशन व पेमेंट होता है. रजिस्ट्रेशन, अंतिम तारीख से पहले करना चाहिए.
चॉइस फिलिंग और लॉकिंग भी दी गयी अंतिम तारीख से पहले पूरा करें.
इस प्रक्रिया के पूरी होने के बाद उम्मीदवारों का वेरिफिकेशन किया जाता है.
वेरिफिकेशन के बाद सीट आवंटन की प्रक्रिया पूरी की जाती है.
इस प्रक्रिया के बाद सीट आवंटन रिजल्ट घोषित किया जाता है और कैंडिडेट को रिपोर्टिंग के टाइम पर जॉइनिंग की प्रक्रिया पूरी करनी होती है.

कहां से होता है आवेदन
कैंडिडेट को सबसे पहले NEET पीजी से संबंधित आधिकारिक वेबसाइट, मेडिकल काउंसलिंग कमेटी mcc.nic.in पर लॉगिन कर खुद को पंजीकृत करना होता है.

यह है आवेदन की प्रक्रिया
1. कमेटी द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार परीक्षा पास करने वाले कैंडिडेट आधिकारिक वेबसाइट पर पंजीकरण के लिए एप्लीकेबल होंगे.
2. वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन के लिए दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें.
3. यहां आवेदन फॉर्म को भरकर लिंक ओपन करें.
4. लिंक ओपन करने के बाद कैंडिडेट को अपनी पूरी डिटेल भरनी होती है.
5. इसके बाद कैंडिडेट को आवेदन शुल्क का ऑप्शन दिया होता है, उस पर जाकर दिया गया शुल्क भरना होता है. शुल्क ऑनलाइन, क्रेडिट या फिर डेबिट कार्ड के जरिये आसानी से भरा जा सकता है.
5. शुल्क पूरा होने के बाद आवेदन पत्र के लिए दिए गए सबमिट बटन पर क्लिक करें. इस प्रक्रिया के बाद नीट पीजी के लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाती है.

Tags: Career, Job

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें